Blog पृष्ठ 262




                                               

भुइयार

भुईयार अथवा भुईयार भारत में निवास करने वाला एक समुदाय अथवा जाति है, जो कि मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश, उत्तराखण्ड, बिहार, हरियाणा, दिल्ली, पंजाब, राजस्थान आदि राज्यों में निवास करती है। भुइयार जाति पाकिस्तान और बंगलादेश में भी निवास करती है। भुइयार ...

                                               

इमादउद्दीन जंगी

इमादउद्दीन जंगी ; अंग्रेजी: Imad ad-Din Zengi: एक तुर्क अताबेग और जंगी साम्राज्य के पहले शासक थे इन्होने मोसुल, अलेप्पो, सीरिया पर शासन किया था इन्हीं के नाम पर जंगी साम्राज्य का नाम रखा गया था।‎

                                               

कामरान मिर्ज़ा

कामरान मिर्जा मुग़ल साम्राज्य मे काबुल और लाहौर का शासन ले लिया। और बाबर ने मरने से पहले ही इस तरह से राज्य को बाँटा ताकि आगे चल कर दोनों भाइयों में लड़ाई न हो। कामरान आगे जाकर हुमायूँ के कड़े प्रतिद्वंदी बने। हुमायूँ का शासन अफ़गानिस्तान, पाकिस् ...

                                               

धंग

धंग या धंगदेव चन्देल राजवंश के एक शासक थे। इन्होंने जेजाकभुक्ति क्षेत्र, जो वर्तमान में है, वहाँ शासन किया था। धंग ने चन्देलों की संप्रभुता स्थापित की, साथ ही इन्होंने अपने शासनकाल में प्रतिहारों की खूब सेवा की। वह ये मुख्य रूप से खजुराहो के विश् ...

                                               

नवाब

नवाब यह सम्मान की उपाधि मुग़ल शासकों द्वारा उपयोग किया जाता था। भारत में मुग़ल शासन के अधीन यह उपाधि बाद में बंगाल, अवध तथा ऑर्काट के स्वतंत्र शासकों द्वारा अपनागई थी। इंग्लैंड में नवाब नाम उन लोगों को दिया गया, जिन्होंने ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कम्प ...

                                               

फ्रैडरिक द्वितीय

फ्रैडरिक द्वितीय 1198 से सिसिली के राजा थे, 1212 में जर्मनी के राजा, इटली के राजा और 1220 से रोमन सम्राट और 1225 से जेरूसलम के राजा रहे। वह होहेनस्टौफेन राजवंश के सम्राट हेनरी चतुर्थ और कॉन्स्टेंस के पुत्र थे।

                                               

सद्दाम हुसैन

सद्दाम हुसैन अब्द अल-माजिद अल-तिक्रिती दो दशक तक इराक़ के राष्ट्रपति रह चुके है। उन्हें 30 दिसम्बर 2006 को उत्तरी बगदाद में स्थानीय समय के अनुसार सुबह ६ बजे फाँसी दी गई थी। ३१ वर्ष की आयु में सद्दाम हुसैन ने जनरल अहमद अल बक्र के साथ मिल कर इराक क ...

                                               

कृष्णदास पयहारी

कृष्णदास पयहारी रामानंदी संप्रदाय के प्रमुख आचार्य और कवि थे। इनका समय सोलहवीं शती ई. कहा जाता है। ये ब्राह्मण थे और जयपुर के निकट गलता नामक स्थान पर रहते थे और केवल दूध पीते थे और इसी कारण इनका नाम पयहारी अर्थात पय + आहारी पड़ा। ये रामानंद के शि ...

                                               

जेम्स हेपबर्न, बोथवेल का चौथा अर्ल

जेम्स हेपबर्न, ऑर्क्ने का ड्यूक, जिसे उसके पैतृक नाम बोथवेल का अर्ल से ज्यादा जाना जाता है, १६वीं शताब्दी में स्कॉटलैंड का एक प्रमुख राजनैतिक व कुलीन व्यक्तियों में से एक था। जेम्स को स्कॉटलैंड की रानी मैरी १ के तीसरे पति के रूप में ज्यादा प्रसिद ...

