Blog पृष्ठ 320




                                               

वड़ा

वड़ा ; दक्षिण भारत का एक प्रसिद्ध व्यंजन है। इसे सांभर के संघ सांभर वड़ा, या दही के संग दही वड़ा के रूप में परोसा जाता है।

                                               

शामी कबाब

शामी कबाब एक मुगलाई पकवान है। यह भारत एवं पाकिस्तान मे बहुत प्रचलित है। शामी कबाब भारतीय उपमहाद्वीप मे खाया जाने वाले कबाब का एक खास प्रकार है. यह भारतीय, पाकिस्तानी और बांग्लादेशी ख़ान-पान शैली का एक प्रमुख अंग हैं. यह आम तौपर मसले हुए माँस कीमा ...

                                               

नून चाय

नून चाय भारत के उत्तरी क्षेत्रों में, विशेषकर जम्मू और कश्मीर क्षेत्र, में बनने वाला एक पारम्परिक चाय का पेय है। इसमें हरी चाय के लपेटे हुए पत्ते, दूध और सोडियम बाईकार्बोनेट डलता है। इस चाय की एक विशेषता यह है कि इसमें शक्कर के स्थान पर नमक डाला ...

                                               

तत्क्षण कॉफी

तत्क्षण कॉफी एक पेय पदार्थ है जो कॉफी की फलियों से प्राप्त होता है। विभिन्न निर्माण प्रक्रियाओं के द्वारा कॉफी से पानी सुखा कर इसे दानेदार पाउडर का रूप दिया जाता है। पीते समय गर्म पानी मे यह दाने मिलाये जाते हैं। यह दाने पानी में घुल जाते है और त ...

                                               

दार्जीलिंग चाय

साँचा:Infobox Tea दार्जीलिङ चाय भारत के पश्चिम बंगाल के दार्जीलिंग जिले से प्राप्त चाय को कहते हैं। यह चाय काली, हरी, सफेद तथा उलोङ रूप में उपलब्ध होती है।

                                               

बॉस्टन चाय पार्टी

बॉस्टन चाय पार्टी ब्रिटिश उपनिवेश मैसाचुसेट्स के एक उपनिवेश बॉस्टन के उपनिवेशवासियों द्वारा ब्रिटिश सरकार के खिलाफ प्रत्यक्ष कार्यवाही थी। 16 दिसम्बर 1773 को जब बॉस्टन के अधिकारियों द्वारा करयुक्त चाय के तीन जहाज़ों को ब्रिटेन को लौटने से इंकाकर ...

                                               

कामेल्या सीनेन्सीस्

चाय महत्‍वपूर्ण बागान फसल है। ग्रीन टी और ब्लैक टी एक ही पौधे से मिलती हैं। ब्लैक व ग्रीन टी में समान मात्रा में फ्लेवनायड्स पाए जाते हैं। हालांकि दोनों तरह की चाय में पाए जाने वाले अलग-अलग प्रकार के फ्लेवनायड्स मौजूद होते हैं, जिनकी कार्यप्रणाली ...

                                               

कूमीस

कूमीस घोड़ी के दूध को किण्वित करके बनाए जाने वाले मध्य एशिया के स्तेपी क्षेत्र के एक पारम्परिक पेय को कहते हैं। किण्वन की वजह से घोड़ी के दूध में प्राकृतिक रूप से मौजूद लैक्टोस चीनी की कुछ मात्रा शराब में बदल जाती है और इस प्रक्रिया में कुछ कार्ब ...

                                               

केसीन

केसीन स्तनधारी प्राणियों के दूध में पाया जानेवाली फ़ास्फोप्रोटीन है जो कैल्सियम कै सीनेट के रूप में रहता है। इसके अलावा सोयाबीन में भी केसीन पर्याप्त मात्रा में होता है। इसमें लगभग १५ ऐमीनो अम्ल पाए जाते हैं। इसका रंग सफेद से लेकर पीला तक होता है ...

                                               

खीर

खीर एक प्रकार का मिष्टान्न है जिसे चावल को दूध में पका कर बनाया जाता है। खीर को पायस भी कहा जाता है। खीर शब्द, क्षीर का अपभ्रंश रूप है। खीर मुख्यतः सीवैया, चावल आदि की बनाई जाती है विधि- खीर बनाने के लिए सर्वप्रथम कढ़ाई में घी डाला जाता है और फिर ...

