Blog पृष्ठ 144




                                               

औषधीय पादपों की सूची

Medicinal mushrooms TCM Materia Medica Plant List of culinary herbs and spices द्रव्यगुण शास्त्र जड़ी-बूटी चिकित्सा Herbalism Wikispecies Medicinal plants of the American West वैकल्पिक चिकित्सा Alternative medicine List of herbs with known advers ...

                                               

कब्ज

कब्ज पाचन तंत्र की उस स्थिति को कहते हैं जिसमें कोई व्यक्ति का मल बहुत कड़ा हो जाता है तथा मलत्याग में कठिनाई होती है। कब्ज अमाशय की स्वाभाविक परिवर्तन की वह अवस्था है, जिसमें मल निष्कासन की मात्रा कम हो जाती है, मल कड़ा हो जाता है, उसकी आवृति घट ...

                                               

कम्प्यूटर टोमोग्राफी

कम्प्यूटर टोमोग्राफी या सीटी एक प्रकार की चिकित्सीय चित्रांकन तकनीक है जो टोमोग्राफी पर आधारित है। इसे सबसे पहले विकसित करने वाली कम्पनी के नाम पर इसे पूर्व में "ईएमआई" भी कहा जाता था। बाद में इसे "कम्प्यूटर ऐक्सिअल टोमोग्राफी" के नाम से भी जाना ...

                                               

कूटभेषज

कूटभेषज ऐसी चिकित्सा को कहते हैं जिसका कोई वैज्ञानिक आधार न हो। ऐसी चिकित्सा पद्धति या तो प्रभावहीन होती है, या यदि कोई सुधार दिखता भी है तो उसका कारण कोई अन्य चीज ही होती है। कूटभेषज के उपयोग से कभी-कभी लाभ होता दिखता है जिसे कूटभेषज प्रभाव या क ...

                                               

गाँठ या अबुर्द

ये कोशिकाओं का एक समूह है। इसमे अनियंत्रित कोशिकाए आती है। इस अनियंत्रित कोशिकाओं का विभाजन होता है तथा गाठ का निर्माण होता है। किसी विशेष स्थान पर अनियंत्रित कोशिका का विभाजन होना प्रारंभ कर देती है तथा गाठ का निर्माण हो जाता हैं। सामान्य कोशिका ...

                                               

गेहूँ के जवारे

जब गेहूं के बीज को अच्छी उपजाऊ जमीन में बोया जाता है तो कुछ ही दिनों में वह अंकुरित होकर बढ़ने लगता है और उसमें पत्तियां निकलने लगती है। जब यह अंकुर पांच-छह पत्तों का हो जाता है तो अंकुरित बीज का यह भाग ज्वारा कहलाता है। औषधीय विज्ञान में गेहूं क ...

                                               

चिकित्सा पद्धतियां

आधुनिक युग में मुख्य चिकित्सा पद्धति ऐलोपैथिक चिकित्सा को ही माना जाता है। इसके अलावा बहुत सी पद्धतियां प्रचलित हैं, जिन्हें वैकल्पिक की संज्ञा दी गयी है। निम्न सूची इन्हीं वैकल्पिक चिकित्सा पद्धतियों को गिनाती है: चुंबकीय चिकित्सा सुई चिकित्सा म ...

                                               

चिकित्सा विधान

लिखित इतिहास के प्रारंभ से इस बात का प्रमाण मिलता है कि कितने ही देशों में चिकित्साकार्य विधान के अधीन था। चीन में चाउ वंश ९०० ई. पू. के काल में चिकित्सा को मान्यता प्रदान करने के लिये राज्य की ओर से परीक्षाएँ ली जाती थीं और परीक्षोत्तीर्ण व्यक्त ...

                                               

चुंबक चिकित्सा

चुम्बक चिकित्सा एक चिकित्सा पद्धति है। इसकी दो पद्धतियाँ प्रचलित हैं- सार्वदैहिक अर्थात हथेलियों व तलवों पर लगाने से तथा स्थानिक अर्थात्‌ रोगग्रस्त भाग पर लगाने से।

                                               

जलचिकित्सा

जलचिकित्सा अनेक रोगों की चिकित्सा करने की एक निश्चित पद्धति है, जिसमें शीतल तथा उष्ण जल का बाह्याभ्यंतर प्रयोग सर्वश्रेष्ठ औषधि होती है और उपचारार्थ प्रयुक्त अन्य सभी ओषधियाँ प्राय: हानिकर समझी जाती हैं।

                                               

