Blog पृष्ठ 177




                                               

नरभक्षण

नरभक्षण एक ऐसा कृत्य या अभ्यास है, जिसमें एक मनुष्य दूसरे मनुष्य का मांस खाया करता है। इसे आदमखोरी भी कहा जाता है। हालांकि "कैनिबलिज्म" नरभक्षण अभिव्यक्ति के मूल में मनुष्य द्वारा दूसरे मनुष्य के खाने का कृत्य है, लेकिन प्राणीशास्त्र में इसका विस ...

                                               

परभक्षी

परभक्षी वह वन्य जीव होता है जो अन्य प्राणियों का शिकार करके उन्हें खाकर अपना तथा अपने परिवार का पेट भरता है। उदाहरण के लिए सिंह, बाघ, तेंदुआ, चीता, भेड़िया इत्यादि। यह पशु मांसाहारी की श्रेणी में भी आते हैं क्योंकि यह केवल मांस खाकर जीवन निर्वाह ...

                                               

मिठाई

मिठाई या मिष्टान्न ऐसी खाद्य सामग्री होती है जिसमें शर्करा व कार्बोहाइड्रेट की मात्रा अन्य खाने की चीज़ों की तुलना में अधिक हो। हलवा, केक, खीऔर पेस्ट्री इसके कुछ उदहारण हैं।

                                               

कुद का पतीसा

कुद, भारत के जम्मू और कश्मीर राज्य में ऊधमपुर जिले में एक छोटा शहर है। यहाँ का पतीसा काफ़ी मशहूर है। इसकी शोहरत जम्मू से ले कर चंडीगढ़ तक फैली हुई है। स्वाद में यह सोहन पापड़ी जैसा ही होता है पर घी अधिक होने के कारण इसमें रोएँ कम होते हैं। अक्सर ...

                                               

दही (योगहर्ट या योगर्ट)

दही एक दुग्ध-उत्पाद है जिसे दूध के जीवाण्विक किण्वन के द्वारा बनाया जाता है। लैक्टोज के किण्वन से लैक्टिक अम्ल बनता है, जो दूध के प्रोटीन पर कार्य करके इसे दही की बनावट और दही की लाक्षणिक खटास देता है। सोय दही, दही का एक गैर-डेयरी विकल्प है जिसे ...

                                               

केक

भोजन के अंत में परोसा जाने वाला मिष्ठान्न, केक सेंककर तैयार किया हुआ भोज्य पदार्थ है। आमतौपर कई किस्मों वाला केक का आटा, चीनी, अंडे, मक्खन या तेल का मिश्रण है जिसे घोलने के लिए तरल और खमीर उठाने वाले पदार्थ की ज़रूरत होती है। स्वाद व महक के लिए अ ...

                                               

खाँग

खाँग या नेस आमतौपर कुछ स्तनधारी जीवों मुंह बाहर निकले हुए असामान्य रूप से लंबे दांत होते हैं। वालरस और जंगली सुअर जैसे प्राणियों में यह बढ़े हुए रदनक दंत और, हाथी और नारव्हाल के मामले में यह बढ़े हुए कृंतक दंत होते हैं। खाँग आम तौपर और घुमावदार ह ...

                                               

पेरू (पक्षी)

भारत में तुर्की की नस्लें 1. बोर्ड ब्रेस्टेड ब्रोंजः इनके पंखों का रंग काला होता है न कि कांस्य। मादाओं की छाती पर काले रंग के पंख होते हैं जिनके सिरों का रंग सफेद होता है जिसके कारण 12 सप्ताह की छोटी आयु में ही उनके लिंग का पता लगाने में सहायता ...

                                               

शिकार

शिकार जानवरों को मारने या फँसाने का अभ्यास है, या ऐसा करने के इरादे से उनका पीछा करना है। जंगली जीवों या घरेलू जानवरों का शिकार आम तौपर मनुष्यों द्वारा भोजन, मनोविनोद, उन शिकारी जानवरों को हटाने के लिए जो मनुष्यों या घरेलू जानवरों के लिए खतरनाक ह ...

                                               

शिकार (खाना)

शिकाहर उस जानवर या पक्षी को कहा जाता है जिसका शिकार खाने या खेल के लिए किया जाता है। उत्तरपश्चिम भारत में शिकार शब्द का प्रयोग अमूमन सुअर के लिए किया जाता है जबकि शेष भारत में इसे किसी भी जीव के लिए उपयोग में लाया जाता है।

                                               

एसिटिक अम्ल

शुक्ताम्ल CH 3 COOH जिसे एथेनोइक अम्ल के नाम से भी जाना जाता है, एक कार्बनिक अम्ल है जिसकी वजह से सिरका में खट्टा स्वाद और तीखी खुशबू आती है। यह इस मामले में एक कमज़ोर अम्ल है कि इसके जलीय विलयन में यह अम्ल केवल आंशिक रूप से विभाजित होता है। शुद् ...

