Blog पृष्ठ 358




                                               

चीन बनाम फिलिपींस

चीन बनाम फिलिपींस एक मध्यस्थता का वाद था जिसे दक्षिण चीन समुद्र से सम्बन्धित कुछ मुद्दों को लेकर फिलिपींस ने समुद्री कानून पर संयुक्त राष्ट्र अभिसमय) में उठाया था। १२ जुलाई २०१६ को मध्यस्थ ने फिलिपींस के पक्ष में निर्णय दिया।

                                               

यथार्थवाद (अंतरराष्ट्रीय संबंध)

यथार्थवाद या राजनीतिक यथार्थवाद, अंतरराष्ट्रीय संबंधों के शिक्षण की शुरुआत के बाद से ही अंतरराष्ट्रीय संबंधों का प्रमुख सिद्धांत रहा है। यह सिद्धांत उन प्राचीन परम्परागत दृष्टिकोणों पर भरोसा करने का दावा करता है, जिसमें थूसीडाइड, मैकियावेली और हो ...

                                               

अन्तरराष्ट्रीय सम्बन्ध

अंतरराष्ट्रीय संबंध विभिन्न देशों के बीच संबंधों का अध्ययन है, साथ ही साथ सम्प्रभु राज्यों, अंतर-सरकारी संगठनों, अंतरराष्ट्रीय गैर सरकारी संगठनों, गैर-सरकारी संगठनों और बहुराष्ट्रीय कंपनियों की भूमिका का भी अध्ययन है। अन्तर्राष्ट्रीय सम्बन्ध को क ...

                                               

अन्तरराष्ट्रीय सहयोग परिषद्

अन्तरराष्ट्रीय सहयोग परिषद् भारत की एक अराजनीतिक, लाभ-निरपेक्ष, स्वयंसेवी संस्था है जो दुनियाभर में रह रहे भारतवंशियों और भारत के बीच वह सांस्कृतिक कड़ी है। यह उन्हें अपने पूर्वजों की मातृभूमि से जोड़कर रखती है। आज विश्व के कोने-कोने में फैले 2.5 ...

                                               

अन्तर्राष्ट्रीय संगठन

अंतर्राष्ट्रीय संगठन उन संस्थाओं को कहते हैं जिसके सदस्य, कार्यक्षेत्र तथा उपस्थिति वैश्विक स्तर पर हो। ये दो प्रकार की होती हैं- २अन्तरशासकीय संगठन Intergovernmental organizations, या international governmental organizations १ अन्तर्राष्ट्रीय अश ...

                                               

आदर्शवाद (अन्तरराष्ट्रीय सम्बन्ध)

फ्रांसीसी क्रांति व अमेरिकी क्रान्ति को अन्तरराष्ट्रीय सम्बन्धों में आदर्शवादी उपागम की प्रेरणा माना गया है। इसके प्रमुख समर्थक रहे हैं - कौण्डरसैट, वुडरो विल्सन, बटन फिल्ड, बनार्ड रसल आदि। इनके द्वारा एक आदर्श विश्व की रचना की गई है जो अहिंसा व ...

                                               

उच्च राजनीति

अंतरराष्ट्रीय संबंधों के एक उप क्षेत्र के भीतर और राजनीति विज्ञान में समग्र रूप से "उच्च राजनीति" की अवधारणा में उन सभी मामलों को शामिल किया जाता है जो कि राज्य के अस्तित्व के लिए महत्वपूर्ण हो: नामतः राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय के मुद्दे। यह अक्स ...

                                               

कांग्रेस

कांग्रेस का आशय इन सब से है। हरियाणा जनहित कांग्रेस तृणमूल कांग्रेस भारतीय युवा कांग्रेस कांग्रेस समाजवादी दल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस नेपाली कांग्रेस राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी

                                               

चीन जापान सम्बन्ध

चीन और जापान भौगोलिक रूप से पूर्वी चीन सागर द्वारा विलगित हैं। जापान के ऊपर चीन की भाषा, वास्तु, संस्कृति, धर्म, दर्शन तथा विधि से काफी प्रभाव है। १९वीं शताब्दी के मध्य में जब युनाइटेड किंगडम और संयुक्त राज्य अमेरिका आदि ने जापान को अपना व्यापार ...

