Blog पृष्ठ 237




                                               

उत्तरी सागर मार्ग

उत्तरी सागर मार्ग एक जहाजरानी मार्ग है जो अन्ध महासागर से शुरु होकर रूस के सुदूर पूर्वी क्षेत्र तक जाता है। इस मार्ग में प्रशांत महासागर, रूस का आर्कटिक समुद्री तट जिसमें बेरिंट सागर शामिल है से साइबेरिया से गुजरकर यह रूस के सुदूर पूर्व में समाप् ...

                                               

नूनावूत

नूनावूत कनाडा का सबसे नया, सबसे बड़ा और सबसे उत्तरी राज्यक्षेत्र है। इसे अप्रैल 1, 1999 में नॉर्थवेस्ट टेरीटरीज़ से विभाजित करा गया। इसका क्षेत्रफल 17.50.000 वर्ग किमी है, यानी भारत के कुल क्षेत्रफल के आधे से ज़रा अधिक, लेकिन इसमें केवल 35.944 लो ...

                                               

पैसिफ़िक रिम

पैसिफ़िक रिम प्रशांत महासागर के चारों तरफ का भूमि का घेरा है। प्रशान्त घाटी में प्रशान्त घेरे और प्रशान्त महासागर के द्वीप शामिल हैं। प्रशान्त अग्नि वृत्त की भौगोलिक स्थिति और प्रशान्त घेरा एक दूसरे पर अतिव्याप्त हैं।

                                               

पोलीनेशियाई त्रिकोण

पोलीनेशियाई त्रिकोण, वह क्षेत्र है जो मानचित्पर प्रशांत महासागर के तीन द्वीप समूह: हवाई, ईस्टर द्वीप और न्यूजीलैंड को एक सीधी रेखा से जोड़ने से प्राप्त होता है और अक्सर इसका प्रयोग एक सरल तरीके से पोलीनेशिया को परिभाषित करने मे किया जाता है।

                                               

बोहाई सागर

बोहाई सागर या बोहाई खाड़ी उत्तरी और उत्तरपूर्वी चीन से लगा हुआ एक सागर है जो पीले सागर की सबसे अंदरूनी खाड़ी है। पीले सागर के साथ-साथ बोहाई सागर भी प्रशांत महासागर का एक हिस्सा है। बोहाई सागर का कुल क्षेत्रफल क़रीब ७८,००० वर्ग किमी है। चीन की राज ...

                                               

अतल मैदान

अतल मैदान महासागरों की गहराईयों में सागरतह का विस्तृत मैदानी क्षेत्र होता है, जिसकी गहराई आमतौपर 3.000 मीटर और 6.000 मीटर के बीच होती है। यह महाद्वीपीय चढ़ाव और मध्य-महासागर पर्वतमाला के बीच का क्षेत्र होता है और ऐसे मैदान पृथ्वी के लगभग 50% क्षे ...

                                               

अन्तर्जलीय उच्चभूमि

अन्तर्जलीय उच्चभूमि किसी सागर, महासागर या अन्य बड़े जलसमूह के नीचे स्थित किसी विस्तत भूमि के क्षेत्र को कहते हैं जिसकी गहराई उसके आसपास के समुद्री फ़र्श की तुलना में कम हो। अक्सर यह पानी की ऊपरी सतह से ज़रा ही कम ऊँचा होता है। ऐसी उच्चभूमियाँ अलग ...

                                               

संयुक्त राष्ट्र की समुद्री क़ानून संधि

संयुक्त राष्ट्र की समुद्री क़ानून संधि एक अंतर्राष्ट्रीय समझौता है जो विश्व के सागरों और महासागरों पर देशों के अधिकाऔर ज़िम्मेदारियाँ निर्धारित करता है और समुद्री साधनों के प्रयोगों के लिए नियम स्थापित करता है। यह संधि सन् 1982 में तैयार हो गयी ल ...

                                               

नाकाबन्दी

नाकाबन्दी का अर्थ है किसी भूभाग से आपूर्ति, युद्ध सामग्री या संचार व्यवस्था को काट देने का प्रयास। यह कार्य पूर्णतः बल द्वारा या अंशतः बल द्वारा किया जाता किया जाता है। ध्यान रहे कि नाकाबन्दी तथा इम्बार्गो में बहुत अन्तर है क्योंकि ये व्यापार में ...