                                               

आहार और आहारविद्या

"आहार जीवन का आधार है। प्रत्येक प्राणी के जीवन के लिए आहार आवश्यक है। अत्यंत सूक्ष्म जीवाणु से लेकर बृहत्काय जंतुओं, मनुष्यों, वृक्षों तथा अन्य वनस्पतियों को आहार ग्रहण करना पड़ता है। वनस्पतियाँ अपना आहार पृथ्वी और वायु से क्रमश: अकार्बनिक लवण और ...

                                               

आहारीय आयोडीन

आहारीय आयोडीन मानव शरीर के अत्यावश्यक भौतिक तत्त्व है। ये अवटु ग्रंथि के सम्यक, कार्यविधि के लिए आवश्यक है जो शक्ति का निर्माण करती है, हानिप्रद कीटाणुओं को मारती है और इसके हार्मोन थांयरांक्सीजन की कमी पूरी करती है। आयोडीमन को शांति प्रदान करती ...

                                               

आहारीय कैल्शियम

कैल्शियम एक भौतिक तत्त्व है। यह जीवित प्राणियों के लिए अत्यावश्यक होता है। भोजन में इसकी समुचित मात्र होनी चाहिए। खाने योग्य कैल्शियम दूध सहित कई खाद्य पदार्थो में मिलती है। खान-पान के साथ-साथ कैल्शियम के कई औद्योगिक इस्तेमाल भी हैं जहां इसका शुद ...

                                               

आहारीय क्रोमियम

आहारीय क्रोमियम उच्च रक्तचाप पर निंयत्रण रखने में सहायता होता है और मधुमेंह को रोकता है। यह मांसपेशिओं को रक्त में शर्करा लेने और चर्बीदार कोलेस्ट्रॉल संशलेषण को नियंत्रित करने में भी सहायता करता है। यह रक्त शर्करा के स्तरों को समतल रखता है, इसकी ...

                                               

आहारीय खनिज

आहारीय खनिज वे खनिज होते हैं, जो आहार के संग शरीर को मिलते हैं एवं पोषण करने में सहाय्क होते हैं। शरीर के लिए पांच महत्त्वपूर्ण तत्त्व कैल्शियम, मैग्नेशियम, फ़ास्फ़ोरस, पोटाशियम और सोडियम अत्यावश्वक होते हैं। इनके अलावा अन्य महत्वपूर्ण किंतु सूक् ...

                                               

आहारीय जस्ता

आहारीय जस्ता शरीर में कई एन्जाइमों के लिये सह-घटक के रूप में कई कार्य करता है। यह ऊतकों के सामान्य कार्य में सहायता करता है और शरीर में प्रोटीन और कार्बोजों को संभालने के लिए आवश्यक है। जस्ते की कमी मघपान, आहार के परिष्कार, कम प्रोटीन के आहार, जु ...

                                               

आहारीय ताम्र

आहारीय ताम्र कई एन्जाइमों में पाया जाता है। विष का प्रभाव कम करने और संक्रामक रोगों में इसका सेवन किया जाता है। तांबा ग्रहण करने से लौह विटामिन-सी तथा आहारीय जस्ता को पचाने में मदद मिलती है। लाल रक्त कणिकाएं ताम्र के बिना नही बन पातीं हैं। शरीर म ...

                                               

आहारीय पोटैशियम

पोटाशियम एक भौतिक तत्त्व है, जो मानव शरीर के लिए अत्यधिक महत्त्वपूर्ण है। यह सदा ही किसी एसिड के साथ पाया जाता है। खनिज की कमी वाली मिट्टी खनिज की कमी वाला आहार उत्पन्न करती है, जिसका सेवन शरीर की कोशिकाओं से पोटाशियम लेने के लियें विवश करता है, ...

                                               

आहारीय फास्फोरस

मानव शरीर में अधिकांश कैल्शियम मात्रा फासफोरस के यौगिकों के रूप में उपस्थित होता है, जैसे कैल्शियम फास्फेट। अतः फास्फोरस का उपयोग कैल्शियम के उपयोग से सम्बद्ध है। सामान्य हडडी और दांत की संरचना के लिए फास्फोरस की आवश्यकता रहती है जो भोजन को ऊर्जा ...

