Blog पृष्ठ 176




                                               

शराब

मदिरा, सुरा या शराब अल्कोहलीय पेय पदार्थ है। रम, विस्की, चूलईया, महुआ, ब्रांडी, जीन, बीयर, हंड़िया, आदि सभी एक है क्योंकि सबमें अल्कोहल होता है। हाँ, इनमें एलकोहल की मात्रा और नशा लाने कि अपेक्षित क्षमता अलग-अलग जरूर होती है परन्तु सभी को हम शराब ...

                                               

क़हवा

क़हवा एक प्रकार की चाय होती है जो मुख्यतः कश्मीर, अफ़्ग़ानिस्तान, और उत्तरी पाकिस्तान में पी जाती है। यह पेय कश्मीर में ख़ास तौपर "वज़वान" भोजन के बाद लिया जाता है।

                                               

कांजी

कांजी उत्तर भारत का वसंत ऋतु का सर्वाधिक लोकप्रिय पेय है। यह एक किण्वित पेय है जो प्राय: गाजर और चुकन्दर से बनाया जाता है। यह स्वाद में चटपटा होता है और पेट के लिए स्वास्थ्यवर्धक समझा जाता है। यह उत्तर भारत में होली के अवसर पर बनाया जाने वाला एक ...

                                               

कॉफ़ी

कॉफ़ी - एक लोकप्रिय पेय पदार्थ है, जो कॉफ़ी के पेड़ के भुने हुए बीजों से बनाया जाता है। कॉफ़ी में कैफ़ीन होने के कारण वह हल्के उद्दीपक सा प्रभाव डालती है। इसके विषय में वैज्ञानिकों का कोई निश्चिमत नहीं हैं। जहाँ एक ओर कहा जाता है कि कॉफ़ी से शुक् ...

                                               

कोम्बुचा

कोम्बुचा एक किण्वित तथा अल्प अल्कोहलयुक्त, मीठी चाय है। इसे चाय मशरूम, चाय कवक या मंचूरियन मशरूम भी कहते हैं। इसमें थोड़ी-थोड़ी बुदबुदाहट भी होती है। इसका उपयोग एक पेय के रूप में होता है क्योंकि इसे स्वास्थ्य के लिए लाभकारी माना जाता है। इसमें का ...

                                               

चाय

सबसे पहले सन् १८१५ में कुछ अंग्रेज़ यात्रियों का ध्यान असम में उगने वाली चाय की झाड़ियों पर गया जिससे स्थानीय क़बाइली लोग एक पेय बनाकर पीते थे। भारत के गवर्नर जनरल लॉर्ड बैंटिक ने १८३४में चाय की परंपरा भारत में शुरू करने और उसका उत्पादन करने की स ...

                                               

नारियल पानी

हरे, कच्चे नारियल के फल के अन्दर स्थित पानी को नारियल पानी कहते हैं। नारियल के विकास की आरम्भिक अवस्था में भ्रूणपोष इसी जल में घुला रहता है। विकसित होते-होते जल सूखता जाता है और भ्रूणपोष, नारियल की आन्तरिक दीवापर जमा होता जाता है। नारियल जल के पो ...

                                               

फ़िल्टर कॉफी

फिल्टर कॉफी कॉफी बनाने की एक विधि है जिसमें भूनी एवं पीसी हुई कॉफी के ऊपर जल डाला जाता है। पानी, कॉफी के तेल एवं गंध को लेकर फिल्टर से नीचे गिरता है। इसी द्रव को पिया जाता है।

                                               

बादाम का दुध

बादाम का दुध बादाम से बना एक मलाईदाऔर थोडे मीठे स्वाद का पेय है जो कोलेस्टेरॉल और लैक्टोज रहित है। इस कारण ये वीगनवादीओं में और लैक्टोज या दूध की एलर्जी होने वाले लोगों मे प्रसिद्ध है। बाजार में मिलनेवाला बादाम का दुध आम तौपर विटामिन से समृद्ध कि ...

                                               

बोरहानी

बोरहानी दही से बना, बांग्लादेश का एक प्रकार का पारंपरिक लोकप्रिय पेय है। बोरहानी खट्टे दही, पुदीना और धनिया मिलकर बना जाता हैं। कुछ लोग सोचते हैं कि यह एक तरह के लस्सी है। यह बांग्लादेश के ढाका और चटगांव क्षेत्र में सबसे अधिक खाए जाता हैं, जहा पर ...