जीवन आधार

उन सभी चिकित्सा तथा तकनीकों को जीवन आधार कहते हैं जिनका उपयोग चिकित्सीय आपातकाल की स्थिति में जान बचाने के लिये किया जाता है, जब एक या अधिक अण्ग काम करना बन्द कर देते हैं।

                                               

टीका (वैक्सीन)

Edward Jenner was the person who developed first vaccine टीका vaccine एक जीवों के शरीर का उपयोग करके बनाया गया द्रब्य है जिसके प्रयोग से शरीर की किसी रोग विशेष से लड़ने की क्षमता बढ़ जाती है।

                                               

टीकाकरण

किसी बीमारी के विरुद्ध प्रतिरोधात्मक क्षमता विकसित करने के लिये जो दवा खिलायी/पिलायी या किसी अन्य रूप में दी जाती है उसे टीका कहते हैं तथा यह क्रिया टीकाकरण कहलाती है। संक्रामक रोगों की रोकथाम के लिये टीकाकरण सर्वाधिक प्रभावी एवं सबसे सस्ती विधि ...

                                               

डब्ल्यू डी आर १३

डब्ल्यू डी आर १३ कोशिकीय व आण्विक जीवविज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों द्वारा खोजा गया एक जीन है। इस जीन के प्रभाव से शरीर में मधुमेह के प्रति प्रतिरोधकता में वृद्धि होती है। इस जीन में इंसुलिन के गुण विद्यमान हैं।

                                               

डॉ॰ राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान

डॉ॰ राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान उत्तर प्रदेश मे एक आयुर्विज्ञान संस्थान/ मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल है। यह लखनऊ, उत्तर प्रदेश में स्थित है। इसकी स्थापना 2006 में हुई थी।

                                               

तंत्रिकाविकृति विज्ञान

तंत्रिकाविकृति विज्ञान तंत्रिका तंत्र के ऊतकों के रोगों का अध्ययन है जिसमें छोटे शल्यक्रिया के द्वार बायोप्सी की जाती है या पूरे मस्तिष्क की आटोप्सी की जाती है। तंत्रिकाविकृति विज्ञान, शरीरविकृति विज्ञान की उपशाखा है।

                                               

दन्तचिकित्सा

दंतचिकित्सा स्वास्थ्यसेवा की वह शाखा है, जिसका संबंध मुख के भीतरी भाग और दाँत आदि की आकृति, कार्यकरण, रक्षा तथा सुधाऔर इन अंगों तथा शरीर के अंत:संबंध से है। इसके अंतर्गत शरीर के रोगों के मुख संबंधी लक्षण, मुख के भीतर के रोग, घाव, विकृतियाँ, त्रुट ...

                                               

नर्स

नर्स या उपचारिका, एक पेशेवर स्वास्थ्य कर्मी है जो, स्वास्थ्य सेवा दल के अन्य सदस्यों के साथ किसी रोगी के उपचाऔर सुरक्षा, लंबे समय से या गंभीर रूप से बीमार व्यक्तियों के स्वास्थ्य सुधार, परिवारों और समुदायों में विभिन्न स्वास्थ्य संबंधी सेवायों की ...

                                               

नाड़ी

चिकित्सा विज्ञान में हृदय की धड़कन के कारण धमनियों में होने वाली हलचल को नाड़ी या नब्ज़ कहते हैं। नाड़ी की धड़कन को शरीर के कई स्थानों पर अनुभव किया जा सकता है। किसी धमनी को उसके पास की हड्डी पर दबाकर नाड़ी की धड़कन को महसूस किया जा सकता है। गर्द ...

                                               

निदान

किसी भी समस्या के बाहरी लक्षणों से आरम्भ करके उसके मूल कारण का ज्ञान करना निदान कहलाता है। निदान की विधि विलोपन पर आधारित है। निदान शब्द का प्रयोग सभी क्षेत्रों में होता है: रोगोपचार, विज्ञान, प्रौद्योगिकी, न्याय, व्यापार, एवं प्रबन्धन आदि में। न ...

                                               

नृजाति चिकित्साविज्ञान

विभिन्न नृजातीय समूहों द्वारा व्यवहृत परम्परागत चिकित्सापद्धतियों का अध्ययन या तुलना नृजाति चिकित्साविज्ञान कहलाता है। कभी-कभी नृजाति चिकित्साविज्ञान का अर्थ परम्परागत चिकित्सा प्रणाली से भी लगाया जाता है।

                                               

नृत्य चिकित्सक सूची

नृत्य चिकित्सकों की सूची में नृत्य चिकित्सा करने वाले महत्वपूर्ण चिकित्सक अकारादि क्रम से शामिल किगए हैं। यह एक मुक्त सूची है जिसका विकास हमेशा संभव है। फ्रैंकोइस नेट्ट्र सिमोना ओरिन्स्का मैरी विग्मेन दारिया हेल्प्रिन ट्रुडि स्कूप मैरिएन चेस अन्न ...

