Blog पृष्ठ 135




                                               

अमिताभ बुद्ध

बौद्ध धर्म के महायान संप्रदाय के अनुसार अमिताभ बुद्ध वर्तमान जगत् के अभिभावक तथा अधीश्वर बुद्ध का नाम है। अमिताभ मुख्य बुद्ध हैं जिनकी महायान की जापान और चीन में प्रचलित पवित्र भूमि शाखा में मान्यता प्राप्त है। इन्हें तिब्बत में प्रचलित वज्रयान श ...

                                               

कनकमुनि

कनकमुनि गौतमबुद्ध के पूर्ववर्ती एक बुद्ध जिनकी कथा बुद्धवंश के अध्याय २३ में मिलती है। प्राचीन बौद्ध साहित्य में गौतमबुद्ध के छह पूर्ववर्ती बुद्धों अथवा तथागतों में इनका उल्लेख मिलता है। महावस्तु, कर्मविभंग आदि कुछ ग्रंथों में इनका कोनाकमुनि अथवा ...

                                               

भैषज्यगुरु

बौद्ध धर्म के महायान सम्प्रदाय में भैषज्यगुरु रोगों से मुक्ति देने वाले बुद्ध हैं। भैषज्यगुरु वह वैद्य हैं जो अपने उपदेशों के द्वारा दुखों का नाश करते हैं।

                                               

आर्यदेव

आर्यदेव नागार्जुन के प्रधान शिष्य एवं महायान माध्यमक बौद्ध सम्प्रदाय के अनेक महत्वपूर्ण ग्रन्थों के रचयिता थे। उन्हें काणदेव तथा बोधिसत्त्वदेव भी कहते हैं। आर्यदेव का जन्म श्री लंका में हुआ था। आर्यदेव ने कई महत्वपूर्ण ग्रंथ लिखे जिनमें सर्वप्रधा ...

                                               

मैत्रेय बुद्ध

मैत्रेय, मेत्तेय्य, या मैथरि, बौद्ध मान्यताओं के अनुसार भविष्य के बुद्ध हैं। कतिपय बौद्ध ग्रन्थों, जैसे अमिताभ सूत्और सद्धर्मपुण्डरीक सूत्र में इनका नाम अजित भी वर्णित है। बौद्ध परम्पराओं के अनुसार, मैत्रेय एक बोधिसत्व हैं जो पृथ्वी पर भविष्य में ...

                                               

आम्बेडकर परिवार

आम्बेडकर परिवार भीमराव आम्बेडकर का परिवार हैं, जो मराठी मूल का है। सकपाल मराठी: सकपाळ ये आम्बेडकर परिवार का मूल उपनाम सरनेम था। वर्तमान स्थिती में, आम्बेडकर के वंशज राजनितीक, सामाजिक एवं अन्य क्षेत्र में कार्य कर रहे है। भीमराव आम्बेडकर, जिन्हें ...

                                               

संघरक्षित

संघरक्षित मूल नाम Dennis Philip Edward Lingwood) एक बौद्ध शिक्षक एवं लेखक थे। वे त्रिरत्न बौद्ध कम्युनिटी के संस्थापक थे जो २०१० तक वेस्टर्न बुद्धिस्ट ऑर्डर के नाम से जाना जाता था।

                                               

सीमा मलाका

सीमा मलाका श्रीलंका के कोलंबो में बीरा झील में स्थित एक बौद्ध मंदिर है। 19 वीं शताब्दी के अंत में निर्मित इस मंदिर का उपयोग मुख्य रूप से ध्यान और विश्राम के लिए किया जाता है। सीमा मलाका गंगारामया मंदिर का एक हिस्सा है। मंदिर की वास्तुकला रितिगाला ...