                                               

तनावशैथिल्य

1962 के क्यूबा संकट के बाद संयुक्त राज्य अमेरिका और सोवियत संघ के व्यवहार में आए परितर्वनों को तनावशैथिल्य या दितान्त का नाम दिया जाता है। क्यूबा संकट के बाद शीतयुद्ध के वातावरण में कुछ नरमी आई और दोनों गुटों के मध्य व्याप्त तनाव की भावना सौहार्द ...

                                               

दक्षिण-दक्षिण सहयोग

नई अंतरराष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की स्थापना के लिए विकसित और विकासशील देशों में उत्तर-दक्षिण संवाद की शुरुआत हुई। परन्तु विकसित राष्ट्रों के अपेक्षापूर्ण व अड़ियल व्यवहार के कारण उत्तर-दक्षिण सहयोग की बार सिरे नहीं चढ़ सकी। विकाशशील देशों पर ऋणों का ...

                                               

नवउत्कृष्ट यथार्थवाद (नियोक्लासिकल यथार्थवाद)

नियोक्लासिकल यथार्थवाद विदेश नीति विश्लेषण के लिए एक दृष्टिकोण है। यह शब्द पहली बार 1998 के वर्ल्ड पॉलिटिक्स रिव्यू आर्टिकल में जिदेयोन रोज़ द्वारा गढ़ा गया, यह शास्त्रीय यथार्थवादी और नवयथार्थवाद – विशेष रूप से रक्षात्मक यथार्थवादी – सिद्धांतों ...

                                               

निम्न राजनीति

निम्न राजनीति एक ऐसी अवधारणा है जिसमें ऐसे सभी मामलों को शामिल किया गया है जो कि राज्य के अस्तित्व के लिए इतने महत्वपूर्ण नहीं हैं जितने की आर्थिक और सामाजिक मामले हैं। निम्न राजनीति राज्य के कल्याण का अनुक्षेत्र है। यह अवधारणा उच्च राजनीति की अव ...

                                               

निर्भरता का सिद्धान्त

अंतरराष्ट्रीय राजनीति में निर्भरता का सिद्धान्त यह है कि संसाधन, निर्धन एवं अल्पविकसित देशों से धनी देशों की ओर प्रवाहित होते हैं और निर्धन देशों को और गरीब करते हुए धनी देशों को और धनी बनाते हैं। निर्भरता का सिद्धान्त इस मूल मान्यता पर आधारित है ...

                                               

परमशक्ति

अन्तरराष्ट्रीय सम्बन्ध के सन्दर्भ में परमशक्ति उस राज्य को कहते हैं जो वैश्विक स्तर पर प्रभाव डालने की ऐसी क्षमता रखते हैं जो अन्य राज्यों में न हो।

                                               

पूर्व की ओर देखो (नीति)

पूर्व की ओर देखो नीति भारत द्वारा द॰ पू॰ एशिया के देशों के साथ बड़े पैमाने पर आर्थिक और सामरिक संबंधों को विस्तार देने, भारत को एक क्षेत्रीय शक्ति के रूप में स्थापित करने और इस इलाके में चीन के प्रभाव को संतुलित करने के उद्देश्यों से बनागई नीति ह ...

                                               

प्रभावक्षेत्र

अंतर्देशीय व्यवहारनुकूल कुछ समय पूर्व प्रभावक्षेत्र प्रथा मान्य थी। औपनिवेशिक शक्तियाँ पारस्परिक सुविधा के हेतु, कुछ प्रदेशों को एक देशविशेष के उपनिवेशन के लिये भविष्य में सुरक्षित मान लेतीं अर्थात् ऐसे प्रदेशों में उस देश के अतिरिक्त किसी अन्य र ...

