Blog पृष्ठ 127




                                               

आमिना बिन्त वहब

वहब इब्न अब्द मुनाफ़ और बर्राह बिन्त अब्दुल उज़्ज़ह की पुत्री आमिना थीं। इनका जन्म शहर मक्काह में हुआ। इनका वंश बनू ज़ुह्रा से जुड कर क़ुरैश क़बीले से होता हुआ हज़रत इब्राहीम पैगंबर के पुत्र हज़रत इसमाईल पैगम्बर से जा मिआ कहा जाता है कि इनका मस्त ...

                                               

खदीजा बिन्त खुवायलद

ख़दीजा या ख़दीजा-बिन्त-खुवायलद या ख़दीजा-अल-कुब्र इस्लामी पैगंबर मुहम्मद की पहली पत्नी थी। इन्हें मुसलमानों ने "विश्वासियों की माँ" माना। वह इस्लाम धर्म स्वीकार करनेवाली पहली महिला थी।

                                               

दुरूद शरीफ़

दुरूद शरीफ़ या सलवात या अस-सलातु अलन-नबी एक विशेष अरबी वाक्यांश हैं, जिसमें इस्लाम के आखिरी पैगम्बर मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम और अहल अल-बैत पर अभिवादन भेजा जाता हैं | पैगम्बर मुहम्मद साहब का उल्लेख करते समय, मुस्लिम लोगों द्वारा दुरूद शरीफ़ ...

                                               

अयतोल्लाह

अयातोल्लाह शिया मुस्लिम उसूल और ज्ञान में बहुत उच्च और आदरणीय पदों के लिए इस्तेमाल होता है। इसका शाब्दिक अर्थ है भगवान का प्रतीक - अयात अल-अल्लाह । वर्तमान में ईरानी गणतंत्र के प्रमुख को भी अयातोल्ला नाम से बुलाते हैं जो 1979 की इस्लामी क्रांति क ...

                                               

इमाम अली रिज़ा

ज़िल् अल-क़ियादाह के 148 वें, 148 एएच 29 दिसंबर, 765 सीई पर, इमाम मुसा अल कादिम शिया इस्लाम का सातवा इमाम के घर मदीना में एक बेटा पैदा हुआ था। उसे अली नाम दिया गया था और अली अल-रिज़ा कुन्नियत दिया गया था, जिसका शाब्दिक अर्थ अरबी में है, "संतुष्ट" ...

                                               

इस्माइली

इस्माइली शिया इस्लाम का एक पंथ है जो अनुयायियों के हिसाब से दूसरा सबसे बड़ा शिया उप-संप्रदाय है। अन्य मुसलमानों की तरह ये भी मुहम्मद साहब को ईश्वर का दूत यानि पैग़म्बर मानते हैं और अन्य शिया मुस्लमानों की तरह ये भी मुहम्मद साहब के दामाद अली इब्न ...

                                               

कर्बला का युद्ध

कर्बला का युद्ध या करबाला की लड़ाई, वर्तमान इराक में करबाला शहर में इस्लामिक कैलेंडर 10 मुहर्रम 61 हिजरी में हुई थी। यह लड़ाई पैगम्बर के नवासे हजरत इमाम हुसैन इब्न अली के समर्थकों और रिश्तेदारों के एक छोटे समूह के और उमय्यद अत्यचारी शासक याजीद प् ...

                                               

ग़ुलात

ग़ुलात​ इस्लाम की शिया शाखा में उन अल्पसंख्यक मुस्लिम लोगों को कहा जाता है जो इस्लाम की कुछ ऐतिहासिक हस्तियों में दिव्य गुण देखते हैं या फिर किसी ऐसी चीज़ में विश्वास रखते हैं जो शिया मान्यता की मुख्यधारा से अलग हो। अरबी भाषा में ग़ुलात का मतलब च ...

                                               

द्रूस

द्रूस एकेश्वरवादी समुदाय है जो सीरिया, लेबनान, इजराइल और जॉर्डन में पाया जाता है। द्रूस लोगों की मान्यताओं में अब्राहमिक धर्मों, ग्नोस्टिसिज्म, नवप्लेटोवाद, पाइथागोरसवाद तथा अन्य दर्शनों के बहुत से तत्त्व शामिल हैं। ये लोग अपने को अह्ल अल-तौहीद क ...

                                               

द्वादशी शिया

द्वादशी शिया या बारहवे शिया या इमामी शिया शिया इस्लाम की सबसे बड़ी शाखा है। यह मानते हैं कि इनके पहले बारह इमाम दिव्य रूप से चुने हुए थे। इनकी मान्यता है कि बारहवे इमाम जो ८७३-८७४ ईसवी में ग़ायब हो गए थे, भविष्य में लौट कर आएँगे। इन आने वाले बारह ...