                                               

सोमपुर महाविहार

पाहाड़पुर बौद्धबिहार या सोमपुर बिहार या सोमपुर महाविहार एक प्राचीन बौद्ध बिहार है जो बर्तमान में ध्वंस अवस्था में है। यह बांग्लादेश के नवगाँव जिले के बादलगाछी उपजिले के पहाड़पुर में स्थित है। यह भारतीय उपमहाद्वीप के सबसे प्रसिद्ध बौद्ध बिहारों मे ...

                                               

कम्‍पनी पंजीकरण

भारत मॆ कंपनी अधिनियम की धारा 609 के तहत नियुक्‍त कंपनी रजिस्‍ट्रार जिनके अंतर्गत विभिन्‍न राज्‍य और संघ राज्‍य क्षेत्र आते हैं, का मुख्‍य कार्य संबंधित राज्‍यों और संघ राज्‍य क्षेत्रों में निर्मित कंपनियों को रजिस्‍टर करना है और यह सुनिश्चित करन ...

                                               

कॉपीलेफ्ट

कॉपीलेफ्ट भी एक तरह का कॉपीराइट है। जिसके द्वारा लोग न तो वे स्वयं कोई भी अधिकार रखतेें हैं न ही कोई और व्यक्ति उनके द्वारा बनाये गये कॉपीराइट पर कोई भी अधिकार रख सकता है। यह शब्द कं‍प्यूटर प्रोग्राम के सन्दर्भ में सबसे पहले इस प्रकार से प्रयोग ह ...

                                               

ट्रेड सीक्रेट

जैसा कि इसका नाम कहता है केवल उसी को मालुम होता है जो उसे निकालता या ढ़ूढता है| कोका-कोला का नुस्खा, दुनिया का सबसे अचछा ट्रेड सीक्रेट है| उसे केवल कोका-कोला के मालिक ही जानते हैं| कोका-कोला का मिश्रण गाढ़े रूप में आता है और लोग तो केवल उसमें पान ...

                                               

पेटेंट

बौद्धिक सम्पदा अधिकार मस्तिष्क की उपज हैं और इनमे सबसे महत्वपूर्ण हैं - पेटेंट। पेटेंटी, पेटेंट का उल्लंघन करने वाले तरीके या उत्पाद के निर्माण को न्यायालय द्वारा रूकवा सकता है। बहुत से लोग यह कहते हैं कि पेटेंट तकनीक को आगे बढाता हैं पर बहुत से ...

                                               

पेटेंट और पौधों की किस्में एवं जैविक भिन्नता

प्रकृति में पायी जाने वाली वस्तुओं के गुणों का पेटेंट नहीं कराया जा सकता है पर प्रकृति में प्राप्त वस्तुओं या इसके गुणों का प्रयोग कर यदि कोई नवीन उत्पाद बनाया जाय तो उसको पेटेंट कराया जा सकता है। एक सार्वजनिक प्रक्रिया या उत्पाद, अथवा परंपरागत ज ...

                                               

बौद्धिक सम्पदा अधिकार

बौद्धिक सम्पदा अधिकार मानव-मस्तिष्क की उपज हैं। दुनिया के देश, कई सदियों से अपने-अपने कानून बना कर इन्हे सुरक्षित करते चले आ रहें हैं। सन १९९५ में विश्व व्यापार संगठन बना। Agreement on the Trade related aspect of intellectual property rights या ट ...

                                               

चौखंडी स्तूप

सारनाथ स्थित प्रमुख स्मारक चौखंड स्तूप है, जो सारनाथ से ८०० मीटर दक्षिण-पश्चिम में ऊंची ईंटों से बना है। ये महत्त्वपूर्ण बौद्ध स्तूप है और वाराणसी से १३ कि.मी दूर स्थित है। इसका वर्णन चीनी यात्री ह्वेनसांग ने भी किया था। इस स्तूप का आकार चौकोर है ...

                                               

देउर कोठार

देउर कोठार भारत के मध्य प्रदेश राज्य के रीवा जिले में स्थित पुरात्वात्विक एवं साम्स्कृतिक महत्व का स्थान है। यह अपने बौद्ध स्तूप के कारण प्रसिद्ध है जो १९८२ में प्रकाश में आये थे। ये स्तूप अशोक के शासनकाल में निर्मित हैं। यहां लगभग 2 हजार वर्ष पु ...