                                               

फिरोज़ शाह सूरी

फिरोज़ शाह सूरी सूर वंश का तीसरा शासक था। यह अपने पिता इस्लाम शाह सूरी का उत्तराधिकारी बना। जब ये बारह वर्ष का था १५५३ में शेर शाह सूरी के भतीजे मुहम्मद मुबारिज़ खान ने इसकी की हत्या कर दी और मुहम्मद शाह आदिल के नाम से शासन किया।

                                               

अब्दुल क़ादिर बदायूंनी

मुल्ला अब्द-उल-कादिर बदायुनी एक फारसी मूल के भारतीय इतिहासकार एवं अनुवादक रहे थे। ये मुगल काल में भारत में सक्रिय थे। ये मुलुक शाह के पुत्र थे।. बचपन में ये बसावर में रहे और शिक्षा संभल एवं आगरा में ली। बाद में ये बदायुं आ गये और १५६२ में में पटि ...

                                               

मीरा बाई

मीराबाई सोलहवीं शताब्दी की एक कृष्ण भक्त और कवयित्री थीं। उनकी कविता कृष्ण भक्ति के रंग में रंग कर और गहरी हो जाती है। मीरा बाई ने कृष्ण भक्ति के स्फुट पदों की रचना की है। मीरा कृष्ण की भक्त हैं।

                                               

मुहम्मद शाह आदिल

मुहम्मद शाह आदिल सूर वंश का चौथा शासक था। इसका असली नाम था मुहम्मद मुबारिज़ खान। ये शेर शाह सूरी का भतीजा था। १५५३ में इसने फिरोज़ शाह सूरी की हत्या कर दी, जो कि शेर शाह सूरी का बारह वर्षीय पौत्र था। और उसका उत्तराधिकारी बना। इसका उत्तराधिकारी था ...

                                               

विलियम शेक्सपीयर

विलियम शेक्सपीयर अंग्रेजी के कवि, काव्यात्मकता के विद्वान नाटककार तथा अभिनेता थे। उनके नाटकों का लगभग सभी प्रमुख भाषाओं में अनुवाद हुआ है। शेक्सपियर में अत्यंत उच्च कोटि की सर्जनात्मक प्रतिभा थी और साथ ही उन्हें कला के नियमों का सहज ज्ञान भी था। ...

                                               

सिकंदर शाह सूरी

सिकंदर शाह सूरी सूर वंश का छठा शासक था। इसका असली नाम अहमद खान था। १५५५ में इसे हुमायुं से मात खानी पड़ी और मुगल साम्राज्य की पुनर्स्थापना हुई। हार के बाद सूरी शिवालिक की पहाड़ियों में भाग गया। इसके भ्राता आदिल शाह सूरी ने अकबर से युद्ध किया, परं ...

                                               

सूरी साम्राज्य

सूरी साम्राज्य भारतीय उपमहाद्वीप के उत्तरी भाग में स्थित पश्तून नस्ल के शेर शाह सूरी द्वारा स्थापित एक साम्राज्य था जो सन् १५४० से लेकर १५५७ तक चला। इस दौरान सूरी परिवार ने बाबर द्वारा स्थापित मुग़ल सल्तनत को भारत से बेदख़ल कर दिया और ईरान में शर ...

                                               

प्रोत्साहन

प्रोत्साहन किसी व्यक्ति या समुदाय द्वारा किसी विशेष क्रिया करवाने के लिए अभिप्रेरण के रूप में दी जाने वाली किसी चीज़ को कहते हैं। उदाहरण के लिए व्यावसायिक संगठन अपने कर्मियों से काम लेने के लिए उन्हें प्रोत्साहन के लिए उन्हें आय देते हैं। हर बड़े ...

                                               

तरुण विजय

तरुण विजय भारतीय राष्ट्रीय भावना से ओतप्रोत पत्रकार एवं चिन्तक हैं। सम्प्रति वे श्यामाप्रसाद मुखर्जी शोध संस्थान के अध्यक्ष हैं। वह 1986 से 2008 तक करीब 22 सालों तक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुखपत्र पाञ्चजन्य के संपादक रहे। फिलहाल वह डॉ॰ श्यामाप ...

                                               

पुपुल जयकर

पुपुल जयकर भारतीय सांस्कृतिक कार्यकर्ता और लेखिका थीं। इन्हें स्वतंत्रता के बाद के भारत में पारंपरिक और ग्राम कला, हथकरघा और हस्तशिल्प के पुनरुद्धार के लिए किये गए उनके काम के लिए जाना जाता है। उन्होंने 1980 के दशक में फ्रांस, अमेरिका और जापान मे ...