                                               

मतभेद समाधान

शीतयुद्ध काल में संघर्ष पूर्व सोवियत संघ एवं अमेरिका के मध्य संघर्षात्मक द्वंद्व का पर्यायवाची बन गया था। दोनों के बीच संघर्ष शस्त्रों की होड़, सैन्य क्षमता का विकास, सैन्य अड्डों की स्थापना, कच्चे माल पर नियंत्रण, सहयोगियों की निरन्तर तलाश आदि प ...

                                               

महाशक्ति

महाशक्ति एक देश है जो पूर्ण विश्व में अपना प्रभाव फैला सकता है, और जो बुद्धिमान तरह से ऐसे करता है। महाशक्तियाँ के पास सैनिक और अर्थशास्त्रीय शक्ति होती है, इसके अलावा राजनायिक प्रभाव और "नम्र" शक्ति भी होनी चहिए । इन शक्तियां से छोटे शक्तियां को ...

                                               

मेकांग-गंगा सहयोग

मेकांग-गंगा सहयोग) परस्पर सहयोग करने के लिये निर्मित छः देशों का संगठन है। इसकी स्थापना १० नवम्बर २००० को विएतनाम में गयी थी। छः सहयोगी देश हैं- भारत, म्यांमार, थाईलैण्ड, कम्बोडिया, लाओस और वियतनाम इन देशों ने सहयोग के चार क्षेत्रों की पहचान की ह ...

                                               

रचनात्मकतावाद (अन्तरराष्ट्रीय सम्बन्ध)

रचनात्मकतावाद अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के अध्ययन का तीसरा दृष्टिकोण है। आदर्शवाद और यथार्थवाद के मुकाबले यह नज़रिया विश्व-राजनीति की जाँच सामाजिक धरातल पर करने की तजवीज़ करता है। रचनात्मकतावादियों का दावा है कि अंतर्राष्ट्रीय संबंधों की सही समझ केव ...

                                               

राष्ट्रीय शक्ति

अन्तरराष्ट्रीय राजनीति के सन्दर्भ में किसी राष्ट्र के पास उपलब्ध सभी संसाधनों एवं बलों के योग को राष्ट्रीय शक्ति कहते है, जो उसे राष्ट्रीय उद्देश्यों की पूर्ति के लिये आवश्यक होते हैं।

                                               

राष्ट्रीय हित

राष्ट्रीय हित से आशय किसी देश के आर्थिक, सैनिक, साम्स्कृतिक लक्ष्यों एवं महत्वाकाक्षाओं से है। राष्ट्रीय हित अंतरराष्ट्रीय राजनीति में महत्त्वपूर्ण स्थान रखता है, क्योंकि राज्यों के आपसी संबंधों को बनाने में इनकी विशेष भूमिका होती है। किसी भी राष ...

                                               

लावारिस क्षेत्र

लावारिस क्षेत्र, जिसे लातिनी भाषा में टेरा नलिस कहते हैं, ऐसे भौगोलिक क्षेत्र को कहा जाता है जिसपर किसी राष्ट्र का अधिकार न हो। ऐसे क्षेत्रों पर क़ब्ज़ा करके उन्हें किसी देश का भाग बनाया जा सकता है हालांकि वर्तमान विश्व में अधिकतर ऐसे क्षेत्रों प ...