                                               

देवनी मोरी

देवनीमोरी या देवनी मोरी, उत्तरी गुजरात में एक बौद्ध पुरातात्विक स्थल है, जो लगभग 2 किलोमीटर भारत के उत्तरी गुजरात के अरावली जिले के शामलाजी शहर से। साइट को विभिन्न रूप से तीसरी शताब्दी या चौथी शताब्दी सीई, या लगभग 400 सीई के लिए दिनांकित किया गया ...

                                               

धामेक स्तूप

धामेक स्तूप एक वृहत स्तूप है और उत्तर प्रदेश में वाराणसी के निकट सारनाथ में स्थित है। यह वाराणसी से १३ कि॰मी॰ दूर है। धामेक स्तूप का निर्माण ५०० ईसवी में मौर्य साम्राज्य के सम्राट अशोक द्वारा २४९ ई.पू. में बनवाये गए एक पूर्व स्तूप के स्थान पर किय ...

                                               

विश्व शांति स्तूप

विश्व शांति स्तूप ; महाराष्ट्र के वर्धा जिले में, गीताई मंदिर के पास, सफेद रंग का एक विशाल स्तूप है। बुद्ध की प्रतिमाएँ चारों दिशाओं में स्तूप पर आरूढ़ हैं। इसमें एक छोटा जापानी बौद्ध मंदिर भी है, जिसके अंदर एक बड़ा पार्क है। स्तूप के पास एक मंदि ...

                                               

अजातशत्रु (मगध का राजा)

अजातशत्रु मगध का एक प्रतापी सम्राट और बिंबिसार का पुत्र जिसने पिता को मारकर राज्य प्राप्त किया। उसने अंग, लिच्छवि, वज्जी, कोसल तथा काशी जनपदों को अपने राज्य में मिलाकर एक विस्तृत साम्राज्य की स्थापना की। अजातशत्रु के समय की सबसे महान घटना बुद्ध क ...

                                               

आचार्य चन्द्रजीत गौतम

जीवन परिचय आचार्य चन्द्रजीत गौतम Acharya Chandrajeet Gautam का जन्म 20 मार्च सन 1956 को आज़मगढ़ जनपद के "गोठांव" नगर/ग्राम में हुआ था। आपके पिता का नाम चरित्र तथा माता का नाम रताऊ था। आपकी माता का देहांत सन 1988 में ही हो गया था। आपकी पत्नी का ना ...

                                               

आनंदराज आंबेडकर

आनंदराज यशवंत आम्बेडकर एक भारतीय राजनेता और अभियंता है। वे रिपब्लिकन सेना राजनीतिक पार्टी के नेता है। ये भारत रत्न डॉ॰ भीमराव आम्बेडकर के पौत्र है तथा प्रकाश आम्बेडकर के छोटे भाई है।

                                               

प्रकाश आम्बेडकर

प्रकाश यशवंत आम्बेडकर, बालासाहब आम्बेडकर नाम से लोकप्रिय, एक भारतीय राजनीतिज्ञ, सामाजिक कार्यकर्ता और वकिल हैं। वे भारिप बहुजन महासंघ के संस्थापक एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं, इसके अलावा उन्होंने 2018 में वंचित बहुजन आघाड़ी स्थापना की है। वे संसद के ...

                                               

इन्द्रभूति

इंद्रभूति नाम कई महान व्यक्तियों से सम्बधित है। एक इंद्रभूति तांत्रिक बौद्ध आचार्य और अनंगवज्र के शिष्य थे। इसकी पुष्टि कार्डियर की तेंजुर की सूची से होती है। दूसरे तिब्बती स्रोतों से इंद्रभूति ७४७ ई. में तिब्बत जानेवाले गुरु पद्मसंभव के पिता थे। ...