                                               

भोगीलाल पांड्या

भोगीलाल पांड्या को भारत सरकार द्वारा सन १९७६ में समाज सेवा के क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये राजस्थान से हैं। 4 इनको वांगड़ के गाँधी उपनाम से भी जाना जाता हे |

                                               

मोहन स्वरूप भाटिया

मोहन स्वरूप भाटिया एक अनुभवी पत्रकार, समाज सेवक तथा कला के लिए जाने जाते है। इन्हें साल २०१८ में पद्मश्री से नवाजा गया है।

                                               

राज मोहिनी देवी

राजमोहनी देवी गांधीवादी विचार धारा वाली एक समाज सेविका थी जिन्होंने बापू धर्म सभा आदिवासी मण्डल की स्थापना की। ये संस्था गोंडवाना स्थित आदिवासियों के हित के लिए कार्य करती है। वे स्वयं एक आदिवासी जाति मांझी में जन्मी थी। १९५१ के अकाल के समय गांधी ...

                                               

राजीव खंडेलवाल (सामाजिक कार्यकर्ता)

राजीव खंडेलवाल आजिका ब्यूरो के एग्ज़ेकेटिव डायरेक्टर हैं जिसका मुख्य कार्यालय उदयपुर, राजस्थान, भारत में है। यह एक समाजसेवी संस्था है। इसकी स्थापना राजीव ने 2004 में की थी। यह मुख्य रूप गाँव से शहरों का रुख करने वाने श्रमिकों के हितों और उनकी समस ...

                                               

शांता सिन्हा

प्रो. शांता सिन्हा अंतरराष्ट्रीय ख्याति के बाल श्रमिक विरोधी कार्यकर्ता हैं। वह मममीदिपुड़ी वेंकटारागैया फाउंडेशन के संस्थापक हैं, जिन्हें एमवी फाउंडेशन के नाम से जाना जाता है, और हैदराबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी में राजनीति विज्ञान विभाग के एक प्रोफ ...

                                               

सुन्दरलाल शर्मा

00chrm.jpg पंडित सुंदरलाल शर्मा, छत्तीसगढ़ में जन जागरण तथा सामाजिक क्रांति के अग्रदूत थे। वे कवि, सामाजिक कार्यकर्ता, समाजसेवक, इतिहासकार, स्वतंत्रता-संग्राम सेनानी तथा बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे। उन्हें छत्तीसगढ़ का गांधी कहा जाता है। उनके सम्मा ...

                                               

हर्षवर्धन ओझा

हर्ष वर्द्धन ओझा एक पत्रकार, समाजिक कार्यकर्ता और हिंदी फिल्म निर्माता हैं। दिल्ली विश्वविद्यालय से पत्रकारिता में स्नातकोत्तर हर्ष वर्धन ओझा फिल्मों में आने से पहले कई वर्षों तक दूरदर्शन के साथ जुड़े रहें। दूरदर्शन में उन्होने एक बड़ी पारी खेली ...

                                               

उमाकान्त केशव आपटे

उमाकान्त केशव आपटे उपाख्य बाबा साहेब आपटे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रथम प्रचारक एवं उसके अखिल भारतीय प्रचारक-प्रमुख थे। वह एक मौलिक चिन्तक एवं विचारक थे। वे संस्कृत, मराठी, हिंदी एवं इतिहास के विद्वान्, भारतीय-संस्कृति के मनीषी, भारतीय जीवन-मू ...

                                               

एमा स्मिथ डेवो

एमा स्मिथ डेवो बीसवी सदी के शुरूआती दौर में प्रमुख रूप से महिलाओं के मताधिकार के लिए काम करने वाली एक महिला हैं, जिन्होंने राजनीति जगत का चेहरा महिलाओं व पुरुषों दोनों के लिए बदल दिया। एमा को "महिलाओं के मताधिकारों की माता" के रूप में भी जाना जात ...

                                               

गोपाल राय

गोपाल राय आम आदमी पार्टी के एक सामाजिक कार्यकर्ता और राजनेता हैं। वह आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्यों में से एक है। गोपाल राय का जन्म 10 मइ 1975 को ग्राम गोबरीडीह, निकट सिपाह इब्राहिमाबाद बाजार, थाना मधुबन, जिला मऊ में एक किसान ...

                                               

चुनी कोटल

चुनी कोटल लोढ़ा शबर जनजाति के एक दलित आदिवासी परवीर से थी जो १९८५ में भारत था। वह लोढ़ा शबर्स में पहली महिला थी जिसने स्नातक प्राप्त की। १९६५ में पश्चिम बंगाल के पश्चिम मेदिनीपुर जिले के गोधोडोही में एक गरीब लोढ़ा परिवार में जन्म हुआ। वह एक आदिम ...

