Blog पृष्ठ 310




                                               

खमाच

खमाच भारतीय संगीत का एक राग है। यह संपूर्ण षाडव है। इसका वादी स्वर गांधाऔर संवादी निषाद है। आरोह में ऋषभ वर्जित है। निषाद शुद्ध, अवरोह कोमल और अन्य सभी स्वर शुद्ध लगते हैं। यह राग शृंगारप्रधान है। इसके गाने का समय रात्रि का द्वितीय पहर बताया गया है।

                                               

ख़याल

ख्याल या ख़याल भारतीय संगीत का एक रूप है। वस्तुत: यह ध्रुपद का ही एक भेद है। अंतर केवल इतना ही है कि ध्रुपद विशुद्ध भारतीय है। ख्याल में भारतीय और फारसी संगीत का मिश्रण है। यह राजस्थान का एक प्रसिद्ध लोकनाट्य परंपरा भी रहा है

                                               

ख्याल (मालवी गीत)

हास्य प्रधान मालवी गीत और चित्र को ख्याल कहते हैं। किंतु इसका अभिप्राय राजस्थान में एक प्रकार के लोकनाट्य से समझा जाता है जो उत्तर प्रदेश की नौटंकी तथा मालवा के माच से मिलता जुलता है। यह खुले प्रांगण में खेला जाता है। चारों ओर दर्शक बैठते हैं, बी ...

                                               

गायन समय

भारतीय शास्त्रीय संगीत में प्रत्येक राग के गाने का समय निश्चित है। यह समय दिन या रात के प्रहरों में निश्चित किया गया है। दिन के चार प्रहर माने गए हैं और रात के भी चार प्रहर हैं। सभी रागों को उनकी प्रकृति के अनुसार इन आठ प्रहरों में से किसी प्रहर ...

                                               

जिओ सावन

जिओ सावन - JioSaavn एक भारतीय संगीत स्ट्रीमिंग सेवा और की एक डिजिटल वितरक है बॉलीवुड, अंग्रेजी और अन्य क्षेत्रीय भारतीय संगीत दुनिया भर में। चूंकि इसे 2007 में Saavn के रूप में स्थापित किया गया था, इसलिए कंपनी ने 15 भाषाओं में 5 करोड़ से अधिक संग ...

                                               

डार्क प्रॉजेक्ट

वर्ष 2005 में इनकी प्रथम कृतियां एक एक्सटेन्डेड प्ले के रूप मेंे रिलीज़ हुई। इसमें 6 गाने थे - ऎपीलॉग वॉकिंग अगेन 2 भावों में रिकंस्ट्रक्ट ड्रेंच्ड द प्रोलॉग माइ लास्ट क्राइम

                                               

दमाल कृष्णास्वामी पट्टम्माल

श्रीमती डामल कृष्णस्वामी पट्टम्माल कर्णाटक संगीत के विख्यात गायिकाओं में गिनी जाती हैं। आप तथा आपकी दो समवयस्क गायिकाएं" कर्णातक संगीत की महिला त्रिमूर्तियां” कहलाती हैं। श्रीमती पट्टम्माल का जन्म २ मर्च १९१९ को कांचीपुरम तमिलनाडु में हुआ। आपके प ...

                                               

बंदिश

हिन्दुस्तानी गायन या वादन में बंदिश से तात्पर्य एक निश्चित सुरसहित रचना से है। बंदिश किसी विशेष राग में निर्मित होती है। इसे गाने/बजाने के साथ तबला या पखावज द्वारा ताल मिलाया जाता है और सारंगी, वायलिन अथवा हारमोनियम द्वारा सुस्वरता प्रदान की जाती ...

                                               

भजन

भारतीय संगीत के मुख्य रूप से तीन भेद किये जाते हैं। शास्त्रीय संगीत, सुगम संगीत और लोक संगीत। भजन सुगम संगीत की एक शैली है। इसका आधार शास्त्रीय संगीत या लोक संगीत हो सकता है। इसको मंच पर भी प्रस्तुत किया जा सकता है लेकिन मूल रूप से यह किसी देवी य ...

                                               

भारत में संगीत-शिक्षण

१८ वीं शताब्दी में घराने एक प्रकार से औपचारिक संगीत-शिक्षा के केन्द्र थे परन्तु ब्रिटिश शासनकाल का आविर्भाव होने पर घरानों की रूपरेखा कुछ शिथिल होने लगी क्योंकि पाश्चात्य संस्कृति के व्यवस्थापक कला की अपेक्षा वैज्ञानिक प्रगति को अधिक मान्यता देते ...