                                               

नोहा

नोहा, जब शिया विचारों के प्रकाश में व्याख्या की जाती है, कर्बला की लड़ाई में हुसैन इब्न अली की त्रासदी के बारे में एक विलाप है। उर्दू और फारसी में क़सीदे का वह नज़मी रूप जिस में शहीदों का ख़ास तौपर कर्बला के शहीदों का ज़िक्र करते हुवे लिखा जाता ह ...

                                               

सय्यद अली अख्तर रिजवी

सैयद अली अख्तर रिजवी का १० फ़रवरी, २००२ को निधन हो गया। उनके अंतिम संस्कार में कई विद्वानों और प्रचारकों ने भाग लिया और गोपालपुर, जिला सिवान, बिहार, भारत में लोगों की भारी भीड़ के द्वारा किया गया।

                                               

हज़ारा लोग

हज़ारा मध्य अफ़्ग़ानिस्तान में बसने वाला और दरी फ़ारसी की हज़ारगी उपभाषा बोलने वाला एक समुदाय है। यह लगभग सारे शिया इस्लाम के अनुयायी होते हैं और अफ़्ग़ानिस्तान का तीसरा सबसे बड़ा समुदाय हैं। अफ़्ग़ानिस्तान में इनकी जनसँख्या को लेकर विवाद है और य ...

                                               

हुसैन इब्न अली

इमाम हुसैन अली रदियल्लाहु के दूसरे बेटे थे और इस कारण से पैग़म्बर मुहम्मद के नाती। आपका जन्म मक्का में हुआ। उनकी माता का नाम फ़ातिमा ज़हरा था। इमाम हुसैन को इस्लाम में एक शहीद का दर्ज़ा प्राप्त है। शिया मान्यता के अनुसार वे यज़ीद प्रथम के कुकर्मी ...

                                               

अशारी

अशरवाद या अशारी धर्मशास्त्र अरबी: الأشعرية al -Aasyīyaya या الأشاعرة अल-अशरिया) सुन्नी इस्लाम का सबसे प्रमुख धार्मिक विद्यालय है, जो इस्लामिक रूढ़ीवाद के दिशा निर्देशों पर आधारित होकर बनाया गया है। अबू अल-हसन अल-अशारी ई 936 / हिजरी 324 द्वारा स्थ ...

                                               

मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान

मोहम्मद बिन ज़ायेद बिन सुल्तान अल-नाह्यान, अबू धाबी के युवराज हैं तथा यूएई के सैन्य बलों के डेप्युटी सुप्रीम कमांडर हैं।

                                               

आस्ताना

आस्ताना: हिंदी शब्द "आस्थान" के बराबर अर्थ रखने वाला शब्द है। औलिया अल्लाह की क़ब्र, दर, दरवाज़ा, दहलीज़, दरबार, मक़ाम, ठिकाना, रौज़ा इत्यादी। बुजर्गों की मज़ार, मक़बरे को भी आस्ताना कहते हैं। इस आस्ताने में धार्मिक पाठ, सत्संग, इबादतों के तरीके, ...

                                               

क़ादरिया

क़ादरिया क़ादरी, कादरी, एलाकद्री, एलाकड्री, अलाद्रे, अलकद्री, अद्रे, कदरी, कादिरी, क़ादिरी, क़ादरी, क़ादरी या क़ादरी भी अनूदित कादरी तरीक़ा ए सूफ़िया हैं। सूफ़ियों का एक संप्रदाय है। इसका नाम अब्दुल क़ादिर जीलानी 1077–1166 के नाम पर रखा गया है जो ...

                                               

चार दरवाज़े

चार दरवाज़े तसव्वुफ़ में अवधारणा है, और इस्लाम की अन्य शाखाओं जैसे इस्माइली और एलवी में कुछ हद तक, अल्लाह के चार मार्ग हैं, शरिया से शुरू होते हैं, फिर तरीक़त, फिर हक़ीक़त तक, फिर मारिफ़त तक।

                                               

चिश्ती तरीक़ा

चिश्तिया सूफ़ीवाद का एक संप्रदाय है। यह सन 930 के आस-पास अफगानिस्तान के एक गाँव चिश्त में शुरू हुआ। यह संप्रदाय प्यार, सहनशीलता और खुलेपन पर अपने बल के कारण प्रसिद्ध है।

                                               

तज़किया

तज़किया एक अरबी-इस्लामिक शब्द है, जो "टाजकिग़ाह आल-नफ्स" का अर्थ है "स्वयं की शुद्धि"। यह पवित्र आत्मा की पवित्रता के स्तर और अल्लाह की इच्छा को प्रस्तुत करने के लिए विभिन्न आध्यात्मिक चरणों के माध्यम से अहं-केंद्रीयता के अपने विस्मयकारी स्थिति स ...