                                               

आहारीय मैग्नीज़

आहारीय मैग्नीज का मानव शरीर के सुरक्षा-तंत्रों से सीधे सम्बद्ध है। यह विधि एंजाइमों को सक्रिय करता है और विटामिन ‘बी’ तथा ‘ई’ के उचित उपयोग में सहायता देता है यह पाचन में मदद करता है। मैग्नीज मधुमेह के लिए भी लाभदायक होता है क्योंकि यह ग्लूकोज सह ...

                                               

आहारीय मैग्नेशियम

मैग्नेशियम का एक भाग मानव-शरीर की प्रत्येक कोशिका में होता है। यह भाग अतिसूक्ष्म हो सकता है, किंतु महत्त्वपूर्ण अवश्य होता है। सम्पूर्ण शरीर में मैग्नेशियम की मात्रा ५० ग्राम से कम होती है। शरीर में कैल्शियम और विटामिन सी का संचालन, स्नायुओं और म ...

                                               

आहारीय लौह

आहारीय लौह की आवश्यकता लाल रक्त कोशिकाओं का हिमोग्लोबिन बनाने के लिए होती है। फ़ेफ़डों से शरीर की कोशिकाओं और ऊतकों तक ऑक्सीजन ले जाने के लियें भी यही सहायक होती है। शरीर का कुछ लौह तत्त्व यकृत में भंडार हो जाता है। विटामिन बी के चयापचय के लिए भी ...

                                               

आहारीय सेलेनियम

आहारीय सेलेनियम यह प्रति-उपचायक के रूप में काम करता है। यह प्रभावशाली प्रति- उपचायक खनिज है। यह शरीर को हानिप्रद मुक्त मूलकों से छुटकारा दिलाने से मदद करता है जो चर्बीचुक्त ऊतकों के ऑक्सीजन के परिणामस्वरुप होते हैं। यह रक्त के थक्के बनने से रोकता ...

                                               

आहारीय सोडियम

आहारीय सोडियम शरीर की कोशिकाओं के अन्दर और बाहर जल के सन्तुलन को बनायें रखने में सहायक होता है। इसकी कमी से मांसपेशियों में ऐठन एडेमा, हो सकता है, किन्तु इसकी अधिकता से हानिकारक परिणाम जैसे उच्च रक्तचाप, गुर्दे की बीमारियां, यकृत का सूत्रणरोग और ...

                                               

कार्बोहाइड्रेट

रासायनिक रुप से कार्बोहाइड्रेट्स पालिहाइड्राक्सी एल्डिहाइड या पालिहाइड्राक्सी कीटोन्स होते हैं तथा स्वयं के जलीय अपघटन के फलस्वरुप पालिहाइड्राक्सी एल्डिहाइड या पालिहाइड्राक्सी कीटोन्स देते हैं।’’ कार्बोहाइड्रेट्स, कार्बनिक पदार्थ हैं जिसमें कार्ब ...

                                               

खाद्य पूरक

मानव शरीर के लिए कई प्रकार के खाद्य पूरक होते हैं। इनमें से मुख्य इस प्रकार से हैं:- अमीनो अम्ल प्रोबायोटिक लैक्टोबैसिलस, बाइफाइडोबैक्टीरियम ऊर्जा बार प्रीबायोटिक शरीरवर्धक पूरक फैटी अम्ल खनिज ऊर्जामय पेय वनस्पतीय पूरक एफरवेसेंट संपूर्ण खाद्य पूर ...

                                               

टमाटर

टमाटर विश्व में सबसे ज्यादा प्रयोग होने वाली सब्जी है। इसका पुराना वानस्पतिक नाम लाइकोपोर्सिकान एस्कुलेंटम मिल है। वर्तमान समय में इसे सोलेनम लाइको पोर्सिकान कहते हैं। बहुत से लोग तो ऐसे हैं जो बिना टमाटर के खाना बनाने की कल्पना भी नहीं कर सकते। ...

                                               

ढाबा

भारत और पाकिस्तान में, ढाबा राजमार्गों पर स्थित लोकप्रिय स्थानीय रेस्तरांओं को कहते हैं। आमतौपर ढाबों पर स्थानीय भोजन परोसा जाता है और यहाँ मुख्यत: ट्रक चालक या सफर कर रहे लोग भोजन करने के लिए रुकते हैं। आजकल ढाबे सबसे अधिक, पेट्रोल पम्पों के बगल ...

                                               

वसा

lipid वसा अर्थात चिकनाई शरीर को क्रियाशील बनाए रखने में सहयोग करती है। वसा शरीर के लिए उपयोगी है, किंतु इसकी अधिकता हानिकारक भी हो सकती है। यह मांस तथा वनस्पति समूह दोनों प्रकार से प्राप्त होती है। इससे शरीर को दैनिक कार्यों के लिए शक्ति प्राप्त ...