                                               

उदित राज

डॉक्टर उदित राज के जीवन और संघर्ष पर बनी डॉक्यूमेंट्री" द क्रूसेडर” जो 26 जुलाई 2018 को डॉ अम्बेडकर अंतरराष्ट्रीय केंद्र में 15 जनपथ में प्रदर्शित की गई। इस समारोह में करीब 1500 लोग उपस्थित रहे जिनमें दिल्ली लोकसभा अध्यक्ष मनोज तिवारी भी मौजूद थे ...

                                               

कनिष्क

कनिष्क प्रथम), या कनिष्क, द्वितीय शताब्दी में कुषाण राजवंश का भारत का एक महान् सम्राट था। वह अपने सैन्य, राजनैतिक एवं आध्यात्मिक उपलब्धियों तथा कौशल हेतु प्रख्यात था। इस सम्राट को भारतीय इतिहास एवं मध्य एशिया के इतिहास में अपनी विजय, धार्मिक प्रव ...

                                               

किरेन रिजिजू

किरेन रिजिजू भारतीय जनता पार्टी के सचिव एवं भारत के गृह राज्य मंत्री हैं। वे सोलहवीं लोक सभा में अरुणाचल पश्चिम से सांसद चुने गए। उन्होंने यहाँ पर भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के वर्तमान सांसद तकाम संजय को 41.738 मतों से हराया। इससे पहले उन्होंने चौ ...

                                               

चंद्रगोमिन्‌

चंद्रगोमिन्‌ प्रसिद्ध बौद्ध वैयाकरण थे। वे चांद्र व्याकरण नामक प्रसिद्ध ग्रन्थ के प्रवर्तक माने जाते र्हे। इनके अन्य प्रसिद्ध नाम थे चंद्और चंद्राचार्य। इनका समय जयादित्य और वामन की काशिका वृत्तिसूत्र, समय 650 ई. के आसपास तथा भर्तृहरि या हरि के व ...

                                               

जी॰ परमेश्वर

परमेश्वर गंगाधरैया, जो कि जी॰ परमेश्वर के नाम से भी जाने जाते हैं, एक भारतीय राजनीतिज्ञ हैं जो कि कर्नाटक के आठवें तथा वर्तमान उपमुख्यमंत्री हैं। वर्तमान में वे कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष भी हैं। वे 2015 से 2017 के मध्य कर्नाटक के ग ...

                                               

डेज़ी शाह

डेज़ी शाह मुम्बई,महाराष्ट्र एक भारतीय अभिनेत्री,कोरियोग्राफ़रा तथा नृतक है। डेज़ी शाह ने अपने कैरियर की शुरुआत एक विशेष अतिथि के रूप में 2010 में बनी एक तमिल-फ़िल्म वन्दे माथरम से की थी। इन्होंने जय हो जिसमें सलमान ख़ान के साथ मुख्य किरदार निभाया ...

                                               

डैनी डेन्जोंगपा

डैनी डेन्जोंगपा एक भारतीय अभिनेता हैं। ये हिन्दी फ़िल्मों में काम करते हैं। ये भारत के चौथे सर्वोच्च सम्मान पद्मश्री से सम्मानित कलाकार हैं।सिक्किम में जन्म डैनी भुटिया जाति के हैं एवं भुटिया इनकी मातृभाषा है। अपने शूरूवाती दिनों में ये नेपाली तथ ...

                                               

दिङ्नाग

दिङ्नाग भारतीय दार्शनिक एवं बौद्ध न्याय के संस्थापकों में से एक। प्रमाणसमुच्चय उनकी प्रसिद्ध रचना है। दिङ्नाग संस्कृत के एक प्रसिद्ध कवि थे। वे रामकथा पर आश्रित कुन्दमाला नामक नाटक के रचयिता माने जाते हैं। कुन्दमाला में प्राप्त आन्तरिक प्रमाणों स ...