                                               

ब्लैक टी

ब्लैक टी यानि काली चाय, एक प्रकार की चाय होती है। यह अधिक ऊलॉन्ग व वाइट टी से अपेक्षाकृत ऑक्सीकृत होती है। इसकी चार प्रजातियां होती हैं और सभी कैमेलिया साइनेन्सिस से प्राप्त होती हैं।

                                               

मिरिंडा

मिरिंडा एक शीतल पेय का उत्पाद है जो पहली बार स्पेन में 1959 में बनाया गया था। "मिरिंडा" शब्द का एस्पेरांतो भाषा में अर्थ "प्रशंसनीय" या "सराहनीय" होता है। यह नारंगी, नींबू, अंगूर, सेब, स्ट्रॉबेरी, रास्पबेरी, अनानास, अनार, केला, हिबिस्कुस, गोराना, ...

                                               

लस्सी

लस्सी एक पारंपरिक दक्षिण एशियाई पेय है जो खासतौपर उत्तर एवं पश्चिम भारत तथा पाकिस्तान में काफी लोकप्रिय है। इसे दही को मथ कर एवं पानी मिलाकर बनाया जाता है तथा इसमें ऐच्छिक रूप से तरह के मसाले एवं चीनी या नमक डालकर तैयार किया जाता है। लस्सी एवं छा ...

                                               

शिकंजी

फ़िर पानी डालकर अच्छी मिश्रण को अची तरह घोल लिया जाता है। स्वादानुसार काला नमक या मसाले मिलाये जाते हैं। वैकल्पिक सबसे पहले नींबू का रस निकालकर उसमें शक्कर मिलाई जाती है। ग्लास में बर्फ के साथ इसे ठंडा-ठंडा परोसा जाता है।

                                               

हरी चाय

हरी चाय एक प्रकार की चाय होती है, जो कैमेलिया साइनेन्सिस नामक पौधे की पत्तियों से बनायी जाती है। इसके बनाने की प्रक्रिया में ऑक्सीकरण न्यूनतम होता है। इसका उद्गम चीन में हुआ था और आगे चलकर एशिया में जापान से मध्य-पूर्व की कई संस्कृतियों से संबंधि ...

                                               

पेस्ट्री

पेस्ट्री आटा, पानी और आहार वसा से बनी खाने की कोई मीठी या नमकीन चीज़ होती है। मीठी पेस्ट्रियों में अक्सर चीनी, दूध और अण्डे भी डलते हैं। पेस्ट्रियाँ और डबलरोटी में एक महत्वपूर्ण अंतर यह है कि पेस्ट्रियों में वसा की मात्रा अधिक होती है, जिस कारणवश ...

                                               

तेलुगु भोजन

तेलुगु भोजन भारत के आंध्र प्रदेश राज्य के लोगों द्वारा खाये जाने वाले विभिन्न खाद्य-पदार्थों को संदर्भित करता है। चावल तेलुगू भोजन का मुख्य आहार है और सामान्यतः इसे अनेक प्रकार की कढ़ियों और मसूर की दाल या शोरबे के साथ खाया जाता है। हालांकि यह भो ...

                                               

अइरसा

अइरसा एक लोकप्रिय छत्तीसगढ़ी व्यंजन है। इस मीठे व्यंजन को बनाने की विधि अत्यंत सरल है। पहले चावल को रातभर भींगा कर रखा जाता है, फिर पानी को निकालकर पीस लिया जाता है, अब इसमें गुड़ अच्छी तरह से मिला कर इसे बड़े के आकार का बना तेल में तल लिया जाता ...

                                               

आमकटना

आमकटना भारतीय खाना बनाने में इस्तेमाल होनेवाला उपकरण है। इसे अचार के लिए कच्चे आम काटने के लिए प्रयोग करते हैं। इसमें एक लकड़ी का भारी तला होता है। इस के ऊपर एक मजबूत ब्लेड, हत्थे सहित लगा होता है। इसके बीच में आम को रखकर काटा जाता है।

                                               

आमटी

आमटी एक प्रकार का महाराष्ट्रीय व्यंजन है। इसे पुरन पोली के साथ खाया जाता है। गुड़ीपडवा पर्व पर इसे विषेष रूप से बनाया जाता है। आमटी की मुख्य सामग्री चने की दाल होती है। अन्य दाल से विपरीत इसमें चने की दाल को उबालने के बाद पीस कर छौंका जाता है।