                                               

भारतीय लोकसंगीत

भारतीय लोकसंगीत भी भारतीय संस्कृति की भांति अत्यन्त विविधतापूर्ण है। पूरे भारत में लोकसंगीत के अनेक रूप विद्यमान हैं, जैसे भांगड़ा, लावणी, डंडिया, "राजस्थानी आदि।

                                               

भारतीय संगीत

भारतीय संगीत प्राचीन काल से भारत मे सुना और विकसित होता संगीत है। इस संगीत का प्रारंभ वैदिक काल से भी पूर्व का है। इस संगीत का मूल स्रोत वेदों को माना जाता है। हिंदु परंपरा मे ऐसा मानना है कि ब्रह्मा ने नारद मुनि को संगीत वरदान में दिया था। पंडित ...

                                               

मेलकर्ता

मेलकर्ता राग कर्नाटक संगीत के मूल रागों का समूह है। मेलकर्ता राग, जनक राग कहलाते हैं जिनसे अन्य राग उत्पन्न किये जा सकते हैं। मेलकर्ता रागों की संख्या बहत्तर मानी जाती है। मेलकर्ता को मेल, कर्ता या सम्पूर्ण भी कहते हैं। विजयनगरम के महान संगीतज्ञ ...

                                               

रवींद्र संगीत

रवीन्द्र संगीत बांग्ला: রবীন্দ্রসঙ্গীত IPA, जिसे अंग्रेजी में टैगोर सांस के रूप में जाना जाता है, रवींद्रनाथ टैगोर द्वारा रचित एक संगीत विधा है, जिन्होंने सामान्य रूप से भारत और विशेष रूप से बंगाल की संगीत अवधारणा में एक नया आयाम जोड़ा. रवीन्द्र ...

                                               

राग

राग शब्द संस्कृत की रंज् धातु से बना है। रंज् का अर्थ है रंगना। जिस तरह एक चित्रकार तस्वीर में रंग भरकर उसे सुंदर बनाता है, उसी तरह संगीतज्ञ मन और शरीर को संगीत के सुरों से रंगता ही तो हैं। रंग में रंग जाना मुहावरे का अर्थ ही है कि सब कुछ भुलाकर ...

                                               

लोक संगीत

वैदिक ॠचाओं की तरह लोक संगीत या लोकगीत अत्यंत प्राचीन एवं मानवीय संवेदनाओं के सहजतम उद्गार हैं। ये लेखनी द्वारा नहीं बल्कि लोक-जिह्वा का सहारा लेकर जन-मानस से निःसृत होकर आज तक जीवित रहे। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने कहा था कि लोकगीतों में धरती ग ...

                                               

षड्ज

संगीत के सात स्वरों में से पहला स्वर जो साधारणतः ‘सा’ कहलाता है। संगीत शास्त्र के अनुसार इस स्वर का उच्चारण नासा, कण्ठ, उर, तालु, जीभ और दाँतों के सम्मिलित प्रयत्न से होता है इसलिए इसका नाम षडज् पड़ा है। प्रायः संगीतकार हमें शुरुआत में ही इस स्वर ...

                                               

संगीत कलानिधि

संगीत कलानिधि एक सम्मान है जो मद्रास संगीत अकादमी द्वारा प्रतिवर्ष कर्नाटक संगीत के किसी संगीतज्ञ को प्रदान किया जाता है। यह कर्नाटक संगीत के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार माना जाता है।

                                               

स्वरमेलकलानिधि

स्वरमेळकलानिधि १६वीं शताब्दी में विजयनगरम के संगीतज्ञ राममात्य द्वारा रचित एक अत्यन्त प्रसिद्ध संगीत ग्रंथ हैं। सन १५५० में रचित यह ग्रन्थ कर्नाटक संगीत के नवरत्नों में गिना जाता है। इस ग्रन्थ का महत्व इस तथ्य में निहित है कि इससे पहले लिखे गए सं ...

                                               

स्वरलिपि

संस्थागत संगीत शिक्षण प्रणाली के उद्भव के साथ वास्तव में भारतीय संगीत की परंपरा में पहली बार व्यावहारिक संगीत को लेखबद्ध करने का प्रयास प्रारंभ हुआ। फलस्वरूप, संगीत के व्यावहारिक पक्ष को मज़बूती प्रदान करने के निमित्त विभिन्न रागों की बंदिशों और ...