                                               

विदेश संबंध परिषद (अमेरिका)

विदेश सम्बन्ध परिषद) संयुक्त राज्य अमेरिका की लाभनिरपेक्ष संस्था एवं थिंक टैंक है जो यूएस के विदेश नीति एवं अन्तरराष्ट्रीय सम्बन्ध के क्षेत्र में विशेष कार्य करती है।

                                               

वैश्विक प्रणाली

वैश्विक प्रणाली सिद्धान्त World-systems theory विश्व इतिहास एवं सामाजिक परिवर्तन को समझने का एक तंत्र सिद्धांत systems theory है। इसका मानना है कि सामाजिक अध्ययन के लिए पूरे विश्व को मूल ईकाई माना जाना चाहिए न कि देशों या राज्यों को।

                                               

शीतयुद्ध की उत्पत्ति

द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्रिटेन और रूस ने कंधे से कन्धा मिलाकर धूरी राष्ट्रों- जर्मनी, इटली और जापान के विरूद्ध संघर्ष किया था। किन्तु युद्ध समाप्त होते ही, एक ओर ब्रिटेन तथा संयुक्त राज्य अमेरिका तथा दूसरी ओर सोवियत सं ...

                                               

संयुक्त व्यापक कार्य योजना से संयुक्त राज्य अमेरिका की वापसी

संयुक्त राज्य अमेरिका ने 8 मई, 2018 को संयुक्त व्यापक कार्य योजना), जिसे "ईरान परमाणु सौदा" या "ईरान सौदा" के रूप में भी जाना जाता है, से बाहर आने की घोषणा की थी। JCPOA ईरान के P5+1 जिन्हे E3/EU+3 भी कहा जाता है, के साथ जुलाई 2015 में ईरान के परम ...

                                               

सामूहिक सुरक्षा

सामूहिक सुरक्षा से आशय ऐसी क्षेत्रीय या वैश्विक सुरक्षा-व्यवस्था से है जिसका प्रत्येक घटक राज्य यह स्वीकारता है कि किसी एक राज्य की सुरक्षा सभी की चिन्ता का विषय है। यह मैत्री सुरक्षा की प्रणाली से अधिक महत्वाकांक्षी प्रणाली है।

                                               

स्वेज़ संकट

सन १९५६ में पहले इज़राइल तथा बाद में ब्रिटेन और फ्रांस द्वारा मिस्पर किया गया आक्रमण स्वेज संकट कहलाता है। यह आक्रमण स्वेज नहर पर पश्चिमी देशों का नियंत्रण पुनः स्थापित करने तथा मिस्र के राष्ट्रपति नासिर को सत्ता से हटाने के उद्देश्य से किया गया ...

                                               

कनाडा के संघीय चुनाव, २०१५

2015 के कनाडियाई संघीय चुनाव अक्टूबर १९, २०१५ को बयालीसवीं कनाडियाई संसद या कनाडा की संसद के सदस्यों को चुनने के लिये आयोजित किये गये थे। चुनावों की घोषणा ४ अगस्त २०१५ को कनाडा के गवर्नर जनरल डेविड जॉन्सटन ने की थी। चुनाव प्रचार इकतालीसवीं संसद क ...

                                               

अल्फ्रेड थायर मेहैन

अल्फ्रेड थायर मेहैन एक अमेरिका नौसेना अधिकारी और इतिहासकार थे, जिसे जॉन कीगन द्वारा "उन्नीसवीं सदी के सबसे महत्वपूर्ण अमेरिकी रणनीतिकार" की उपाधि दी गई है। उनकी पुस्तक द इन्फ्लुएंस ऑफ़ सी पावर ऑन हिस्ट्री, 1660–1783 से उन्हें तत्काल अन्तर्राष्ट्र ...

                                               

शिखर सम्मेलन

full information of शिखर सम्मेलन सामान्यतः पूर्वनियोजित कार्यसूची के साथ अच्छी सुरक्षा में और देखने लायक मीडिया की देखरेख में होने वाला राष्ट्रप्रमुखों अथवा सरकार प्रमुखों का सम्मेलन होता है। दूसरे विश्व युद्ध के दौरान फ्रैंकलिन रूज़वेल्ट, विन्सट ...