                                               

उत्तर प्रदेश का खाना

अवध क्षेत्र की अपनी एक अलग खास नवाबी खानपान शैली है। इसमें विभिन्न तरह की बिरयानीयां, कबाब, कोरमा, नाहरी कुल्चे, शीरमाल, ज़र्दा, रुमाली रोटी और वर्की परांठा और रोटियां आदि हैं, जिनमें काकोरी कबाब, गलावटी कबाब, पतीली कबाब, बोटी कबाब, घुटवां कबाब औ ...

                                               

उत्तर भारतीय खाना

शाकाहारी: लड्यार चमन वेथ चमन दम आलू नादेर यखियान नादेर पालक हाक चोएक वांगन मुजी चेतें राजमा गोआग्ज़ी राजमा दाल चूंथ वांगून मांसाहारी रोगन जोश कालीया कबर्गा यखीं माछ गाद मेथी गोली कोफ़्ता गुश्तावा इंदरा सिद्दू कुल्लू ट्राउट चिकन अनारदाना गुच्छी मट ...

                                               

अन्य भारतीय खाना

भारतीय खानपान अलग राज्यों और क्षेत्रों में भिन्न-भिन्न है। फिर भी बहुत से व्यंजन हैं जो किसी क्षेत्र विशेष के न होकर भारत के काफ़ी भाग में प्रयोग किये जाते हैं।

                                               

गिलास

यदी आप इसी नाम के फल पर जानकारी ढूंढ रहे हैं जो चेरी और आलूबालू के नामों से भी जाना जाता है तो कृप्या आलूबालू का लेख देखें गिलास भारतीय खाना खाने में इस्तेमाल होनेवाला बर्तन है। यह लंबा या छोटा बेलनाकार होता है। लगभग ४ इंच से ८ इंच तक का हो सकता ...

                                               

चकला

चकला भारतीय खाना बनाने में इस्तेमाल होनेवाला बर्तन है। प्रायः यह लकड़ी का बना होता है। किंतु यह संगमर्मर या अन्य पत्थरों का या स्टील इत्यादि का भी हो सकता है। इस पर रखकर रोटी को बेलन से बेलते हैं।

                                               

चमचा

चमचा भारतीय खाना बनाने में इस्तेमाल होनेवाला बर्तन है। इसमें एक लंबी छड़ के अंत में एक कटोरी नुमा भाग होता है, जो कि तरल खाद्य को प्रयोग में लाने हेतु होता है। यह धातु, लकड़ी आदि का होता है।

                                               

चिमटा

चिमटा भारतीय खाना बनाने में इस्तेमाल होनेवाला बर्तन है। यह धातु का बना होता है। इसे आंच पर चढ़े गर्म बर्तन उतारने या चढ़ाने में प्रयोग किया जाता है। इसके अलावा इसे रोटी को आंच पर फुलाने हेतु भी प्रयोग किया जाता है।

                                               

चूरमा

चूरमा जिसे चूरमा के लडडू भी कहा जाता है, राजस्थान की सर्वाधिक लोकप्रिय मिठाई है। सामान्यतः इसे दाल बाटी के साथ परोसा जाताहै। चूरमा राजस्थान के हर त्यौहार्, शादी ब्याह, या सामूहिक भोज में परोसा जाता है। सामान्यतः इसे मोटे आटे से बनी, बिना नमक की ब ...

                                               

चूल्हा

चूल्हा उष्मा का वह स्रोत है जिससे प्राप्त उष्मा का प्रयोग भोजन पकाने में किया जाता है। चूल्हे कई प्रकार के होते हैं जैसे, मिट्टी का चूल्हा, अंगीठी या सिगड़ी, गैस का चूल्हा और सूक्ष्मतरंग चूल्हा, सौर चूल्हा आदि और इनमे प्रयोग होने वाले ऊर्जा के स् ...

                                               

छत्तीसगढ़ का खाना

मालपुवा - चावल को कूट कर उसमे गुड को मिला कर बनाया जाता है। यहां के सतनामी जाति के लोगों में इसका विशेष महत्व है मानव सभ्यता जितनी पुरानी है लगभग उतना ही पुराना है- स्वाद का संसार। सभ्यता के विकास के साथ स्वाद की दुनिया बदलती चली गई। सहज सुलभ कले ...