                                               

उत्तरी हिंद महासागर के चक्रवाती तूफान

नीचे उत्तरी हिंद महासागर के चक्रवाती तूफान की सूची है। डिप्रेशन और डीप डिप्रेशन इसमें शामिल नहीं किये गए है। १९९९ की उड़ीसा चक्रवाती तूफान, ९१२ मिलिबार की केंद्रीय दबाव के साथ, इसमें सबसे शक्तिशाली है।

                                               

कोच्चि

कोच्चि), जिसे कोचीन भी कहा जाता था, लक्षद्वीप सागर के दक्षिण-पश्चिम तटरेखा पर स्थित एक बड़ा बंदरगाह शहर है, जो भारतीय राज्य केरल के एर्नाकुलम जिले का एक भाग है। कोच्चि को काफ़ी समय से प्रायः एर्नाकुलम भी कहा जाता है, जिसका अर्थ नगर का मुख्यभूमि भ ...

                                               

हिंद महासागर सूनामी चेतावनी प्रणाली तंत्र

संयुक्त राष्ट्र संघ के तत्वाधान में २६ दिसम्बर २००४ के दी जापान के कोबे शहर में आयोजित प्रांभिक घोषणा की गयी कि हिंद महासागर क्षेत्र में सूनामी की पूर्व चेतावनी देने वाले तंत्र का विकास किया जाना चाहिये। २००४ की सूनामी कई देशों में आई जैसे श्रीलं ...

                                               

गाँव

ग्राम या गांव छोटी-छोटी मानव बस्तियों को कहते हैं जिनकी जनसंख्या कुछ सौ से लेकर कुछ हजार के बीच होती है। प्राय: गांवों के लोग कृषि या कोई अन्य परम्परागत काम करते हैं। गांवों में घर प्राय: बहुत पास-पास व अव्यवस्थित होते हैं। परम्परागत रूप से गांवो ...

                                               

भाषा विविधता सूचकांक

भाषा विविधता सूचकांक के कम से कम दो सूचकांक हैं, ग्रीनबर्ग का भाषा विविधता सूचकांक तथा Terralingua.org, का भाषा विविधता सूचकांक। ग्रीनबर्ग का भाषा विविधता सूचकांक यह प्रायिकता बताता है कि यदि कोई दो व्यक्ति यादृच्छया रैण्डमली चुने जांय तो उनकी मा ...

                                               

अत्यधिक चराई

अत्यधिक चराई की स्थित तब पैदा होती हैं जब चरागाह एवं पौधों की गहन चराई के कारण उसे पुनः पनपने का समय नहीं मिल पाता, अंततः वहाँ एक बंजरनुमा क्षेत्र का निर्माण हो जाता हैं। इस स्थिति का प्रमुख कारण खराब पशु प्रबंधन है। यह पालतू या जंगली जानवरों की ...

                                               

कृषि

कृषि खेती और वानिकी के माध्यम से खाद्य और अन्य सामान के उत्पादन से संबंधित है। कृषि एक मुख्य विकास था, जो सभ्यताओं के उदय का कारण बना, इसमें पालतू जानवरों का पालन किया गया और पौधों को उगाया गया, जिससे अतिरिक्त खाद्य का उत्पादन हुआ। इसने अधिक घनी ...

                                               

खनन

पृथ्वी के गर्भ से धातुओं, अयस्कों, औद्योगिक तथा अन्य उपयोगी खनिजों को बाहर निकालना खनिकर्म या खनन हैं। आधुनिक युग में खनिजों तथा धातुओं की खपत इतनी अधिक हो गई है कि प्रति वर्ष उनकी आवश्यकता करोड़ों टन की होती है। इस खपत की पूर्ति के लिए बड़ी-बड़ी ...

                                               

चरना

चरना खाने की एक विधि होती है जिसमें कोई शाकाहारी जीव घास, शैवाल या अन्य वनस्पतियों को खाता है। कृषि में पालतु पशुओं को चराकर रासायनिक दृष्टि से वनस्पतियों को दूध, मांस व अन्य पशु-उत्पादनों में बदला जाता है। घास जैसे कई वनस्पतियों में ऊर्जा घनत्व ...

                                               

संरक्षित क्षेत्र

संरक्षित क्षेत्र या रक्षित क्षेत्र किसी ऐसे क्षेत्र को कहते हैं जिसकी उसके प्राकृतिक, पर्यावरणीय या सांस्कृतिक महत्व के कारण परिवर्तन या हानि से रक्षा की जा रही हो। रक्षित क्षेत्र भिन्न प्रकारों के होते हैं और उन्हें अलग-अलग स्तरों का संरक्षण दिय ...

                                               

आदी लोग

आदी पूर्वोत्तर भारत के अरुणाचल प्रदेश राज्य का सबसे अधिक जनसंख्या वाला एक समुदाय है। इस समुदाय के कुछ लोग तिब्बत के पड़ोसी क्षेत्रों में भी बसते हैं, जहाँ चीन का नियंत्रण है, जिसकी सरकार इन्हें मिश्मी लोगों के साथ सामूहिक रूप से ल्होबा के नाम से ...