                                               

सी आइ ए

सीआइए या सेन्ट्रल इन्टेलिजेन्स एजेन्सी संयुक्त राज्य अमेरिका के संघीय सरकार के अन्दर कार्य करने वाली असैनिक गुप्तचर संस्था है। इसका मुख्य कार्य सार्वजनिक नीतिनिर्माताओं के मार्गदर्शन हेतु विश्व की सरकारों, औद्योगिक संगठनों एवं व्यक्तियों के बारे ...

                                               

अंतरिक्ष विभाग

अंतरिक्ष विभाग भारत सरकार का एक विभाग है जो भारतीय अंतरिक्ष अभियानों के प्रबंधन से जुड़ा है। ये अंतरिक्ष की खोज से जुड़ी अनेक एजेंसियों और संस्थानों की भी देखरेख करता है।

                                               

केन्द्रीय प्रशासनिक अधिकरण

भारतीय संसद द्वारा 1985 में पारित प्रशासनिक न्यायाधिकरण अधिनियम, केंद्रीय प्रशासनिक न्यायाधिकरण) और राज्य प्रशासनिक न्यायाधिकरण की स्थापना के लिए केंद्र सरकार को अधिकृत करता है। केंद्रीय प्रशासनिक न्यायाधिकरण की प्रमुख पीठ दिल्ली में है। इसके अति ...

                                               

आंचलिक परिषद

आंचलिक परिषदों हैं सलाहकार समूहों जो भारत के राज्यों से बने हुए हैं। ये परिषदों राज्यों के बीच सहयोग बढ़ाने के लिए बनाया गया थे। पंच परिषदों 1956 में स्थापित हुए थे। पूर्वोत्तर आंचलिक परिषदों 1972 में स्थापित हो गया था। दक्षिणी आंचलिक परिषद: आन्ध ...

                                               

केन्द्रीय सतर्कता आयोग

भारत का केन्द्रीय सतर्कता आयोग) भारत सरकार के विभिन्न विभागों के अधिकारियों/कर्मचारियों से सम्बन्धित भ्रष्टाचार नियंत्रण की सर्वोच्च संस्था है। इसकी स्थापना सन् १९६४ में की गयी थी। इस आयोग के गठन की सिफारिश संथानम समिति द्वारा की गयी थी जिसे भ्रष ...

                                               

इंडियन टेलीफोन इंडस्ट्रीज

इंडियन टेलीफोन इंडस्ट्रीज भारत सरकार की एक इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद निर्माणी कंपनी है। भारत की प्रथम सार्वजनि‍क उद्यम ईकाई पीएसयू आईटीआई लि‍मि‍टेड १९४८ में स्थापि‍त हुई। इसके पश्‍चात्‌ दूरसंचार के क्षेत्र में इस प्रथम उद्यम कम्पनी ने वर्तमान राष्ट्रीय ...

                                               

इंडियन रेअर अर्थ्स लिमिटेड

इंडियन रेअर अर्थ्स लिमिटेड) भारत सरकार का उपक्रम है। इसका मुख्यालय मुंबई में है। 18 अगस्त 1950 को इंडियन रेअर अर्थ्स लिमिटेड आईआरईएल को भारत सरकाऔर तत्कालीन त्रावणकोर, कोचीन के संयुक्त स्वामित्व वाली एक प्राईवेट लिमिटेड कंपनी के रूप में निगमित कि ...

                                               

इंडियन वैक्‍सीन कॉर्पोरेशन लिमिटेड, गुड़गांव

इण्डियन वेक्सीन कार्पोरेशन लिमिटेड की स्थापना मार्च, 1989 में एक संयुक्त उद्यमी कम्पनी के रूप में अनुसंधान एवं विकास कार्यों तथा वायरल टीकों के विनिर्माण हेतु की गई थी। उत्पाद मिश्रण में बदलाव तथा प्रौद्योगिकी के हस्तांतरण के कारण कम्पनी फरवरी, 1 ...