                                               

दुग्ध क्रांति

दुग्ध क्रान्ति या ऑपरेशन फ्लड भारत की योजना है जिससे कि भारत में दूध की कमी को दूर किया जा सके। इसे श्वेत क्रांति भी कहते हैं। 13 जनवरी 1970 को इसकी शुुुरुवात हुई । दुग्ध कृषि Dairy farming, या डेरी उद्योग या दुग्ध उद्योग, कृषि की एक श्रेणी है। य ...

                                               

दुग्धपायन

दुग्धपान या दुग्धस्रवन या लैक्टेशन, स्तन ग्रंथि से दूध निकलने, उस दूध को बच्चे को पिलाने की प्रक्रिया तथा एक माँ द्वारा अपने बच्चे को दूध पिलाने में लगने वाले समय को वर्णित करता है। यह प्रक्रिया सभी मादा स्तनपायी प्राणियों में होती है और मनुष्यों ...

                                               

पायस

पायस एक प्रकार का मिष्ठान्न है जिसे चाँवल को दूध में पका कर बनाया जाता है। पायस को खीर भी कहा जाता है। उदाहरण श्री वाल्मीकि रामायण से "लाजान् माल्यानि शुक्लानि पायसं कृसरं तथा।"

                                               

मिल्कशेक

मिल्कशेएक मीठा, ठंडा पेयपदार्थ है, जो दूध, आइसक्रीम या बर्फीले दूध से बनाया जाता है और स्वाद और मिठास के लिए इसमें फलों का रस और चाकलेट सॉस का इस्तेमाल किया जाता है। पूर्ण सेवा प्रदान करने वाले रेस्तरां, सोडा फाउंटेन और ढाबेवाले प्रायः चम्मच से आ ...

                                               

ठर्रा

ठर्रा उत्तर भारत और पाकिस्तान में गन्ने या गेंहू से बनने वाली एक देसी शराब है जो अक्सर ग़ैर-क़ानूनी ढंग से बिना किसी पंजीकरण या अन्य प्रकार की सरकारी अनुमति के बनाई जाती है। अनौपचारिक रूप से ठर्रे को कच्ची शराब और कुत्ता मार जैसे नामों से भी बुला ...

                                               

ताड़ी

ताड़ी एक मादक पेय है जो ताड़ की विभिन्न प्रजाति के वृक्षों के रस से बनती है तथा ताड़ी अप्रैल माह से जुलाई माह तक ताड़ के पेड़ के फल से निकलता है। ताड़ी उत्तर प्रदेश, झारखण्ड एवं बिहार जो कि भारत के राज्य हैं एवं नदी समुन्द्र के तटवर्ती इलाको में ...

                                               

बियर

बियर संसार का सबसे पुराना और सर्वाधिक व्यापक रूप से खुलकर सेवन किया जाने वाला मादक पेय है। सभी पेयों के बाद यह चाय और जल के बाद तीसरा सर्वाधिक लोकप्रिय पेय है। क्योंकि बियर अधिकतर जौ के किण्वन से बनती है, इसलिए इसे भारतीय उपमहाद्वीप में जौ की शरा ...

                                               

ब्रांडी

ब्रांडी एक मद्य है जो सामान्यत: फलों के किण्वित रसों का आसवन करके से प्राप्त किया जाता है। इसमें 35 से 60% तक अल्कोहल होता है। इसे प्रायः रात्रि के भोजन के बाद ग्रहण किया जाता है।

                                               

रम

रम एक आसुत पेय है जिसे गन्ने के उपोत्पाद, शीरे और गन्ने के रस का पहले किण्वन करके और तत्पश्चात आसवन की प्रक्रिया द्वारा तैयार किया जाता है। आसुत जो एक साफ तरल होता है, को फिर लकड़ी के पीपों में भर कर कई सालों तक परिपक्व करने के लिए रख देते हैं।

                                               

व्हिस्की

व्हिस्की किण्वित अनाज मैश से आसवित एक प्रकार का मादक पेय है। इसके विभिन्न प्रकारों के लिए विभिन्न अनाजों का इस्तेमाल किया जाता है, जिसमें शामिल हैं जौ, राई, मॉल्ट राई, गेहूं और मक्का. अधिकांश व्हिस्की को सामान्यतः लकड़ी के पीपे में पुराना किया जा ...