                                               

झुणका भाकर

झुणका भाकर एक शाकाहारी पारंपरिक महाराष्ट्र का पकवान है साथ ही गोवा और उत्तरी कर्नाटक में भी बनाया जाता है। इसे पिथला या पिथले के नाम से भी जाना जाता है। इसके अवयव में बेसन का आटा होता हैं, जिसे अर्द्ध ठोस पेस्ट बनाने के लिए पानी के साथ तैयार किया ...

                                               

डोंगा

डोंगा भारतीय खाना बनाने में इस्तेमाल होनेवाला बर्तन है। असल में ये सीधे आंच पर चढ़ाने का बर्तन नहीं है। इसमें तैयारी के लिए व्यंजन की सामग्री को मिलाने इत्यादि का काम, साथ ही रखने का काम किया जाता है। इसमें खाने के व्यंजन परोसने का काम भी होता है ...

                                               

तंदूर

तंदूर भोजन बनाने का एक उपकरण है जिसका प्रयोग केंद्री, दक्षिण और पश्चिमी एशिया के साथ-साथ कॉकस में किया जाता है। इससे मिली-जुली विधियां मध्य-एशिया, अफगानिस्तान और पाकिस्तान में भी प्रचलित हैं. इस विधि का खाना तंदूरी चूल्हे में बनाया जाता है, जो मि ...

                                               

थाली (बर्तन)

थाली भोजन करने के लिए एक बर्तन है जिसमें ज्यादातर भारत में ही प्रयोग की जाती है। साथ ही थाली का प्रयोग विशिष्ट खाने बनाने के लिए भी किया जाता है। यह भारत, नेपाल, बांग्लादेश, फिजी, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, श्रीलंका, मॉरीशस और सिंगापुर में भोजन करने ...

                                               

दक्षिण भारतीय खाना

चिरोटी मसाला दोसा रोटी भरवां कोलोकेशिया साग धारवाड़ पेड़ा गोकाक सारु मज्जिगे हुली केम्पन्ना सज्जिगे बजील सांभर येन्ने पैडी करी सोप्पू पाल्या उस्ली झोल्का पंडी करी कोली करी बेम्ब्ला करी तालिपट्टू मैसूर पाक ओबट्टू कर्दंतु शैविगे पायस कूटु रागी मन्न ...

                                               

दलिया सीरा

दलिया का सीरा बनाने में एक कढाई में घी डालकर उसमें दलिया को भूनना पड़ता है और तब तक भूना जाता है जब तक उसका रंग सुनहरा न हो जाए। फिर उसमें पानी डालकर आंच आने का इंतजार करना पड़ता है। इसके बाद इसमें गुड़ या चीनी डाल दी जाती है। ज्यादा स्वादिष्ट के ...

                                               

दही चावल

दही चावल एक भारतीय व्यंजन है जो भारत के चारों दक्षिणी राज्यों तमिलनाडु, आन्ध्र प्रदेश, केरल और कर्नाटक में विशेष रूप से लोकप्रिय है। इसे दोपहर या रात के खाने में खाया जाता है। कन्नड़: ಮೊಸರು-ಅನ್ನ मलयालम: തൈര് സാദം तेलुगु: పెరుగు అన్నం, तमिल: தயிர் ...

                                               

दाल

भारत में कई प्रकार की दालें प्रयोग की जाती हैं। दालें अनाज में आतीं हैं। इन्हें पैदा करने वाली फसल को दलहन कहा जाता है। दालें हमारे भोजन का सबसे महत्वपूर्ण भाग होती हैं। दुर्भाग्यवश आज आधुनिकता की दौड़ में फास्ट फूड के प्रचलन से हमारे भोजन में दा ...

                                               

दिल्ली हाट

नई दिल्ली में सफदरजंग अस्पताल व आई एन ए कालोनी के पास स्थित एक प्रमुख पर्यटन क्षेत्र, जहां बुनकर एवं काश्तकार लोग, बिचोलियों के बिना सीधे ही ग्राहकों को अपनें हस्तशिल्प बेचते हें। दिल्ली हाट एम्स से थोड़ी ही दूरी पर स्थित है। यहां पर आकर संपूर्ण ...