                                               

इरकॉन इंटरनेशनल लिमिटेड

इरकॉन इंटरनेशनल लिमिटेड एक केन्द्रीय सार्वजनिक क्षेत्र का उद्यम है जिसकी स्थापना कम्पनी अधिनियम,1956 के अंतगर्त एक सरकारी कंपनी के रूप में की गई है। इरकॉन की स्थापना विश्‍व के विकासशील देशों को अपनी स्वयं की रेल व्यवस्था संस्थापित करने या अनुरक्ष ...

                                               

उन्नत भारत अभियान

उन्नत भारत अभियान मानव संसाधन मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा एक कार्यक्रम है, जिसे ग्रामीण क्षेत्रों के लिए बनाया गया है। इस कार्यक्रम को आईआईटी, एनआईटी आदि के साथ मिल कर बनाया गया है।

                                               

एनएचपीसी लिमिटेड

एनएचपीसी लिमिटेड वर्ष 1975 में स्थापित भारत सरकार का एक सार्वजनिक उपक्रम है। इसका उद्देश्य सभी रूपों में हाइड्रोइलैक्ट्रिक पावर के समेकित एवं दक्ष विकास की योजना बनाना तथा पर्यावरण संतुलन को ध्यान मे रखते हुए इसे विकसित और संगठित करना है। लगभग ३१ ...

                                               

एम सी ए २१

MCA21 एक भारत सरकार ई‍-गवर्नेंस कार्यक्रम है। इस वेब आधारित ई‍-गवर्नेंस कार्यक्रम से आप कम्पनी कार्य मंत्रालय द्वारा संचालित रजिस्ट्रार ऑफ कम्पनीज़ के साथ होने वाले अधिकतर कार्य अपने कम्प्यूटर से दफ्तर से या घर बैठे ही कर पायेंगे | प्रधानमत्री द् ...

                                               

एमएसटीसी लिमिटेड

एमएसटीसी लिमिटेड भारत सरकार के इस्पात मंत्रालय के अधीन मिनि रत्न श्रेणी का सर्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम है। इसकी स्थापना ९ सितम्बर १९६४ को लौह कबाड़ के निर्यात को नियंत्रित करने के उद्देश्य से की गयी थी। सन् १९७४ में यह स्टील अथारिटी ऑफ इण्डिया की ...

                                               

औद्योगिक नीति एवं संवर्धन विभाग

औद्योगिक नीति एवं संवर्धन विभाग वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन कार्यरत एक विभाग है। इसकी स्थापना १९९५ में हुई थी और २००० में इसकी पुनर्स्थापना की गई। तब इसे औद्योगिक विकास विभाग के संग विलय कर दिया गया था।

                                               

कर्मचारी चयन आयोग

कर्मचारी चयन आयोग का कार्य भारत सरकार के मंत्रालयों/विभागों, संबद्ध और अधीनस्‍थ कार्यालयों और सीएजी एवं महालेखाकारों के कार्यालयों में गैर तकनीकीय समूह ग और ख के अराजपत्रित पदों में भर्ती करना है। आयोग नीतियां तैयार करने, के लिए उत्तरदायी है जिसम ...

                                               

कृषि मंत्रालय, भारत सरकार

भारत सरकार के कृषि मंत्रालय के अधीन निम्न संस्थान एवं विभाग कार्यरत हैं। यही मंत्रालय भारत की कृषि नीति तय करता है। इस मंत्रालय के विभिन्न विभाग हैं:-

                                               

केंद्रीय आर्थिक आसूचना ब्यूरो

केंद्रीय आर्थिक आसूचना ब्यूरो) भारत की आसूचना एजेंसी है जो आर्थिक अपराधों एवं आर्थिक युद्धों से सम्बन्धित सूचना एकत्र करती है। इसकी स्थापना 1985 में में की गयी थी। यह आर्थिक अपराधों के क्षेत्र में सभी संबंधित एजेंसियों के बीच प्रभावी परस्‍पर क्रि ...