                                               

जनक पाल्टा मैकगिलिगन

डॉ श्रीमती जनक पलटा मगिलिगन एक भारतीय सामाजिक कार्यकर्ता हैं। वह इंदौर जिले के सनावदिया गाँव में स्थित जिम्मी मगिलिगन सेंटर फॉर सस्टेनेबल डेवलपमेंट की संस्थापिका व निदेशिका है, जो कि गैर सरकारी संगठन है। वह ग्रामीण महिलाओं के बारली विकास संस्थान ...

                                               

जयप्रकाश नारायण (लोकसत्ता)

डॉ जयप्रकाश नारायण भारत के राजनेता, समाज-सुधाकरक, टीवी टिप्पणीकार तथा स्तम्भकार हैं। वे लोक सत्ता के अध्यक्ष हैं तथा वर्तमान में आंध्र प्रदेश विधान सभा के सदस्य हैं। इसके पूर्व वे भारतीय प्रशासनिक सेवा में भी नौकरशाह थे। वे भारत में कई चुनाव सुधा ...

                                               

तमारा ग्रिग्सबी

तमारा डी.ग्रिग्सबी एक सामाजिक कार्यकर्ता व विस्कॉन्सिन की एक पूर्व विश्वविद्यालय प्रोफेसर थी जिन्होंने, २००५ से २०१३ तक १८ वीं विधानसभा जिले का प्रतिनिधित्व विस्कॉन्सिन विधानसभा के एक डेमोक्रेटिक पार्टी के सदस्य के रूप में कार्य करती थी।

                                               

तेजपाल सिंह धामा

तेजपाल सिंह धामा जन्म: 2 जनवरी 1971 पत्रकार, हिन्दी के लेखक एवं सामाजिक कार्यकर्ता हैं। हमारी विरासत शोध-ग्रंथ उनकी प्रसिद्ध रचना है। इन्हें अनेक साहित्यिक एवं सामाजिक पुरस्कार प्राप्त हो चुके हैं। इन्होंने हैदराबाद से प्रकाशित स्वतंत्र वार्ता एव ...

                                               

दशरथ माँझी

दशरथ मांझी जिन्हें माउंटेन मैन "के रूप में भी जाना जाता है, बिहार में गया के करीब गहलौर गांव के एक गरीब मजदूर थे। केवल एक हथौड़ा और छेनी लेकर इन्होंने अकेले ही 360 फुट लंबी 30 फुट चौड़ी और 25 फुट ऊँचे पहाड़ को काट के एक सड़क बना डाली। 22 वर्षों प ...

                                               

दुर्गाबाई देशमुख

right|thumb|300px|दुर्गाबाई देशमुख दुर्गाबाई देशमुख भारत की स्वतंत्रता सेनानी तथा सामाजिक कार्यकर्ता तथा स्वतंत्र भारत के पहले वित्तमंत्री चिंतामणराव देशमुख की पत्नी थीं।

                                               

नीता अंबानी

नीता अंबानी एक भारतीय महिला उद्यमी हैं। वे भारत के सबसे अमीर आदमी मुकेश अंबानी की पत्नी और रिलायंस इंडस्ट्रीज के संस्थापक धीरूभाई अंबानी की पुत्रवधु हैं। नीता अंबानी धीरूभाई अंबानी इंटरनेशनल स्कूल की संस्थापक और चेयरपर्सन हैं। उनको श्री चंद्रशेखर ...

                                               

पोपटराव पवार

पोपटराव पवार महाराष्ट्र सरकार के आदर्श ग्राम कार्यक्रम के निदेशक हैं। वे हमारे युवा पीढ़ी के सबसे अग्रणी जल योद्धाओं में से एक हैं। वैसे तो पवार का मूल निवास स्थान महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले का हिवरे बाजार गाँव है, लेकिन इनकी शिक्षा पुणे शहर में ...

                                               

फोरेंसिक सामाजिक कार्य

फोरेंसिक सामाजिक कार्य के सवाल और कानून और कानूनी व्यवस्था से संबंधित मुद्दों के लिए सामाजिक कार्य के लिए आवेदन है। सामाजिक कार्य पेशे की यह विशेषता दूर से परे क्लीनिक और आपराधिक बचाव पक्ष के लिए मनोरोग अस्पतालों और मूल्यांकन योग्यता और जिम्मेदार ...

                                               

महमूदा अली शाह

महमूदा अली शाह एक भारतीय शिक्षाविद्, सामाजिक कार्यकर्ता और सरकारी कॉलेज ऑफ विमेन, एमएए रोड श्रीनगर की प्रधान अध्यापक थी। वह एक करीबी दोस्त और सहयोगी थी इंदिरा गांधी की। उन्होंने शिक्षा के महत्व और उनके सामाजिक सशक्तिकरण के लिए कश्मीर की महिलाओं क ...