                                               

पीर (सूफ़ीवाद)

पीर या पीयर सूफी मास्टर या आध्यात्मिक मार्गदर्शिका का एक शीर्षक है। उन्हें एक हज़रत या शेख भी कहा जाता है, जो ओल्ड मैन के लिए अरबी है। शीर्षक को अक्सर "संत" के रूप में अंग्रेजी में अनुवादित किया जाता है और इसे बुज़र्ग के रूप में व्याख्या किया जा ...

                                               

मज़ार (मक़बरा)

मज़ार एक समाधि या स्मारक है. मज़ार दुनिया के कई स्थानों में नज़र आते है. आम तौपर मज़ार एक संत या उल्लेखनीय धार्मिक व्यक्ती की बनाई जाती है. इस मज़ार के लिए दुसरे शब्द जैसे "मषद, मक़ाम या दारिया इस्तेमाल करते हैं। एक और पर्याय शब्द का ज्यादातर इस् ...

                                               

मुराक़बा

मुराक़बाह या मुराक़बा सूफी शब्दावली में ध्यान को संदर्भित करता है। इसके माध्यम से एक व्यक्ति अपने दिल पर देखता है और अपने निर्माता और अपने स्वयं के परिवेश के साथ दिल के रिश्ते में अंतर्दृष्टि प्राप्त करता है। मुरकबा आमतौपर पाए जाने वाले अरिकास मे ...

                                               

मौलाना संग्रहालय

मौलाना संग्रहालय, कोन्या, तुर्की में स्थित है, जलालुद्दीन मुहम्मद रूमी का मकबरा है, एक फारसी सूफी रहस्यवादी जिसे मेवलाना या मौलना या रूमी के रूप में भी जाना जाता है। यह मेवलेवी आदेश के दरवेश भी थे, जिसे व्हर्लिंग दरवेश के रूप में जाना जाता था। सु ...

                                               

लाल शहबाज़ कलंदर दरगाह

लाल शहबाज़ कलंदर दरगाह एक सूफी दरगाह है जो कि एक 13 वीं सदी के इस्लामी रहस्यवादी लाल शहबाज़ कलंदर को समर्पित है। ये दरगाह पाकिस्तानी प्रांत सिंध के शहर सेहवन शरीफ़ में स्थित है। ये दरगाह पाकिस्तान की सबसे महत्वपूर्ण जगहों में से एक है और यहाँ हर ...

                                               

सूफ़ी तरीके

रज़विया अब्बासिय्या अकबरिय्या अबुल उलाईया हजरत अबुल उला अहरारी नक्शबंदी चिश्ति रह.अलैह आगरा शरीफ अल अमौदिया शेख सईद बिन ईसा अल अमौदी, हद्रामौत यमन आबिद आशूरिय्या अलियल्लाहिय्या अमरिय्या अलंगिरिया अबुलुलई जहाँगीरी ऐदरूसिय्या अलमिय्या आइसावा अलावी ...

                                               

हक्कानी अंजुमन

हक्कानी अंजुमन एक इस्लामी सूफी गैर सरकारी संगठन है और यह इस्लाम धर्म के दूसरे खलीफा हजरत उमर के परिवार से 37 वे वंशज, हज़रत मौलाना सूफी मूफ्ती अज़ानगाछी साहेब द्वारा स्थापित है। यह सुफिवादी संगठन बिना किसी शुल्क के, पूरी मानव जाति की सेवा करने और ...

                                               

मुस्लिम इब्न अल-हज्जाज

अबू अल-हुसैन असाकीर अद-दीन मुस्लिम इब्न अल-हज्जाज इब्न मुस्लिम इब्न वार्ड इब्न कश्दाद अल-कुशायरी एन-नायसबुरी या मुस्लिम निशापुरी, जिसे आम तौपर इमाम मुस्लिम, इस्लामिक विद्वान के नाम से जाना जाता है, जिसे विशेष रूप से मुहद्दीथ के नाम से जाना जाता ह ...