                                               

ईरुला

ईरुला, भारत की एक जनजाति हैं। इरुला लोग भारत के कई भागों के निवासी हैं किन्तु तमिलनाडु के तिरुवलुर जनपद में उनकी अच्छी संख्या है। इस क्षेत्र में उनकी जनसंख्या १००० से २००० के बीच आंकी गयी है। इन्हें भारत के कुछ क्षेत्रों में कालबेलिया प्रजाति के ...

                                               

उइग़ुर

उइग़ुर पूर्वी और मध्य एशिया में बसने वाले तुर्की जाति की एक जनजाति है। वर्तमान में उइग़ुर लोग अधिकतर चीनी जनवादी गणराज्य द्वारा नियंत्रित श़िंजियांग उइग़ुर स्वायत्त प्रदेश नाम के राज्य में बसते हैं। इनमें से लगभग ८० प्रतिशत इस क्षेत्र के दक्षिण-प ...

                                               

उराँव

ओराँव या कुड़ुख भारत की एक प्रमुख जनजाति हैं। ये भारत के केन्द्रीय एवं पूर्वी राज्यों में तथा बंगलादेश के निवासी हैं। इनकी भाषा का नाम भी उराँव या कुड़ुख है जो द्रविण भाषा परिवार से संबन्धित है।।

                                               

कुकी जनजाति

कुकी मंगोली नस्ल की एक वनवासी जाति है जो असम और अराकान के बीच लुशाई और काचार जिले में रहती है। इनको चिन, जोमी, मिजो भी कहते हैं। कूकी लोग भारत के उत्तरपूर्वी राज्यों, उत्तरी म्याँआर, बंगलादेश के चित्तग्राम पहाड़ियों पर निवास करते हैं। भारत में अर ...

                                               

कोनयाक लोग

कोनयाक पूर्वोत्तर भारत के नागालैण्ड राज्य के नागा समुदाय का एक प्रमुख उपसमुदाय है। यह सभी नागा शाखाओं में सबसे बड़ा माना जाता है। कोनयाक अपने चहरे पर गोदाई की स्याही से पहचाने जा सकते हैं। ऐतिहासिक रूप से यह नागालैण्ड क्षेत्र के सबसे आक्रमक समुदा ...

                                               

कोली

कोली एक समुदाय है जो मूल रूप से भारत के गुजरात, राजस्थान, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक और जम्मू कश्मीर राज्यों का निवासी रहा है। वर्तमान में कोली जाति को अलग-अलग स्थानों पर अलग-अलग नाम से जाना जाता है। जै ...

                                               

खासी

खासी एक जनजाति है जो भारत के मेघालय, असम तथा बांग्लादेश के कुछ क्षेत्रों में निवास करते हैं। ये खासी तथा जयंतिया की पहाड़ियों में रहनेवाली एक मातृकुलमूलक जनजाति है। इनका रंग काला मिश्रित पीला, नाक चपटी, मुँह चौड़ा तथा सुघड़ होता है। ये लोग हृष्टप ...

                                               

गरासिया

इस जनजाति के लोग मुख्यतः राजस्थान और गुजरात में निवास करते हैं। ये लोग मुख्यतः राजस्थान के पाली, सिरोही और उदयपुर क्षेत्रों से विस्थापित हैं। राजस्थान के भील सदियो पहले स्थलांतरित करके उत्तर गुजरात अरवल्ली -भिलोडा, मेघरज, साबरकाँठा- विजयनगर, बनास ...

                                               

गोंड (जनजाति)

गोंड समुदाय, भारत की एक प्रमुख जातीय समुदाय हैं| भारत के कटि प्रदेश - विंध्यपर्वत,सिवान, सतपुड़ा पठार, छत्तीसगढ़ मैदान में दक्षिण तथा दक्षिण-पश्चिम - में गोदावरी नदी तक फैले हुए पहाड़ों और जंगलों में रहनेवाली आस्ट्रोलायड नस्ल तथा द्रविड़ परिवार क ...

                                               

नागा

नागा भारत की एक प्रमुख जनजाति हैं। इनका निवास क्षेत्र भारत के पूर्वोत्तर क्षेत्र व म्यांमार के पश्चिमोत्तर क्षेत्र में है। भारत में ये नागालैंड राज्य में बहुसंख्यक है। 2012 में यहाँ पर इनकी संख्या 17 लाख दर्ज की गयी। इसके अलावा ये मणिपुर, असम, अर ...