                                               

धर्मपद (व्यक्ति)

ओड़ीसा के इतिहास में धर्मपद, बिशु महारणाङ्क नामक एक महान वास्तुशिल्पी के पुत्र थे जिसने एक ही रात्रि में एक मन्दिर का निर्माणकार्य पूर्ण कराया और १२०० शिल्पियों को मृत्युदण्द से बचा लिया। इसके पश्चात उस महान शिल्पकार ने अपने प्राणो का उत्सर्ग कर ...

                                               

नागार्जुन

नागार्जुन हिन्दी और मैथिली के अप्रतिम लेखक और कवि थे। अनेक भाषाओं के ज्ञाता तथा प्रगतिशील विचारधारा के साहित्यकार नागार्जुन ने हिन्दी के अतिरिक्त मैथिली संस्कृत एवं बाङ्ला में मौलिक रचनाएँ भी कीं तथा संस्कृत, मैथिली एवं बाङ्ला से अनुवाद कार्य भी ...

                                               

नामदेव ढसाल

नामदेव लक्ष्मण ढसाल एक मराठी कवि, लेखक और मानवाधिकार कार्यकर्त्ता थे। वो मूल रूप से महाराष्ट्र के थे। उन्होंने दलित पैंथर की स्थापना की थी। उनकी विभिन्न रचनाओं का अनुवाद यूरोपीय भाषाओं में भी किया गया। वो जातीय वर्चस्वाद के ख़िलाफ़ रचनाएं भी करते ...

                                               

गंगाधर पानतावणे

गंगाधर विठोबा पानतावणे भारतीय मराठी भाषी साहित्यकार, खोजकर्ता, आम्बेडकरवादी विचारक थे। वह पहले विश्व मराठी साहित्य संमेलन के अध्यक्ष, वैचारिक साहित्य के एक निर्माता एवं अस्मितादर्श पत्रिका के जनक थे। पानतावणे मराठी दलित साहित्य के अग्रिम पंक्ति क ...

                                               

भूषण रामकृष्ण गवई

न्यायमूर्ति भूषण रामकृष्ण गवई एक भारतीय न्यायाधीश तथा वर्तमान में भारत के उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश हैं। वे 2003 से 2019 के बीच बॉम्बे उच्च न्यायालय के न्यायाधीश भी रहे चूके हैं। 8 मई 2019 को हुई अपनी बैठक में, सुप्रीम कोर्ट के कॉलेजियम ने जस् ...

                                               

मल्लिकार्जुन खड़गे

श्री मल्लिकार्जुन खड़गे को भारत सरकार की पंद्रहवीं लोकसभा के मंत्रीमंडल में श्रम एवं रोज़गार में मंत्री बनाया गया था। मल्लिकार्जुन खड़गे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से संबंधित भारतीय राजनीतिज्ञ हैं। वे २००९ में हुए आमचुनाव में कर्नाटक के गुलबर्गा च ...

                                               

मेयांग चांग

मेयांग चांग भारत के एक प्रसिद्ध टीवी एवं फिल्म कलाकार तथा गायक हैं। वे प्रसिद्ध नृत्य शो झलक दिखला जा के सीज़न ४ के विजेता रह चुके हैं। वे एक दंत चिकित्सक हैं।

                                               

राजकुमारी वजिरा

वजिरा मगध साम्राज्य की साम्राज्ञी तथा अजातशत्रु की पत्नी और उदायिभद्र की माँ थी। वजीरा कोसल नरेश प्रसेनजित की पुत्री और अजातशत्रु की ममेरी बहिन थी जिसके साथ अजातशत्रु ने विवाह किया

                                               

वसुबन्धु

वसुबन्धु बौद्ध नैयायिक थे। वे असंग के कनिष्ठ भ्राता थे। वसुबन्धु पहले हीनयानी वैभाषिकवेत्ता थे, बाद में असंग की प्रेरणा से इन्होंने महायान मत स्वीकार किया था। योगाचार के सिद्धांतों पर इनके अनेक महत्वपूर्ण ग्रंथ प्रसिद्ध हैं। ये उच्चकोटि की प्रतिभ ...