                                               

अल-तिर्मिज़ी

अबू ईसा मुहम्मद इब्न ईसा अस-सुलामी अद-दरीर अल-बूगी अत-तिर्मिज़ी, जिसे अक्सर कहा जाता है इमाम अल-टर्मज़ी / तिर्मिधि, एक फारसी इस्लामी विद्वान और हदीस के कलेक्टर थे जिन्होंने अल-जामी के सहहिह लिखा था, छह कैनोलिक हदीस में से एक सुन्नी इस्लाम में संक ...

                                               

अशरह मुबशरह

अशरह मुबशरह इस्लामी पैगंबर, मुहम्मद ने अपने दस साथी को निर्दिष्ट किया जिन्हें स्वर्ग का वादा किया गया था। इस हदीस में नामित उन साथीों को जन्नत की दस खुशरंग लहरें के रूप में जाना जाता है।

                                               

कुतुब अल-सित्तह

कुतुब अल-सित्ताह छः मूल रूप से पांच किताबें हैं जिनमें हदीस के संग्रह इस्लामिक पैगंबर मुहम्मद के साम्प्रदाय या कार्य शामिल हैं। नौवीं शताब्दी ई में छह सुन्नी मुस्लिम विद्वानों द्वारा संकलित किताबों को क़ुतुब अल-सित्ताह कहते हैं। उन्हें कभी-कभी अल ...

                                               

जामी अत-तिर्मिज़ी

जामी अत-तिर्मिज़ी, जिसे सुनन-तिर्मिज़ी के नाम से भी जाना जाता है, कुतुब अल-सित्ताह । यह अबू इसा मोहम्मद इब्न इसा ए-तिर्मिज़ी द्वारा एकत्र किया गया था। उन्होंने वर्ष 250 हिजरी के बाद इसे संकलित करना शुरू किया और 10 ज़ु-अल-हिजजाह 270 हिजरी पर इसे प ...

                                               

सहीह अल-बुख़ारी

सहीह अल-बुख़ारी, जिसे बुखारी शरीफ़ भी कहा जाता है। सुन्नी इस्लाम के कुतुब अल-सित्ताह में से एक है। इन पैग़म्बर की परंपराओं, या हदीसों को मुस्लिम विद्वान मुहम्मद अल-बुख़ारी ने एकत्र किया। इस हदीस का संग्रह 846/232 हिजरी के आसपास पूरा हो गया था। सु ...

                                               

सहीह मुस्लिम

सहीह मुस्लिम सुन्नी इस्लाम में "कुतुब अल-सित्ताह में से एक है। यह सुन्नी मुसलमानों सुन्नी मुसलमानों के साथ-साथ जैदी शिया मुस्लिमों द्वारा अत्यधिक प्रशंसित है। और सहीह अल-बुख़ारी के बाद दूसरा सबसे प्रामाणिक हदीस संग्रह माना जाता है। यह मुस्लिम इब् ...

                                               

ईसाई आतंकवाद

ईसाई आतंकवाद ईसाई आतंकवादी संगठनों द्वारा फैलाया जाने वाला आतंकवाद है, जिसमें वे ईसाई मंशा या लक्ष्यों की प्राप्ति हेतु हत्या, लूटपाट, धर्मांतरण आदि कार्य करते हैं।

                                               

कु क्लुल्स क्लान

कू क्लक्स क्लान, जिसे अक्सर संक्षिप्त रूप से KKK व अनौपचारिक रूप से द क्लान नाम से जाना जाता है, विभिन्न पूर्व तथा वर्तमान अति दक्षिणपंथी घृणा समूहों का नाम है जिसका घोषित उद्देश्य हिंसा और भय के द्वारा संयुक्त राज्य अमरीका में श्वेत अमरीकियों के ...

                                               

मत्ती

मत्ती नया नियम बाइबिल के पहला पुस्तक है। किंतु यह मध्य के होते हुए भी इस पुस्तक मे ईसा मसीह के मुख्य मुख्य चमत्कार, काम, जन्म से लेकर स्वर्ग सिधारने तक के विवरण तथा वंश के वारेमे लिखे जाने की वजह से यह पहली पुस्तक है। इस पुस्तक मे कूल 28 अध्याय ह ...

                                               

क्रिसमस

क्रिसमस या बड़ा दिन ईसा मसीह या यीशु के जन्म की खुशी में मनाया जाने वाला पर्व है। यह 25 दिसम्बर को पड़ता है और इस दिन लगभग संपूर्ण विश्व मे अवकाश रहता है। क्रिसमस से 12 दिन के उत्सव क्रिसमसटाइड की भी शुरुआत होती है। एन्नो डोमिनी काल प्रणाली के आध ...