                                               

शराब का इतिहास

शराब का इतिहास हजारों वर्ष पुराना है तथा कृषि के इतिहास एवं पश्चिमी सभ्यता से इसका गहरा सम्बन्ध है। वर्तमान समय में अंगूपर आधारित किण्वित पेय का सबसे पुराना अस्तित्व ७ हजार ईसा पूर्वष पूर्व में चीन में होना सिद्ध है।2200 isha purana hai

                                               

इडली

इडली, एक दक्षिण भारतीय व्यंजन है। यह श्वेत रंग की मुलायम और गुदगुदी, २-३ इंच के व्यास की होती है। यह चावल और उड़द की धुली दाल भिगो कर पीसे हुए, खमीर उठा कर बने हुए घोल से भाप में तैयार की जाती है। खमीर उठने के कारण बड़े स्टार्च अणु छोटे अणुओं में ...

                                               

पुरन पोली

पुरन पोली, महाराष्ट्र का प्रसिद्ध मीठा पकवान है। यह हरेक तीज त्योहार आदि के अवसरों पर बनाया जाता है। इसे आमटी के साथ खाया जाता है। गुड़ीपडवा पर्व पर इसे विशेष रूप से बनाया जाता है। पुरन पोली की मुख्य सामग्री चना दाल होती है और इसे गुड़ या शक्कर स ...

                                               

पूथरेकुलु

पूथरेकुलु एक भारतीय मिष्ठान्न है जो आंध्र प्रदेश के पूर्व गोदावरी जिले के अत्रेयपुरम गांव का प्रसिद्ध व्यंजन है। तेलुगु में पुथा मतलब परत होता है और रेकू पर्ण या चादर होता है।

                                               

पूर्णालू

पूर्णालू तेलुगु लोगों के त्यौहार का लोकप्रिय और पारम्परिक मिठाई है जिसे चावल के आटे, गुड़, दाल के पेस्ट और सूखे फल और उसके बाद घी की मदद से बनाया जाता है। यह मुख्य रूप से आंध्रप्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक और महाराष्ट्र राज्य में लोकप्रिय है। इस मिठा ...

                                               

सांभर

सांबार, दक्षिण भारतीय खाने का एक मूल व्यंजन है, जो पूरे द्रविड़ क्षेत्र में एक है। इसके अलावा श्रीलंका के खाने में भी खूब प्रचलित है। यह अरहर की दाल से बनता है। सांबार मूलत: अरहर तुवर दाल से बनता है, जिसमें विभिन्न सब्जियां भी पड़ी होती हैं और सा ...

                                               

पखाल

पखाल एक भारतीय भोजन के लिए ओडिया शब्द है, जिसमें पके हुए चावल को धोया जाता है या पानी में थोड़ा किण्वित किया जाता है। तरल भाग को तोराणी के नाम से जाना जाता है। यह ओडिशा, बंगाल, असम, झारखंड, छत्तीसगढ़ और तमिलनाडु में लोकप्रिय है । तमिलनाडु में इसे ...

                                               

रसबाली

रसाबली ओडिशा, भारत का एक मीठा व्यंजन है। रसाबली को बलराम को परसाद के रूप में चढ़ाया जाता है, और इसकी उत्पत्ति केन्द्रापडा के बलदेवजु मंदिर में हुई थी। यह जगन्नाथ मन्दिर, पुरी के चप्पन भोग में से एक है।

                                               

कंसर

कंसर गुजरात, भारत में लोकप्रिय मिठाई है, जो गुड़, घी और गेंहूँ से बनाई जाती है। मेहमानों को कंसर मिठाई परोसना गुजराती संस्कृति में सम्मान का संकेत माना जाता है, और पकवान पारंपरिक शादी समारोहों में एक अलग ही भूमिका निभाता है।

                                               

ढोकला

ढोकला एक पारम्परिक गुजराती वयंजन है। यह मुख्यत: चावल और चने के दानों का बना होता है। इसे नाश्ते में, मुख्य भोजन मे, भोजन में अलग से या फिर हल्के-फुल्के खाने की तरह खाया जा सकता है। खमन ढोकला इसका एक प्रसिद्ध अवतरण है और इसके साथ नारियल की चटनी का ...