                                               

नृत्य चिकित्सा

नृत्य चिकित्सा या डांस थेरेपी भावनात्मक, संज्ञानात्मक, सामाजिक व्यवहाऔर शारीरिक स्वास्थ्य के लिए गति और नृत्य का उपयोग करने वाली चिकित्सा शैली है। यह शारिरिक गति और मानसिक भावना के संबंध की धारणा पर आधारित है। १९५० में अपनी उत्पत्ति के बाद से इस ...

                                               

पंचगव्य

समर्थकों का दावा है कि गोमूत्र चिकित्सा कुछ प्रकार के कैंसर सहित कई बीमारियों का इलाज करने में सक्षम है, हालांकि इन दावों का कोई वैज्ञानिक समर्थन नहीं है। वास्तव में, पंचगव्य के व्यक्तिगत घटकों, जैसे कि गोमूत्र को अंतर्ग्रहण करने से संबंधित अध्यय ...

                                               

पराश्रव्य

पराश्रव्य शब्द उन ध्वनि तरंगों के लिए उपयोग में लाया जाता है जिसकी आवृत्ति इतनी अधिक होती है कि वह मनुष्य के कानों को सुनाई नहीं देती। साधारणतया मानव श्रवणशक्ति का परास २० से लेकर २०,००० कंपन प्रति सेकंड तक होता है। इसलिए २०,००० से अधिक आवृत्तिवा ...

                                               

प्रभाविकता

किसी काम को संतोषप्रद ढंग से करा लेना प्रभाविकता या फलोत्पादकता कहलाता है। जब इस शब्द का उपयोग भेषजगुणविज्ञान में किया जाता है तब इसका अर्थ इसके दो अर्थ होते हैं: किसी औषधि से अधिकतम कितना रिस्पांस प्राप्त किया जा सकता है, पर्याप्त चिकित्सीय प्रभ ...

                                               

प्राकृतिक चिकित्सा

प्राकृतिक चिकित्सा एक चिकित्सा-दर्शन है। मानव शरीर खुद रोगों से लडऩे में सक्षम होता है बस विधि का ज्ञान होना चाहिए। संसाधनों से समृद्ध प्रकृति से निकटता के जरिए आप सेहतमंद बने रह सकते हैं। तनाव होने पर डॉक्टर भी प्राकृतिक स्थल पर घूमने या बागवानी ...

                                               

प्राकृतिक चिकित्सा का इतिहास

प्राकृतिक चिकित्सा का इतिहास उतना ही पुराना है जितना स्वयं प्रकृति। यह चिकित्सा विज्ञान आज की सभी चिकित्सा प्राणालियों से पुराना है। अथवा यह भी कहा जा सकता है कि यह दूसरी चिकित्सा पद्धतियों कि जननी है। इसका वर्णन पौराणिक ग्रन्थों एवं वेदों में मि ...

                                               

प्राग्ज्ञान

किसी चिकित्सक द्वारा किसी रोगी के रोग की भविष्य की स्थिति के बारे में किये गये प्रागुक्ति को चिकित्साशास्त्र की भाषा में प्राग्ज्ञान या पूर्वानुमान कहते हैं। यह एक प्रकार का चिकित्सीय निर्णय है। रोगों से सम्बन्धित सांखिकीय आंकडों के आधापर प्राग्ज ...

                                               

प्रायापिज़्म

प्रायापिज़्म, एक संभावित रूप से हानिकारक और अति पीड़ाजनक चिकित्सा अवस्था है जिसके अंतर्गत एक स्तंभित शिश्न या भगशेफ, किसी शारीरिक या मनोवैज्ञानिक या फिर दोनो प्रकार के उत्प्रेरण की अनुपस्थिति के बावजूद, स्तंभन के चार घंटे के दौरान वापस अपनी शिथिल ...

                                               

प्लास्टिक सर्जरी

प्लास्टिक सर्जरी का मतलब है - "शरीर के किसी हिस्से को ठीक करना।" प्लास्टिक सर्जरी में प्लास्टिक का उपयोग नहीं होता है। सर्जरी के पहले जुड़ा प्लास्टिक ग्रीक शब्द-"प्लास्टिको" से आया है। ग्रीक में "प्लास्टिको" का अर्थ होता है बनाना या तैयार करना। प ...