                                               

शान्तरक्षित

शान्तरक्षित ८वीं सदी के भारतीय बौद्ध ब्राह्मण तथा नालन्दा के मठाधीश थे। शान्तिरक्षित ने योगाचार-स्वतान्त्रिक-माध्यमिक दर्शन का प्रवर्तन किया जिससे नागार्जुन के मध्यमक सम्प्रदाय, असंग के योगाचार सम्प्रदाय तथा धर्मकीरि के सिद्धान्तों का एकीकरण किया ...

                                               

सरह

सरह या सरहपा या सिद्ध सरहपा हिन्दी के प्रथम कवि माने जाते हैं। उनको बौद्ध धर्म की वज्रयान और सहजयान शाखा का प्रवर्तक तथा आदि सिद्ध माना जाता है। उनका मूल नाम ‘राहुलभद्र’ था और उनके ‘सरोजवज्र’, ‘शरोरुहवज्र’, ‘पद्म‘ तथा ‘पद्मवज्र’ नाम भी मिलते हैं। ...

                                               

सावित्री बाई फुले

सावित्री बाई फुले उत्तर प्रदेश से भारतीय राजनीतिज्ञा हैं। वो १६वीं लोकसभा में बहराइच लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी की सांसद हैं।इस समय वह भारतिय जनता पार्टी को छोड़ कांग्रेस में सामिल हो चुकी हैं और 2019 का लोकसभा चुनाव बहराइच लो ...

                                               

हर्षवर्धन

हर्षवर्धन प्राचीन भारत में एक राजा था जिसने उत्तरी भारत में अपना एक सुदृढ़ साम्राज्य स्थापित किया था। वह हिंदू सम्राट् था जिसने पंजाब छोड़कर शेष समस्त उत्तरी भारत पर राज्य किया। शशांक की मृत्यु के उपरांत वह बंगाल को भी जीतने में समर्थ हुआ। हर्षवर ...

                                               

तवांग मठ

तवांग मठ भारत के अरुणाचल प्रदेश में स्थित एक बौद्ध मठ है। यह भारत का सबसे बड़ा बौद्ध मठ है और ल्हासा के पोताला महल के बाद विश्व का दूसरा सबसे बड़ा मठ है। यह तवांग नदी की घाटी में तवांग कस्बे के निकट स्थित है। 300 साल पहले बने इस मठ को बौद्ध भिक्ष ...

                                               

लामायुरु गोम्पा

लामायुरु भारत में लेह जिले में स्थित एक तिब्बती बौद्ध मठ है। यह श्रीनगर-लेह राजमार्ग पर फोटु ला से १५ किमी पूरब में ३५१० मीतर की उँचाई पर स्थित है।

                                               

वर्ल्ड फैलोशिप ऑफ बुद्धिस्ट्स

द वर्ल्ड फैलोशिप ऑफ बुद्धिस्ट्स एक अंतरराष्ट्रीय बौद्ध संगठन है। इसे गुनापाला पियासेना माललसेकेरा द्वारा शुरू किया गया, इसकी स्थापना 1950 में कोलंबो, सिलोन में 27 देशों के प्रतिनिधियों द्वारा की गई थी। यद्यपि थेरवादी बौद्ध अनुयायि संगठन में सबसे ...

                                               

समता सैनिक दल

समता सैनिक दल संक्षेप में एसएसडी, 13 मार्च 1927 को बाबासाहेब भीमराव आम्बेडकर द्वारा स्थापित एक सामाजिक संगठन हैं, जिसमें भारतीय समाज के सभी उत्पीड़ित वर्गों के अधिकारों कि सुरक्षा का उद्देश्य हैं। समता सैनिक दल ने भारतीय समाज में सामाजिक सदभाव नि ...