                                               

दोसा (व्यंजन)

चावल और काले ग्राम का मिश्रण जो पानी में भिगोया गया है, एक बल्लेबाज बनाने के लिए सूक्ष्म आधार है। कुछ लोग मेथी मेथी के चावल के साथ भिगोते हैं। मसूर के चावल का अनुपात आम तौपर 4: 1 या 5: 1 होता है। बल्लेबाज को रात भर उबालने की अनुमति है। रातोंरात क ...

                                               

मद्दूर वड़ा

मद्दूर वड़ा एक प्रकार का वड़ा होता है और केवल कर्नाटक राज्य विशेष के खानपान में आता है। इस अल्पाहार का नाम कर्नाटक राज्य के मांड्या जिला के मद्दूर कस्बे से आया है। यह शहर बंगलुरु एवं मैसूर शहरों के बीच बसा हुआ है और मद्दूर वड़े इन दोनों के बीच रे ...

                                               

मैसूर पाक

मैसूर पाक, कर्नाटक का एक मीठा व्यंजन है, जिसे बहुत सारे घी, बेसन, मेवा व चीनी से बनाया जाता है। मूल रूप से इसे मसूर पाक कहा जाता था और इसे मसूर की दाल से तैयार बेसन से बनाया जाता था। इसके नाम का उद्गम संभवत: इसी मसूर दाल और पाक से हुआ है।

                                               

दाल की पूरी

दाल की पूरी को राजस्थान में छीलड़ा भी कहा जाता है। उड़द की दाल को आटे में गूँथ कर बनाई गयी यह पूरी कचौड़ी का स्वाद देती है। यह पूरियाँ बहुत जल्दी बन जाती हैं, और स्वादिष्ट होती हैं।

                                               

गन्ने का रस

गन्ने को पेरने गन्ने का रस निकलता है। दक्षिण एशिया, दक्षिण-प्प्र्व एशिया, मिस्र, लैटिन अमेरिका और ब्राजील आदि में यह पेय के रूप में प्रयुक्त होता है। गन्ने के रस से गुड़ और चीनी भी बनती है। गन्ने का रस निकालने के लिये गन्ने को छिलका निकालकर या बि ...

                                               

रूह अफ़ज़ा

रूह अफ़ज़ा: एक गैर-अल्कोहल केंद्रित स्क्वैश है। यह 1906 में गाजियाबाद, ब्रिटिश भारत में हकीम हाफिज अब्दुल मजीद द्वारा तैयार किया गया था और उनके द्वारा और उसके बेटों, हमदर्द प्रयोगशालाओं, पाकिस्तान और हमदर्द प्रयोगशालाओं, भारत द्वारा स्थापित कंपनि ...

                                               

सन्देश (मिठाई)

संदेश एक प्रकार का भारतीय पकवान है, जो छेना तथा चीनी से बनाया जाता है। सन्देश एक बंगाली मिठाई है, जो भारतीय उपमहाद्वीप के पूर्वी भाग में बंगाल क्षेत्र में बनती है, जो दूध से निकले छेना और चीनी मिलाकर बनाई जाती है। सन्देश के कुछ व्यंजनों में छेना ...

                                               

तरला दलाल

तरला दलाल भारत की एक प्रख्यात भोजन लेखिका व रसोइया थीं। इन्होंने खाना पकाने के कई कार्यक्रमों जैसे तरला दलाल शो व कुक इट अप विद् तरला दलाल की मेज़बान की थी। हालांकि यह कई प्रकार के व्यंजनों और स्वस्थ खाना पकाने की विधियों के बारे में लिखती थीं, प ...

                                               

मास्टरशेफ इंडिया कुकिंग शो ३

आम जनता को अपने साथ जोड़कर उनकी रसोई में स्वादिश्ट भोजन बनाने की क्षमता को परखने वाला मास्टर शेफ इंडिया इस बार भी एक नए जोश के साथ स्टार प्लस पर वापिस चुका है। मास्टर शेफ इंडिया सीजन 3 के लिये भारत के कई बड़े शहरों में बड़े स्तर पर ऑडीशंस चलाए गए ...

                                               

आलू मटर

आलू मटर भारतीय उपमहाद्वीप का एक पंजाबी व्यंजन है, जो मसालेदार मलाईदार टमाटर आधारित सॉस में आलू और मटर से बनाया जाता है। यह एक शाकाहारी व्यंजन है। सॉस को आमतौपर लहसुन, अदरक, प्याज, टमाटर, सीताफल, जीरा और अन्य मसालों के साथ पकाया जाता है। टेस्टी बा ...