                                               

बीटा-ग्लोबिन

बीटा-ग्लोबिन एक प्रोटिन है जो अल्फा प्रोटिन से मिलकर वस्यक हिमोग्लोबिन बनाता है। यह प्रोटिन बनाने वाला जीन बीटा-ग्लोबिन लोकस पर अवस्थित होता है। यह प्रोटिन के म्युटेसन/परिवर्तन के कारण से हंसिया-कोशिका रोग होता है।

                                               

बैचलर ऑफ़ आयुर्वेद मेडिसिन एंड सर्जरी

बैचलर ऑफ आयुर्वेद मेडिसिन एंड सर्जरी) भारत में चिकित्सा की एक डिग्री है। यह १२वीं कक्षा के बाद साढ़े पाँच वर्ष की अवधि में पूरी की जाती है, जिसमें एक वर्ष का इंटर्नशिप भी सम्मिलित है। बीएएमएस का डिग्रीधारी व्यक्ति भारत में कहीं भी प्रैक्टिस कर सक ...

                                               

मानसिक चिकित्सालय

1982 में भारत सरकार द्वारा राष्‍ट्रीय मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य कार्यक्रम एन एम एच पी प्रारम्‍भ किया गया। इस कार्यक्रम का मुख्‍य उद्देश्‍य, देश में मानसिक रोगियों की बढ़ रही संख्‍या के लाभ के लिए, मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल के लिए उपलब्‍ध आधारभूत रूपरे ...

                                               

मेडिकल कॉलेज

मेडिकल कालेज वे शिक्षा-संस्थान हैं जहाँ स्वास्थ्य, चिकित्सा एवं औषधियों के विभिन्न विषयों के अध्ययन-अध्यापन की व्यवस्था रहती है। विद्यार्थी यहाँ स्नातक, स्नातकोत्तर तथा शोध की परीक्षाएँ उत्तीर्ण कर के इन विषयों के व्यवसायिक रूप से अपनाने के लिए प ...

                                               

यूनानी चिकित्सा पद्धति

यूनानी चिकित्सा पद्धति को केवल यूनानी या हिकमत के नाम से भी पुकारा जाता है। इसे यूनानी-तिब या केवल यूनान के नाम से भी जाना जाता है। यूनानी तिब में यूनानी शब्द मूलत: लोनियन का अरबी रूपांतरण है जिसका अर्थ ग्रीक या यूनान है। भारत में सौ से अधिक यूना ...

                                               

रक्तचाप

रक्तचाप रक्तवाहिनियों में बहते रक्त द्वारा वाहिनियों की दीवारों पर द्वारा डाले गये दबाव को कहते हैं। धमनियां वह नलिका है जो पंप करने वाले हृदय से रक्त को शरीर के सभी ऊतकों और इंद्रियों तक ले जाते हैं। हृदय, रक्त को धमनियों में पंप करके धमनियों मे ...

                                               

रसायन

प्राचीन शास्त्रों में रसायनों का अनेक प्रकार से वर्गीकरण किया गया है। ५ प्रभाव के अनुसार -- संशोधन रसायन तथा संशमन रसायन १ द्रव्यभूत तथा अद्रव्यभूत ७ सात्म्य के आधापर -- ऋतु सात्म्य, देश सात्म्य २ कुटि प्रवेशिक, वातवित, द्रोणी-प्रवेशिक ६ सप्त धात ...

                                               

रेकी चिकित्सा

रेकी एक आध्यात्मिक अभ्यास पद्धति है जिसका विकास १९२२ में मिकाओ उसुई ने किया था। यह तनाव और उपचार संबंधी एक जापानी विधि है, जो काफी कुछ योग जैसी है। मान्यता अनुसार रेकी का असली उदगम स्थल भारत है। सहस्रों वर्ष पूर्व भारत में स्पर्श चिकित्सा का ज्ञा ...

                                               

विकिरण विज्ञान

विकिरण चिकित्सा के लिये वह लेख देखें। विकिरण विज्ञान रेडियोलोजी / Radiology चिकित्सा विज्ञान का वह विशेषज्ञता-क्षेत्र है जिसमें एक्स-किरण एवं अन्य विकिरणों से सम्बन्धित छबिकरण तकनीकों इमेजिंग टेक्निक्स एवं उनके चिकित्सकीय निदान एवं उपचार में अनुप ...