                                               

शाकाहार

प्रसाद लिए प्रसाद देखें। आहार लिए भोजन देखें शाकाहारी खाद्य पदार्थों की किस्मों के लिए, शाकाहारी भोजन देखें। प्राणी में वनस्पति आधारित आहार के लिए शाकाहारी देखें। दुग्ध उत्पाद, फल, सब्जी, अनाज, बादाम आदि बीज सहित वनस्पति-आधारित भोजन को शाकाहार कह ...

                                               

अनरसा

अनरसे एक प्रकार का मीठा बिहारी व्यंजन है जो चावल के आटे, तिल और चीनी से बनाया जाता है। यह दीपावली का विशेष व्यंजन है और सामान्यतः उत्तर भारत में अधिक प्रचलित है। अनरसे दो तरह के बनाये जाते हैं। गोल गोल गोलियाँ या चपटी टिकियों के आकार में। गोल अनर ...

                                               

क़ुल्फ़ी

क़ुल्फ़ी एक अवधी व्यंजन है, जो अब पूरे भारत और पाकिस्तान में मिलती है। इसे कभी-कभी पारम्परिक भारतीय आइसक्रीम भी कहा जाता है। पश्चिमी आईस-क्रीम की तुलना में क़ुल्फ़ी ज़्यादा गाढ़ी और मलाईदार होती है, क्योंकि आइसक्रीम को ज़ोर से फैंटकर बनाया जाता ह ...

                                               

खिचड़ी

खिचड़ी एक लोकप्रिय भारतीय व्यंजन है जो दाल तथा चावल को एक साथ उबाल कर तैयार किया जाता है। यह रोगियों के लिये विशेष रूप से उपयोगी है। उत्तरी भारत में मकर संक्रान्ति के पर्व को भी "खिचड़ी" के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन खिचड़ी खाने का विशेष रूप ...

                                               

गाजर का हलवा

गाजर का हलवा एक अवधी व्यंजन है। ये एक गाजर की मिठाई है। यह मिठाई एक विशिष्ट मात्रा में पानी, दूध, कसा हुआ गाजर और चीनी एक बर्तन में रखकर और फिर उसे नियमित रूप से हिलाते हुए पकाया जाता है। यह अक्सर बादाम और पिस्ता के टुकड़ोसे सजाकर परोसा जाता है। ...

                                               

घेवर

घेवर छप्पन भोग के अन्तर्गत प्रसिद्ध व्यंजन हॅ। यह मैदे से बना, मधुमक्खी के छत्ते की तरह दिखाई देने वाला एक ख़स्ता और मीठा पकवान है। सावन माह की बात हो और उसमें घेवर का नाम ना आए तो कुछ अटपटा लगेगा। घेवर, सावन का विशेष मिष्ठान माना जाता है। हालाँक ...

                                               

चाशनी

चाशनी भारतीय मिठाईयो मे प्रयोग होने वाला एक प्रकार का तरल पदार्थ है। यह शक्कर और पानी के मिश्रण से बनाया जाता है। यह रसगुल्ला,जलेबी,इमरती आदि किस्मों कि मिठाई बनाने मे उपयोग होता है।

                                               

चिवड़ा

खास तरह की धान को भिगोकर तथा कुछ-कुछ नम अवस्था में ही रोलिंग मिल में दबाकर चिवड़ा बनाया जाता है जिसे पोहा भी कहते है इसके कई और भी नाम है जैसे आदि चिवड़े या पोहे को भारत में कई जगह सुबह के नाश्ते के तौपर बनाकर खाया जाता है और इसे फ्राई करके कुछ अ ...

                                               

ठेकुआ

ठेकुआ या खमौनी, भारतीय उपमहाद्वीप में बनने वाली एक सूखी मिठाई है। बिहार, झारखंड, पूर्वी उत्तर प्रदेश और नेपाल के तराई क्षेत्र में यह बहुत लोकप्रिय है। छठ पूजा में ठेकुआ को प्रसाद भगवान की पेशकश के रूप में बनाया जाता है। इन स्थानों में सदियों से इ ...