                                               

बैगा (जनजाति)

बैगा, भारत के मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ एवं झारखण्ड प्रदेशों में पायी जाने वाली जनजाति है। मध्य प्रदेश के मंडला डिंडोरी तथा बालाघाट जिलों में बैगा लोग बहुत बड़ी संख्या में रहते हैं। बिझवार, नरोतिया, भरोतिया, नाहर, राय भैना और काढ़ भैना इनकी कुछ उपजा ...

                                               

भील

भील मध्य भारत की एक जनजाति का नाम है। भील जनजाति भारत की सर्वाधिक विस्तृत क्षेत्र में फैली हुई जनजाति है। भील जनजाति के लोग भील भाषा बोलते है । भील दक्षिण एशिया की सबसे बड़ी जनजाति है । । भारत के प्रसिद्ध चार धाम में से एक जगन्नाथ मन्दिर, पुरी,वह ...

                                               

मीणा

मीणा अथवा मीना मुख्यतया भारत के राजस्थान व मध्य प्रदेशराज्यों में निवास करने वाली एक जनजाति है। इन्हे वैदिक युग के मत्स्य गणराज्य के मत्स्य जन-जाति का वंशज कहा जाता है, जो कि छठी शताब्दी ईसापूर्व में पल्लवित हुए। राजस्थान राज्य में सभी मीणाअनुसूच ...

                                               

यूरोपीय लोग

यूरोपीय लोग या यूरोपीय नस्लीय समूह उन लोगो का समूह है जो मूलत: यूरोप के निवासी हैं। मानवशास्त्र जिसमें दुनिया में रह रहे विभिन्न मानवों की नस्लों और उनके उदग्म व प्रवास का अध्धयन किया जाता है के अनुसार दुनिया में पाए जाने वे लोग जो या तो यूरोपीय ...

                                               

राठवा

राठवा जनजाति इस जनजाति के लोगो मूलतः गुजरात में पाए जाते है और कुछ लोग मध्यप्रदेश से भी आये है।। मूलतः गुजरात में पाए जाते है और कुछ लोग मध्यप्रदेश से भी आये है।

                                               

लेपचा (जनजाति)

यह पूर्वी नेपाल, पश्चिमी भूटान, तिब्बत के कुछ क्षेत्र तथा भारत के सिक्किम और पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग जिले के प्रमुख निवासी हैं। एक अनुमान के मुताबिक इनकी संख्या 46 हजार है। अर्थात भारत के अन्य क्षेत्रों में 11 हजार, सिक्किम में 25हजाऔर भूटान म ...

                                               

वाँचो लोग

वाँचो पूर्वोत्तर भारत के अरुणाचल प्रदेश राज्य के लोंगडिंग ज़िले में पटकाई पहाड़ियों में बसने वाला एक समुदाय है। सन् 2011 में इनकी अनुमानित जनसंख्या 35.000 थी। यह सांस्कृतिक दृष्टि से नागा समुदाय से सम्बन्धित हैं और नोक्टे व कोनयाक समुदायों से जात ...

                                               

सांथाल जनजाति

संताड़ी भाषा बोलने वाले मूल वक्ता को ही संताड़ी कहते हैं। किन्तु अन्य जाति द्वारा शब्द संताड़ी को अपने-अपने क्षेत्रीय भाषाओं के उच्चारण स्वरूप "संथाल, संताल, संवतल, संवतर" आदि के नाम से संबोधित किए। जबकि संथाल, संताल, संवतल, संवतर आदि ऐसा कोई शब् ...

                                               

सुमी लोग

सेमा या सुमी या सिमी पूर्वोत्तर भारत के नागालैण्ड राज्य के ज़ुन्हेबोटो ज़िले में जड़ें रखने वाला एक नागा समुदाय है। यह सुमी भाषा की उपभाषाएँ बोलते हैं और आधुनिक काल में पूरे नागालैण्ड राज्य और उस से बाहर भारत के अन्य राज्यों में फैल गये हैं। ऐतिह ...

                                               

किरीटाधीन क्षेत्र

ब्रिटिश किरीटाधीन क्षेत्र विशेष प्रकार के क्षेत्र हैं। इन क्षेत्रों का राष्ट्राध्यक्ष ब्रिटेन का सम्राट या साम्राज्ञी होता/होती है जिसका प्रतिनिधित्व एक उपराज्यपाल द्वारा किया जाता है। प्रत्येक अधीन क्षेत्र की एक संसद, सरकाऔर प्रधानमंत्री होता है ...