                                               

वैलेंटाइन दिवस

वैलेंटाइन दिवस या संत वैलेंटाइन दिवस, एक अवकाश दिवस है, जिसे 14 फ़रवरी को अनेकों लोगों द्वारा दुनिया भर में मनाया जाता है। अंग्रेजी बोलने वाले देशों में, ये एक पारंपरिक दिवस है, जिसमें प्रेमी एक दूसरे के प्रति अपने प्रेम का इजहार वैलेंटाइन कार्ड ...

                                               

सैंट पैट्रिक दिवस

सैंट पैट्रिक दिवस सैंट पैट्रिक की पुण्यतिथि 17 मार्च को मनाया जाने वाला एक सांस्कृतिक और धार्मिक त्योहार है। सैंट पैट्रिक दिवस के दिन आयरलैंड, उत्तरी आयरलैंड, कनाडा के न्यूफ़ौंडलैंड और लेब्राडोर प्रदेश तथा ब्रिटिश टेरीटोरी मोन्त्सेर्राट में सामूह ...

                                               

आर एल फ्रांसिस

आर एल फ्रांसिस, निर्धन ईसाई मुक्ति आन्दोलन के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं। वे भारत की ईसाई मिशनरियों के बीच व्याप्त भेदभाव और कटुता के खिलाफ लगातार अपनी आवाज बुलंद किये हुए हैं

                                               

केरल कैथोलिक युवा आंदोलन

केरल कैथोलिक युवा आंदोलन आइए भारत में केरल के ईसाई समुदाय के एक संगठन के लिए सभी विभिन्न संप्रदायों से कैथोलिक युवा। केरल कैथोलिक युवा आंदोलन के संरक्षक संत सेंट थॉमस मूर है। KCYM के आधिकारिक राज्य और केरल कैथोलिक बिशप्स परिषद के तत्वावधान के तहत ...

                                               

कैंटरबरी कैथेड्रल

कैंटरबरी कैथेड्रल, इंग्लैंड का सबसे पुरातन एवं सबसे मशहूर ईसाई गिर्जाघर है। यह भवन, एक विश्व धरोहर स्थल का हिस्सा है। यह कैंटरबरी के आर्चबिशप का नीज-आसान है, और चर्च ऑफ़ इंग्लैंड तथा विश्वविस्तृत आंग्लिकाइ संप्रदाय का मातृगिर्जा है। कैंटरबरी के आ ...

                                               

नोत्र देम दे पेरिस

नोत्र देम दे पेरिस पेरिस, फ्रांस में एक मध्यकालीन कैथोलिक कैथेड्रल चर्च है। कैथेड्रल को फ्रेंच गोथिक वास्तुकला के बेहतरीन उदाहरणों में से एक माना जाता है। रिब वॉल्ट और फ्लाइंग बट्रेस, इसकी विशाल और रंगीन गुलाब खिड़कियां, और इसकी मूर्तिकला सजावट क ...

                                               

बैप्टिस्ट चर्च

बैप्टिस्ट चर्च उन इसाइयों के मत को कहते हैं जो यह मानते हैं कि "विश्वासी लोगों" का बपतिस्मा होना चाहिये न कि अबोध बच्चों का ।

                                               

मार मूसा

मार मूसा या देइर मार् मूसा अल-हबाशी सीरिया के नाबेक के शहर के पास स्थित सिरियाक कैथोलिक चर्च का एक मठवासी समुदाय है, जो दमिश्क से लगभग 80 किमी उत्तर में स्थित है। मठवासी कम्पाउंड का मुख्य चर्च 11 वीं और 12 वीं शताब्दी में बनाया गया था।

                                               

सेंट एलीयन चर्च

सेंट इलिन चर्चThe Church of Saint Elian ये चर्च सीरिया के हाम्स नगर में स्थित है इस चर्च का निर्माण रोमन शासकों ने 432 ईस्वी में करवाया था।

                                               

साधु सुन्दर सिंह

साधु सुन्दर सिंह का जन्म एक सिख परीवार में पटियाला राज्य में हुआ था। साधु सुन्दर सिंह की मां उन्हे सदॅव साधुओके संगत में रेहने ले जाती थी, जो की वनो औ जंगलो में रेह्ते थे। वे सुन्दर सिंह को लुधियाना के इसाई स्कुल में अन्ग्रेजी सिखने भेजती थी। साध ...

                                               

ब्रह्मबान्धव उपाध्याय

ब्रह्मबान्धव उपाध्याय बंगाली राष्ट्रवादी, धर्मसुधारक, पत्रकार, कैथोलिक सन्यासी। ईसाई एवं हिन्दू सम्वाद के प्रणेता एवं पूर्ण स्वराज का आह्वान करने वाले प्रारम्भिक नेताओं में से एक।