                                               

गमेलन

Another virtual gamelan. Allows to play, and "program" sequencer like gamelans. Text is in French. Play a gamelan instrument online The Virtual Javanese Gamelan play and compose Javanese music using this award winning free resource A collection o ...

                                               

प्रयोगात्मक वाद्य यंत्र

प्रयोगात्मक वाद्य यंत्र उन वाद्य यन्त्रों को कहते हैं जो किसी प्रचलित वाद्य यन्त्र में परिवर्तन/परिवर्धन करके बनाए जाते हैं, या कोई बिलकुल ही नया वाद्ययन्त्र बनाया या पारिभाषित किया गया हो।

                                               

रावण हत्था

रावण हत्था एक भारतीय वाद्य यंत्र है। यह एक प्राचीन मुड़ा हुआ वायलिन है, जो भारत और श्रीलंका के साथ-साथ आसपास के क्षेत्रों में लोकप्रिय है। यह एक प्राचीन भारतीय तानेवाला संगीत वाद्ययंत्र है जिस पर पश्चिमी वाद्य संगीत वाद्य जैसे वायलिन और वायला बाद ...

                                               

संतूर

संतूर भारत के सबसे लोकप्रिय वाद्ययंत्र में से एक है जिसका प्रयोग शास्त्रीय संगीत से लेकर हर तरह के संगीत में किया जाता है। संतूर एक वाद्य यंत्र है। संतूर का भारतीय नाम शततंत्री वीणा यानी सौ तारों वाली वीणा है जिसे बाद में फ़ारसी भाषा से संतूर नाम ...

                                               

भातखंडे संगीत संस्थान समविश्वविद्यालय

भातखण्डे संगीत संस्थान विश्वविद्यालय लखनऊ में स्थित भारत का एक बड़ा ललित-कला समविश्वविद्यालय है। इस विश्वविद्यालय का आदर्श वाक्य है नादाधीनम् जगत् अर्थात यह संपूर्ण विश्व नाद या संगीत के अधीन है इस विश्वविद्यालय का नाम यहां के महान संगीतकार पंडित ...

                                               

भिंडी बाज़ार घराना

भिंडी बाज़ार घराना हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत के प्रसिद्ध घरानों में से एक है। इस घराने की सबसे बड़ी विशेषता इनकी खयाल गायकी है, जो मुक्त कंठ एवं आवाज़ की प्रस्तुति है। आवाज़ का उपयोग कर, सांस नियंत्रण और लंबे मार्ग की एक सांस में गायन पर ज़ोर द ...

                                               

विकास महाराज

विकास महाराज हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत में सरोद प्रसिद्ध वादक हैं। ये स्व> पंडित किशन महाराज के भतीजे और स्व.पंडित ननकू महाराज के पुत्र हैं। आपकी उम्र महज़ 9 साल की थी जब आपने अपनी पहली सरोद वादन की मंच प्रस्तुति दी, जो की भारतीय शास्त्रीय ...

                                               

राग सिंधुरा

राग सिंधुरा एक चंचल प्रकृति का राग है। यह की राग काफी के बहुत निकट है। राग काफी से इसे अलग दर्शाने के लिए कभी कभी निषाद शुद्ध का प्रयोग आरोह में इस तरह से किया जाता है - म प नि नि सा। राग काफी में म प ग१ रे यह स्वर समूह राग वाचक है जबकि सिंधुरा म ...

                                               

शिवकुमार शर्मा

पंडित शिवकुमार शर्मा प्रख्यात भारतीय संतूर वादक हैं। संतूर एक कश्मीरी लोक वाद्य होता है। इनका जन्म जम्मू में गायक पंडित उमा दत्त शर्मा के घर हुआ था। १९९९ में रीडिफ.कॉम को दिये एक साक्षातकार में उन्होंने बताया कि इनके पिता ने इन्हें तबला और गायन क ...

                                               

हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत

हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत भारतीय शास्त्रीय संगीत के दो प्रमुख शैली में से एक है। दूसरी प्रमुख शैली है - कर्नाटक संगीत। यह एक परम्प्रिक उद्विकासी है जिसने 11वीं और 12वीं शताब्दी में मुस्लिम सभ्यता के प्रसार ने भारतीय संगीत की दिशा को नया आयाम द ...

                                               

गीतिकाव्य

गीतिकाव्य वो शब्द होते हैं जो गीत या काव्य रचना को बनाते हैं। गीतिकाव्य लिखने वाले गीतकार होते हैं। विशेषकर संगीत के साथ निर्मित किये गए गीत के शब्दों को बोल भी कहते हैं। ऐसा भारतीय परिप्रेक्ष्य में सिनेमा में बहुत आम है। इसमें बनागई फ़िल्मों में ...