                                               

मीरा दत्त गुप्ता

मीरा दत्त गुप्ता कलकत्ता, भारत में महिलाओं के मुद्दों पर एक प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी, सामाजिक कार्यकर्ता, शिक्षाविद, राजनेता और कार्यकर्ता थी। वह बंगाल में विधान सभा के सदस्य रहे चुकी है और फिर पश्चिम बंगाल में १९३७ से १९५७ तक बीस वर्ष के लिए। ...

                                               

मैरी सीकॉले

मैरी जेन साकॉले जमैका की एक प्रभावशाली व्यापारी थी। उन्होंने क्रीमियाई युद्ध के दौरान एक ब्रिटिश होटल की स्थापना करवाई। इस होटल के बारे में उन्होंने कहा कि यहाँ युद्ध के मैदान पे घायल सैनिको को सहायता प्रदान की जाएगी। १९९१ में मरणोपरांत उन्हें मे ...

                                               

गंगाराम

राय बहादुसर गंगा राम CIE, MVO; एक प्रसिद्ध भारतीय इंजिनियर और, उद्यमी, साहित्यकार थे। आधुनिक पाकिस्तान में लाहौर के शहरी कपड़े में उनके व्यापक योगदान ने उन्हें "आधुनिक लाहौर के पिता" उपनाम दिया है।

                                               

रामखेलावन मिश्र

रामखेलावन मिश्र जन्म से क्रन्तिकारी विचारों के थे। इनका जन्म ब्रिटिश साम्राज्य भारत के यूनाइटेड प्रोविंस के कानपुर जिले के ग्राम इंजुवारामपुर में मार्च २५,१९०९ को हुआ।

                                               

लक्ष्मी अग्रवाल

लक्ष्मी अग्रवाल स्टॉप सेल एसिड और एक टीवी होस्ट के साथ एक भारतीय प्रचारक हैं। वह एक एसिड अटैक सर्वाइवर है और एसिड अटैक पीड़ितों के अधिकारों के लिए बोलती है। 2005 में 15 साल की उम्र में, एक 32 वर्षीय व्यक्ति गुड्डू उर्फ ​​नईम खान ने उन पर हमला किय ...

                                               

वर्जिनिया जॉन्सन

वर्जिनिया जॉन्सन पहली ऐसी महिला थी जिन्होंने इस विषय पर वैज्ञानिक अनुसंधानों के साथ अपनी बात रखी. उन्होंने विलियम मास्टर्स के शोध प्रयोगों में महिलाओं का नजरिया रखा।

                                               

विद्या दास

विद्या दास भारत की एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं जो आदिवासियों के अधिकारों के लिए संघर्षरत हैं। विद्या अपने पति अच्युत दास के साथ मिलकर ओडिशा के आदिवासियों के लिए १९८७ से काम कर रही हैं। वे अग्रगामी नामक एक अशासकीय संस्था चलाती हैं जिसकी विशेष बात ये ...

                                               

शमशाद बेगम (सामाजिक कार्यकर्ता)

शमशाद बेगम एक भारतीय सामाजिक कार्यकर्ता है, जिसे छत्तीसगढ़ के पिछड़े वर्गों की शिक्षा के लिए अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़े वर्गों में शिक्षा के लिए जाना जाता है। उन्हें भारत सरकार द्वारा २०१२ में, पद्म श्री के चौथे उच्चतम भारतीय न ...

                                               

सिल्वरिन स्वर

सिल्वरिन स्वर, जो लोकप्रिय रूप से कोंग सिल के रूप में जानी जाती है, एक भारतीय सामाजिक और पर्यावरण कार्यकर्ता, शिक्षाविद् और सिविल कर्मचारी थे। वह पहली महिला थी जो मेघालय सरकार में वरिष्ठ पद पर थी। भारत सरकार ने १९९० में पद्म श्री के चौथे उच्चतम न ...

                                               

सुधा कौल

सुधा कौल एक भारतीय सामाजिक कार्यकर्ता और शिक्षाविद हैं जो शारीरिक रूप से विकलांग लोगों के पुनर्वास के लिए उनकी सेवाओं के लिए जानी जाती हैं। डॉ कौल इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ सेरेब्रल पाल्सी की उपाध्यक्ष हैं। और विशेष शिक्षा केंद्र की संस्थापक हैं। उसन ...