                                               

तहरी

तहरी एक अवधी व्यंजन है। यह चावल,आलू,प्याज,लहसुन,अदरक,हरी मिर्च,मौसमी सब्जियों को हल्दी,धनिया,गर्म मसाले, सहित सरसों के तेल या शुद्ध घी में छौंककर नमक व पानी मिलाकर उबाल/पका कर बनाया जाता है।यह सरलता से तैयार होने वाला लोकप्रिय उत्तर भारतीय व्यंजन है।

                                               

दलिया

दलिया एक अवधी व्यंजन है।यह बहुत ही पौष्टिक व्यंजन है. दलिया बहुत ही पोस्टिक होता है इसे गेहू को दरदरा पीस कर बनाया जाता है दलिये में कई तरह के पोस्टिक तत्व जैसे पोटेशियम, मॅग्नेशियम, प्रोटीन,कार्बोहिड्रेटस, पाए जाते है इसके अलावा इसमें काफी मात्र ...

                                               

पनीर टिक्का

पनीर टिक्का एक पंजाबी व्यंजन है। इस व्यंजन में पनीर के टुकड़ों को मसाले में डुबोकर तन्दूर में पकाया जाता है। यह एक शाकाहारी व्यंजन है और यह व्यंजन काफी लोकप्रिय है भारत तथा कुछ अन्य देश जैसे अमेरिका जहाँ भारतीय मूल के निवासी रहते हैं। पनीर टिक्का ...

                                               

पापड़ी

पापड़ी एक अवधी व्यंजन है। चाट बनाने में मुख्य रूप से आलू, बेसन, दाल, दही, मसालों, टमाटर, प्याज और चटनी आदि का प्रयोग होता है। पापड़ी चाट पापड़ी चाट बनाने की विधि- चाट इतिहास से पापड़ी, उबले आलू,टमाटर,प्याज, मटर, दही और धनिये की चटनी को मिलाकर बना ...

                                               

पीठा

पीठा भारतीय उपमहाद्वीप के पूर्वी क्षेत्रों से चावल केक का एक प्रकार है, जिसमें बांग्लादेश है औरभारत में आम तौपर ओडिशा, असम, पश्चिम बंगाल, झारखंड, बिहाऔर पूर्वोत्तर क्षेत्र के पूर्वी राज्य भी शामिल है। पीठा आम तौपर चावल के आटे से बने होते हैं, हाल ...

                                               

रसगुल्ला

रसगुल्ला बनाने के लिये मुख्य सामग्री छैना है, जिसे हम ताजी छैना कह कर डेयरी से ला सकते हैं या दूध से हम इसे घर पर बना सकते हैं। यदि हमको छैना घर पर बनाना हैं तो सबसे पहले हम रसगुल्ले बनाने के लिये छैना बनायेगे. छैना बनाने के लिये दूध को किसी भारी ...

                                               

समोसा

समोसा एक तला हुआ या बेक किया हुआ भरवां अल्पाहार व्यंजन है। इसमें प्रायः मसालेदार भुने या पके हुए सूखे आलू, या इसके अलावा मटर, प्याज, दाल, कहीम कहीं मांसा भी भरा हो सकता है। इसका आकार प्रायः तिकोना होता है किन्तु आकाऔर नाप भिन्न-भिन्न स्थानों पर ब ...

                                               

कुसुम

कुसुम एक अत्यधिक branched, घास, थीस्ल की तरह वार्षिक संयंत्र है। यह व्यावसायिक रूप से वनस्पति तेल के बीज से निकाले के लिए खेती की जाती है। पौधे 30 से 150 सेमी गोलाकार फूल पीले, नारंगी या लाल फूल होने के प्रमुखों के साथ लंबे हैं। प्रत्येक शाखा आम ...

                                               

रतनजोत

रतनजोत, जिसे रंग-ए-बादशाह भी कहते हैं, बोराजिनासीए जीववैज्ञानिक कुल का एक फूलदार पौधा है। इसके नीले रंग के फूल होते हैं।

                                               

नूडल

नूड्ल्ज़ गेहूं, चावल, बाजरे या अन्य क़िस्म के आटे से बनाकर सुखाये गए पतले, लम्बे रेशे होते हैं जिन्हें उबलते हुए पाने या तेल में डालकर खाने के लिए पकाया जाता है। जब नूड्ल्ज़ सूखे होते हैं तो अक्सर तीली की तरह सख़्त होतें हैं लेकिन उबालने के बाद म ...

                                               

चाट मसाला

चाट मसाला भारतीय और पाकिस्तान खाने में काम में लिया जाने वाला मसाला मिश्रण है। यह सामान्यतः आमचूर, जीरा, काला नमक, धनिया, अदरक, नमक, काली मिर्च, हींग और मिर्च पाउडर के मिश्रण से बनाया जाता है। यह स्वाद में मीट्ठा और खट्टा दोनों तरह का होता है। यह ...