                                               

विकृतिविज्ञान

जिन कारणों से शरीर के विभिन्न अंगों की साम्यावस्था, या स्वास्थ्यावस्था, नष्ट होकर उनमें विकृतियाँ उत्पन्न होती हैं, उनको हेतुकीकारक और उनके शास्त्र को हेतुविज्ञान कहते हैं। ये कारण अनेक हैं। इन्हें निम्नलिखित भागों में विभक्त किया गया है: 2. आवश् ...

                                               

विद्युतचिकित्सा और निदान

कुछ रोगों के निदान और चिकित्सा में विद्युत् का उपयोग होता है। यह समझना भूल है कि सभी रोगों के निदान और चिकित्सा विद्युत से हो सकते है। विद्युत दिष्ट या गैलवेनिक विद्युत्‌ धारा, फैराडिक विद्युत धारा, ज्यावक्रीय विद्युतधारा, तथा उच्च आवृत्ति धारा, ...

                                               

विष प्रतिकारक

विष कष्टकारक और घातक होते हैं। इनके प्रभाव के निराकरण के लिए कुछ औषधियाँ और उपचार प्रयुक्त होते हैं। इन्हें विषप्रतिकारक कहते हैं। विष के खाने के अनेक कारण हो सकते हैं। कुछ लोग आत्महत्या के लिए विष खाते हैं। कुछ लोग दूसरे का धनमाल हड़पने के लिए व ...

                                               

वेरा हिंगोरानी

वेरा हिंगोरानी एक भारतीय स्त्री रोग विशेषज्ञ, प्रसूति, चिकित्सा लेखक हैं। वह प्राध्यापक और प्रमुख है ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज में स्त्री रोग और प्रसूति विभाग की।

                                               

वैकल्पिक चिकित्सा

"पूरक चिकित्सा" और "पूरक और वैकल्पिक चिकित्सा" यहां पुनर्निर्देशित होते हैं। पश्चिमी जगत में उन सभी चिकित्सा पद्धतियों को वैकल्पिक चिकित्सा कहते हैं जो परम्परागत चिकित्सा पद्धति के अन्तरगत नहीं रखी जा सकतीं। या" ऐसी पद्धति जिसे एक समान रूप से कभी ...

                                               

शवपरीक्षा

शवपरीक्षा एक विशिष्ट प्रकार की शल्य प्रक्रिया है जिसमें शव की आद्योपान्त परीक्षण किया जाता है ताकि पता चल सके कि मृत्यु किन कारणों से और किस तरीके से हुई है। शवपरीक्षा एक विशिष्ट चिकित्सक द्वारा की जाती है जिसे विकृतिविज्ञानी कहते हैं। मृत्यु के ...

                                               

शारीरिक चिकित्सा

व्यायाम के जरिए मांसपेशियों को सक्रिय बनाकर किए जाने वाले चिकित्सा की विद्या शारीरिक चिकित्सा या फिज़ियोथेरेपी या फिज़िकल थेरेपी कहलाती है। वास्तव में यह शारीरिक क्रिया चिकित्सा है। चूंकि इसमें दवाइयाँ नहीं लेना पडतीं इसलिए इनके दुष्प्रभावों का प ...

                                               

संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान

संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान भारत का एक उत्कृष्ट आयुर्विज्ञान संस्थान है। यह लखनऊ, उत्तर प्रदेश में स्थित है। इसकी स्थापना १९८३ में हुई थी। यह संस्थान रायबरेली मार्ग पर मुख्य शहर से १५ किमी की दूरी पर स्थित है। यह संस्थान तथा इसका ...

                                               

सहचिकित्सा

रोग के निदान और इलाज में अर्द्ध-चिकित्सा विज्ञान या सहचिकित्सा की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। रोग निदान से संबंधित औजार जैसे कि सूक्ष्मदर्शी यंत्र, एक्स-रे, अल्ट्रासाउण्ड, इंडोस्कोप, सीटी स्कैन, एमआर, गामा कैमरा तथा अन्य इन्वेसिव या नॉन-इन्वेसिव प ...

                                               

साक्ष्य आधारित चिकित्सा

साक्ष्य आधारित चिकित्सा), चिकित्सा कार्य की वह पद्धति है जो अच्छी तरह से डिजाइन किये गये और अच्छी तरह से सम्पन्न किये गये अनुसंधानों से प्राप्त साक्ष्यों के आधापर निर्णय लेती है।