                                               

केन्द्र सरकार

केन्द्र सरकार किसी राष्ट्र-राज्य की सरकार होती हैं तथा एकात्मक राज्य की विशेषता हैं। यह संघीय सरकार की तरह ही होती हैं, जिस में अनेक स्तरों पर उसके सदस्य राज्यों द्वारा अधिकृत या दिए हुएँ अलग-अलग अधिकार हो सकते हैं; हालांकि कभी कभी इसे वर्णित करन ...

                                               

द्वीप देश

द्वीप देश ऐसा देश होता है जिसका मुख्य क्षेत्र एक या एक से अधिक द्वीप हों। सन् २०११ में संयुक्त राष्ट्र के उस समय के १९३ सदस्य देशों में से ४६, यानि लगभग एक-चौथाई, द्वीप देश थे।

                                               

नगर-राज्य

नगर-राज्य सम्प्रभुत्ता रखने वाले एक राज्य होता है जिसका भौगोलिक क्षेत्र एक नगर और उसके कुछ समीपी अधीन क्षेत्र होते हैं। आधुनिक काल में सिंगापुऔर वैटिकन नगर इसके उदाहरण हैं। नगर-राज्य आकार में एक शहर के बराबर या उस से ज़रा बड़े होते हैं लेकिन अंतर ...

                                               

राष्ट्रीय उद्यान

राष्ट्रीय उद्यान ऐसा उद्यान या अन्य क्षेत्र होता है जिसे किसी राष्ट्र की प्रशासन प्रणाली द्वारा औपचारिक रूप से संरक्षित करा गया हो। अलग-अलग देश अपने राष्ट्रीय उद्यानों के लिए अलग-अलग नीतियाँ रखते हैं लेकिन लगभग सभी में क्षेत्रों के वन्य जीवन को आ ...

                                               

मदुरु ओया राष्ट्रीय उद्यान

मदुरु ओया राष्ट्रीय उद्यान महावीली विकास परियोजना के तहत स्थापित श्रीलंका का एक राष्ट्रीय उद्यान है और मदुरु ओया रिजर्वोइयर की जलग्रह के रूप में भी कार्य करता है। 9 नवंबर 1983 को नामित किया गया यह उद्यान कोलंबो के उत्तर-पूर्व में 288 किलोमीटर स्थ ...

                                               

रारा राष्ट्रीय उद्यान

रारा राष्ट्रीय उद्यान पश्चिम नेपाल के मुगु जिला में अवस्थित हैं जिसने रारा ताल तथा इसके आसपास के क्षेत्र को ढका हुआ हैं। इसका क्षेत्रफल १०६ बर्ग किलोमिटर हैं। यह उद्यान सन् १९७६ में स्थापापना किया हैं। इस उद्यान में नेपाल के सबसे बड़ा ताल राराताल ...

                                               

लाहुगाला किटुलाना राष्ट्रीय उद्यान

लाहुगाला किटुलाना राष्ट्रीय उद्यान श्रीलंका के सबसे छोटे राष्ट्रीय उद्यानों में से एक है। उद्यान श्रीलंका के हाथी और श्रीलंका के स्थानिक पक्षियों के लिए एक महत्वपूर्ण आवास है। मूल रूप से इसे 1 जुलाई 1966 को वन्यजीव अभ्यारण्य के रूप में नामित किया ...

                                               

वन्य जीव संरक्षण

भारत में वन्य जीव संरक्षण हेतू राष्ट्रीय उद्यानों एवं वन्य जीव अभयारण्यों कि स्थापना की गई हैं। वर्तमान में देश में ८९ राष्ट्रीय उद्यान एवं ४९० वन्य जीव अभयारण्य हैं।

                                               

सतपुड़ा राष्ट्रीय उद्यान

सतपुड़ा राष्ट्रीय उद्यान भारत के मध्य प्रदेश राज्य के अंतर्गत होशंगाबाद ज़िले में स्थित है। यह ५२४ वर्ग कि॰मी॰ के क्षेत्र में फैला हुआ है। अपने आसपास बोरी और पचमढ़ी अभयारण्य के साथ, यह १,४२७ वर्ग कि॰मी॰ का अद्वितीय मध्य भारतीय पार्वत्य देश पारिस् ...

                                               

सुल्तानपुर राष्ट्रीय अभ्यारण्य

सुल्तानपुर नेशनल पार्क दिल्ली से 45 किमी दक्षिण-पश्चिम में तथा गुड़गांव से 15 किमी की दूरी पर स्थित है. अनेकानेक प्रकार के पक्षी, घने पेड़ों व झीलों से सुशोभित यह नेशनल पार्क हरियाली के स्वर्ग के समान है. यहां आकर आपके मन को एक सुकून का अनुभव होत ...