                                               

पंचकुटा

पंचकुटा राजस्थान में प्रचलित एक प्रमुख खाद्य है। वास्तव में यह राजस्थान में पाई जाने वाली पॉँच वनस्पतियों से बनाई गयी एक सब्जी है। यह वनस्पतियाँ निम्न हैं ३.सांगरी १.कैर २.कुमटिया ५.साबुत लाल मिर्च ४.गोंदा राजस्थान की जलवायु के अनुसार यहाँ रेगिस् ...

                                               

परांठा

परांठा भारतीय रोटी का विशिष्ट रूप है। यह उत्तर भारत में जितना लोकप्रिय है, लगभग उतना ही दक्षिण भारत में भी है, बस मूल फर्क ये हैं, कि जहां उत्तर में आटे का बनता है, वहीं दक्षिण में मैदे का बनता है। प्रतिदिन के उत्तरी भारतीय उपमहाद्वीपीय नाश्ते मे ...

                                               

पलटा

पलटा भारतीय खाना बनाने में इस्तेमाल होनेवाला बर्तन है। इसमें एक लंबी छड़ के अंत में एक तिकोना भाह लगा होता है, जो कि धातु का होता है। उस भाग को कड़ाही में रगड़ रगड़ कर खाद्य को भूना जाता है। उदाहरण के लिए पलटे का प्रयोग रबड़ी और खुरचन आदि बनाने क ...

                                               

पश्चिम भारतीय खाना

अकूरी अम्बकल्या बादाम पाक बेक्ड पॉम्फ्रेट भाकड़ा भूरे दालचीनी वाले चावल चिकन धानसआक चिकन फार्चा फालूदा हलीम खारा पपीता कोल्मिनो पेटियो खोपरा पाक लगानो सास लगनशाला स्ट्यू पारसी फ्राइड मछली पत्रानी माची रवे रावो ज़ाफ़रान पुलाव साली बोटी तबूली ताराप ...

                                               

पूर्व भारतीय खाना

तसमई खुरमी पपची अइरसा देहरौरी फरा चौसेला ठेठरी करी सोहारी बरा चीला

                                               

पौना

पौना भारतीय खाना बनाने में इस्तेमाल होनेवाला बर्तन है। इसमें एक लंबी छड़ के अंत में एक गोल धातु का टुकड़ा लगा होता है, जिसमें छेद होते हैं। यह कोई खाद्य तलने के काम आता है। तली हुई वस्तु को भरे तेल से उतारते समय फालतू तेल उन छेदों में से निकल जात ...

                                               

फरा

फरा धान का कटोरा कहलाने वाले छत्तीसगढ़ प्रांत का चावल से बना एक और व्यंजन है। बनाने की विधि अत्यंत सरल है, केवल चावल के आटे को गूंथ कर हाथों से 3-3.5 इंच के छोटे-छोटे टुकड़े करने है, पहले गोल करें फिर बीच से चपटा कर मछली सा आकार दे दें। अब बस भाप ...

                                               

बंडा आलू

बंडा आलू या बंडा एक कन्द है। इसके पौधे अरवी के समान होते हैं किन्तु इसकी कन्द काफी बड़ी होती है। बंडा उपर से हरी, भूरी या काली होती है किन्तु अन्दर से सफेद होती है। इसे कचालू भी कहते हैं।

                                               

बेलन

बेलन भारतीय खाना बनाने में इस्तेमाल होनेवाला बर्तन है। यह प्राय: लकड़ी का ही होता है। किंतु पत्थर, धातु, प्लास्टिक इत्यादि का भी हो सकता है। इससे चकले पर रखकर रोटी को बेला जाता है।

                                               

भगौना

भगौना भारतीय खाना बनाने में इस्तेमाल होनेवाला बर्तन है। यह प्रायं धातु का होता है। इसके ऊपरी किनारे पर हत्थे हो सकते हैं। यह सब्जी पकाने, दूध उबालने, इत्यादि के काम आता है।

                                               

भारतीय आमलेट

भारतीय आमलेट ऑमलेट का एक प्रकार है जो मुख्यतः भारतीय व्यंजनों में प्रयुक्त होता है। इसमें प्रयुक्त होने वाले अवयव अण्डा, बूटी, टमाटर और मसाले हैं जो अलग-अलग क्षेत्रों में अलग-अलग अनुपात में काम में लिए जाते हैं। आमलेट पर कर्ष चीज डाली जाती है। आम ...