                                               

चिकनी चमेली

चिकनी चमेली २०१२ की फ़िल्म अग्निपथ का एक हिन्दी आइटम गीत है जिसका निर्माण अजय-अतुल की जोड़ी ने किया है। इस गीत को १५ दिसम्बर २०११ को प्रदर्शित किया गया था जिसमे कटरीना कैफ पर मुख्यतः यह चित्रित किया गया है और ऋतिक रोशन व संजय दत्त अन्य कलाकार है। ...

                                               

बिलावल ठाट

बिलावल ठाट अथवा बिलावल थाट भारतीय शास्त्रीय संगीत की उत्तर भारतीय शैली में वर्णित दस ठाटों में से एक ठाट है। इसमे सारे स्वर शुद्ध होते हैं। इसमें स्वर समूह इस प्रकार है: सा, रे, ग, म, प, ध, नी।

                                               

वाद्य संगीत

वाद्य संगीत ऐसी संगीत रचना होती है ने किसी प्रदर्शन के लिये कर सकता है। वाद्य संगीत की परम्परा पश्चिमी संस्कृति और भारत में बहुत प्राचीन है। भारत में बहुत पहले समय से वीणा के उपयोग से वाद्य संगीत की रचना की जाती थी।

                                               

क़्वीन (बैंड)

क़्वीन एक ब्रिटिश रॉक बैंड है, जिसका गठन में लंदन में 1970 में हुआ था। फ्रेडी मर्करी, ब्रायन में, रोजर टेलर, और जॉन डीकॉन उसके शुरुवाती सदस्य थे। क़्वीन्स के शुरुवाती कार्य प्रगतिशील रॉक, हार्ड रॉक और हैवी मेटल से प्रभावित थे। लेकिन बैंड बाद में ...

                                               

मरून ५

मरून ५ लॉस एंजेलिस, कैलिफोर्निया से एक अमेरिकी पॉप-रॉक बैंड है। वर्तमान में इसमें मुख्य गायक एडम लेविन, कीबोर्डिस्ट और लय गिटारवादक जेसी कारमाइकल, बेसिस्ट मिकी मैडेन, लीड गिटारवादक जेम्स वेलेंटाइन, ड्रमर मैट फ्लाइन, कीबोर्डिस्ट पीजे मॉर्टन और बहु ...

                                               

देसी हिप हॉप

हिप-हॉप की शुरुआत १९७० के दशक में कुछ अमेरिकी बेरोजगार लोगों के कारण हुई थी। इसकी शुरुआत नगरीय और काले लोगों में हुई जिसने १९९० के दशक तक व्यावसायिक सफलता प्राप्त कर ली और इसका छोटे नगरों में प्रचलन बढ़ने लग गया। हिप-हॉप के प्रभाव वाले एशियाई मूल ...

                                               

स्वर-संगति

संगीत में, स्वर-संगति पिचों या कॉर्ड्स का एक ही साथ उपयोग है। स्वर संगति के अध्ययन में कॉर्ड एवं उनकी रचना तथा कॉर्ड का अनुक्रम और उनको नियंत्रित करने वाले संयोजन के सिद्धांत शामिल हैं। स्वर संगति को मेलोडिक लाइन, या क्षैतिजीय पहलू से उत्कृष्ट और ...

                                               

अन्नपूर्णा देवी

अन्नपूर्णा देवी भारत की एक प्रमुख संगीतकार थीं। वे मैहर घराना के संस्थापक अलाउद्दीन खान की बेटी और शिष्या थीं। जाने-माने सरोद वादक उस्ताद अली अकबर खान उनके भाई थे। उन्हें १९७७ में भारत सरकार द्वारा कला के क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया गय ...

                                               

द्रोपती

द्रोपती सूरीनाम की एक कलाकार हैं, जिन्हें भोजपुरी की आधुनिक बैठक गाना शैली की मां का दर्जा दिया गया है। द्रोपती को उनके एल्बम लेट्स सिंग एंड डांस के माध्यम से कैरिबियाई क्षेत्र के भारतीय संगीत उद्योग में पेश किया गया था। 1968 की इस एल्बम में लुभा ...

                                               

रामदेव चैतो

रामदेव चैतो सूरीनाम के एक कलाकाऔर हारमोनियम वादक थे, जिन्होंने 1976 में The King Of Suriname a.k.a The Star Melodies of Ramdew Chaitoe in 1976 एल्बम रिलीज़ किया। ऐसी अफवाह है कि चैतो ने अपने करियर की शुरुआत बार में लड़ाई के चलते गिरफ्तार होने के ...