                                               

इमली की चटनी

इमली की चटनी एक व्यंजन है, जो स्वाद में खट्टी मीठी होती है एवं जिसका संपूर्ण भारतीय उपमहाद्वीप में भोजन के साथ, उसका स्वाद बढ़ाने के लिए उपभोग किया जाता है। यह चटनी चाट को मीठा स्वाद देने में अधिकतर काम में ली जाने वाली है। आमतौपर यह रोटी, गोल गप ...

                                               

ख़ुबानी का मीठा

ख़ुबानी का मीठा हैदराबादी बिरयानी के बाद परोसने के लिए एक उपयुक्त मिठाई है। ख़ुबानी और कस्टर्ड से बनती यह एक विशिष्ठ मिठाई है। इसमें हल्के से खट्टास की महक वाली मीठी ख़ुबानी की प्युरी में इलायची और केसर जैसे भारतीय मसालों का समावेश है और इसे मलाइ ...

                                               

खीरा रायता

खीरे का रायता भारत में बनाए जाने वाली रायता रेसिपीज़ में एक विशेष स्थान रखता है। यह रायता दही को फेंट कर बनाया जाता है। दही को फेंटने के बाद उसमें खीरा, हरी मिर्च, प्याज और टमाटर छोटे-छोटे टुकड़ों में काट कर मिलाया जाता है। यह गर्मियों के महीनों ...

                                               

चंपारण मीट

चंपारण मीट जिसे आहुना, हांडी मीट या बटलोई के नाम से भी जाना जाता है। इस व्यंजन की शुरुआत बिहार के एक जिले चंपारण से हुई। इसको बनाने के लिए सबसे पहले मटन को घी सरसों का तेल प्याज, लहसुन, अदरक और मसालों के मिश्रण के पेस्ट के साथ मिलाया जाता है। इसक ...

                                               

चोखा

चोखा एक प्रकार का व्यंजन है जो प्रायः आलू या बैंगन का बनाया जाता है। यह बिहार में लिट्टी के साथ, उत्तर प्रदेश में परांठे के साथ और रजस्थान में दाल-बाट्टी के साथ सेवन किया जाता है। प्राय इसको आलू या बैंगन से बानाया जाता है।

                                               

छोले भटूरे

सूजी 100ग्राम, चीनी आधा छोटी चम्मच, मैदा 500 ग्राम, भटूरा बनाने की विधि नमक स्वादानुसार, दही आधा कटोरी, तेल - तलने के लिये बेकिंग पाउडर - 1 छोटी चम्मच, मैदा और सूजी को किसी बर्तन में छान कर निकाल लीजिये, मैदा के बीच में जगह बनाइये, 2 टेबिल स्पून ...

                                               

डबल का मीठा

डबल का मीठा एक लोकप्रिय हैदराबादी व्यंजन है जो मुगलई खाने से है। इसे घर पर बनाना बहुत ही आसान है और इसे बनाने के लिए थोड़ी ही सामग्री चाहिए जैसे कि ब्रेड, दूध, क्रीम और चीनी। इसमें केसर और इलायची का उपयोग भी अच्छा स्वाद और सुगंध के लिए हुआ है। इस ...

                                               

दक्षिण भारतीय व्यंजन

साँचा:Cuisine of India दक्षिण भारतीय व्यंजन शब्द का प्रयोग भारत के चार दक्षिणी राज्यों आंध्रप्रदेश, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु में पाए जाने वाले व्यंजन के लिए होता है।

                                               

दम पुख्त

दम पुख्त एक लखनवी व्यंजन पकाने की विधि है। मूलतः इसके द्वारा मांसाहारी व्यंजन पकाये जाते हैं। दमपुख़्त का कायदा है कि गोश्त को मसालों के साथ 4-5 घंटे तक हल्की आँच पर दम दिया जाता है में पकने दिया जाता है)। अगर लकड़ी के कोयले पर इसे पकाया जाए तो इ ...

                                               

दाबेली

दाबेली, कच्छी दाबेली या ड़बल रोटी पश्विम भारत का एक लोकप्रिय व्यंजन है। यह व्यंजन दिखने में बर्गर जैसा लगता है लेकिन इसका स्वाद खट्टा, मीठा, तीखा और नमकीन हैं। इसका उद्गम गुजरात के कच्छ जिले में हुआ था। ==इतिहास==in