                                               

वाद्यशास्त्र

वाद्यशास्त्र संगीत वाद्य यंत्रों व उनके वर्गीकरण के अध्ययन को कहते हैं। इसमें वाद्यों के इतिहास, विकास, अलग-अलग संस्कृतियों में प्रयोग, ध्वनी-उत्पत्ति के तकनीकी पहलू सभी शामिल हैं।

                                               

बुल्ला की जाना

बुल्ला की जाना, ਬੁਲ੍ਹਾ ਕੀ ਜਾਣਾ) पंजाबी सूफी संत बुल्ले शाह द्वारा लिखित सबसे प्रसिद्ध काफ़ी कविताओं में से एक है। 1990 के दशक में पाकिस्तानी रॉक बैंड जुनून ने, "बुल्ला की जाना" को एक गीत का रूप दिया। 2005 में, रब्बी शेरगिल का रॉक संस्करण भारत और ...

                                               

महंत घासीदास स्मारक संग्रहालय, रायपुर

महंत घासीदास स्मारक संग्रहालय भारत में छत्तीसगढ़ राज्य की राजधानी रायपुर में स्थित है। यह एक पुरातात्विक संग्रहालय है। इसे 1875 में राजा महंत घासीदास ने बनवाया था। वर्ष 1953 में रानी ज्योति और उनके पुत्र दिग्विजय ने इस भवन का पुनर्निर्माण करवाया ...

                                               

राज्य संग्रहालय, भोपाल

राज्य संग्रहालय भोपाल का उद्घाटन 2 नवम्बर, 2005 को म.प्र. के मुख्यमंत्री ने किया। यह श्यामला हिल्स पर स्थित है। संग्रहालय का समय प्रातः 10.30 बजे से सायः 5.30 बजे तक होता है तथा यह प्रत्येक सोमवार एवं शासकीय अवकाश के दिन संग्रहालय बन्द रहता है। र ...

                                               

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी भारत के प्रथम उप प्रधानमन्त्री तथा प्रथम गृहमन्त्री वल्लभभाई पटेल को समर्पित एक स्मारक है, जो भारतीय राज्य गुजरात में स्थित है। गुजरात के तत्कालीन मुख्यमन्त्री नरेन्द्र मोदी ने 31 अक्टूबर 2013 को सरदार पटेल के जन्मदिवस के मौके ...

                                               

मोंसोरो महल-समकालीन कला संग्रहालय

मोंसोरो महल-समकालिक कला संग्रहालय पश्चिमी यूरोप में मोंसोरो में लवार घाटी में स्थित एक समकालीन कला संग्रहालय है। इसकी स्थापना और उद्घाटन अप्रैल 2016 में फिलिप मेाहाय द्वारा किया गया है। वर्तमान में: मोंसोरो महल-समकालिक कला संग्रहालय कला और भाषा क ...

                                               

ब्रिटिश संग्रहालय

ब्रिटिश संग्रहालय, जो ब्रिटेन की राजधानी लंदन में स्थित है, दुनिया के सब से महान मानवीय इतिहास और सभ्यता के संग्रहालयों में से एक माना जाता है। इसके स्थाई संग्रह में ८० लाख से अधिक वस्तुएँ हैं जो हर महाद्वीप से लागई हैं और मनुष्य जाति की शुरुआत स ...

                                               

यूरोपीय इतिहास भवन

यूरोपीय इतिहास भवन यूरोपियन हिस्ट्री हाउस एक संग्रहालय, सांस्कृतिक संस्था और प्रदर्शनी केंद्र है। यूरोप के इतिहास पर केंद्रित इस संग्रहालय को 6 मई 2017 को खोला गया है। यह यूरोपीय इतिहास, शैक्षिक कार्यक्रमों, सांस्कृतिक कार्यक्रमों और प्रकाशनों के ...

                                               

भारतीय संग्रहालय

भारतीय संग्रहालय भारत का सर्वश्रेष्ठ संग्रहालय है। इसमें प्राचीन वस्तुओं, युद्धसामग्री, गहने, कंकाल, ममी, जीवाश्म, तथा मुगल चित्र आदि का दुर्लभ संग्रह है। इसकी स्थापना डॉ नथानियल वालिक नामक डेनमार्क के वनस्पतिशास्त्री ने सन् १८१४ में की थी। यह एश ...