Blog पृष्ठ 396




                                               

जर्सी

जर्सी यूनाइटेड किंगडम का किरीटाधीन क्षेत्र है जो फ्रांस के समुद्र तट के किनारे स्थित है। जर्सी नॉर्मंडी का हिस्सा था जिसके राजा 1066 में इंग्लैंड के राजा भी बन गए। जर्सी एक स्वशासी संसदीय लोकतंत्र है जो कि एक संवैधानिक राजशाही के अधीन है। जर्सी य ...

                                               

वानूआतू

वानूआतू, आधिकारिक तौपर वानूआतू गणराज्य, दक्षिण प्रशांत महासागर में स्थित एक द्वीप राष्ट्र है। ज्वालामुखी मूल का यह द्वीपसमूह उत्तरी ऑस्ट्रेलिया के लगभग 1.750 किलोमीटर पूर्व, न्यू कैलेडोनिया के 500 किलोमीटर पूर्वोत्तर, फिजी के पश्चिम और न्यू गिनी ...

                                               

श्रीलंका

श्रीलंका दक्षिण एशिया में हिन्द महासागर के उत्तरी भाग में स्थित एक द्वीपीय देश है। भारत के दक्षिण में स्थित इस देश की दूरी भारत से मात्र ३१ किलोमीटर है। १९७२ तक इसका नाम सीलोन था, जिसे १९७२ में बदलकर लंका तथा १९७८ में इसके आगे सम्मानसूचक शब्द "श् ...

                                               

अल्यूत द्वीपसमूह

अल्यूत द्वीपगण उत्तरी प्रशांत महासागर में स्थित द्वीपों का समूह हैं जो अमेरिकी शासन में हैं। यहाँ पहुँचने वाला पहला यूरोपी वितुस बेरिंग था जो १७४१ में यहाँ पहुँचा था, १७९३ में रूसी यहाँ स्थापित हो गए।। सन् १८६७ तक यह पूर्णतया रूस के कब्ज़े में था ...

                                               

एस्पिरितु सान्तो द्वीप

यदि आप ब्राज़ील के इस से मिलते-जुलते नाम के राज्य पर जानकारी ढूंढ रहे हैं तो एस्पिरितो सान्तो का लेख देखें एस्पिरितु सान्तो प्रशांत महासागर के दक्षिणी भाग में स्थित वानूआतू देश का सबसे बड़ा द्वीप है। यह प्रशांत महासागर के मॅलानिशिया क्षेत्र के न् ...

                                               

माइक्रोनीशिया

यह लेख ओशिआनिया में स्थित एक भूक्षेत्र के बारे में है। अगर आप इस क्षेत्र में स्थित संघिकृत राज्य माइक्रोनीशिया नामक स्वतंत्र राष्ट्पर जानकारी ढूंढ रहे हैं तो संघिकृत राज्य माइक्रोनीशिया वाला लेख देखिए। माइक्रोनीशिया ओशिआनिया का एक उपक्षेत्र है जि ...

                                               

विति लेवु

विति लेवु, जिसका स्थानीय उच्चारण विचि लेवु है, दक्षिणी प्रशांत महासागर में स्थित फ़िजी देश व द्वीप समूह का सबसे बड़ा द्वीप है। फ़िजी की अधिकांश जनसंख्या इसी द्वीप पर रहती है और उस देश की राजधानी सूवा भी यहीं स्थित है। अधिकतर लोग तटवर्ती क्षेत्रों ...

                                               

साख़ालिन

साख़ालिन या सखालिन, जिसे जापानी में काराफ़ुतो कहते हैं, प्रशांत महासागर के उत्तरी भाग में स्थित एक बड़ा द्वीप है। यह राजनैतिक रूप से रूस के साखालिन ओब्लास्ट का हिस्सा है और साइबेरिया इलाक़े के पूर्व में पड़ता है। यह जापान के होक्काइडो द्वीप के उत ...

                                               

सैंटियागो (गैलापागोस)

सैंटियागो द्वीप जिसका अंग्रेजी नाम जेम्स है गैलापागोस द्वीपसमूह का एक द्वीप है। इसे सैन साल्वाडोर के नाम से भी जाना जाता है और यह नाम कैरेबियन सागर में कोलंबस द्वारा भोजे गये पहले द्वीप के नाम पर आधारित है। द्वीप का क्षेत्रफल 585 वर्ग किलोमीटर और ...

                                               

होक्काइदो

होक्काइदो जापान का दूसरा सब से बड़ा द्वीप है और जापान के प्रान्तों में से सब से बड़ा और सब से उत्तरी प्रांत है। यह होन्शू द्वीप से उत्तर में है और इन दोनों के बीच त्सुगारू जलडमरू का समुद्री क्षेत्र आता है। आधुनिक काल में इन दोनों द्वीपों के बीच स ...

                                               

होन्शू

होन्शू जापान का सबसे बड़ा द्वीप है। यह त्सुगारु जलडमरू के पार होक्काइदो द्वीप से दक्षिण में, सेतो भीतरी सागर के पार शिकोकू द्वीप के उत्तर में और कानमोन जलडमरू के पार क्यूशू द्वीप से पूर्वोत्तर में स्थित है। होन्शू दुनिया का सातवा सबसे बड़ा द्वीप ...

                                               

ईस्टर द्वीप

ईस्टर द्वीप ;, दक्षिणपूर्व प्रशांत महासागर में पोलिनेशियाई त्रिकोण के सबसे दक्षिणपूर्व बिंदु पर स्थित एक पोलिनेशियाई द्वीप है। चिली के इस विशेष क्षेत्र का 1888 में चिली में विलय किया गया। ईस्टर द्वीप अपनी 887 मोवाई बड़ी मूर्तियां के लिए प्रसिद्ध ...

                                               

पोलीनेशिया

पोलीनेशिया ओशिआनिया का एक उपक्षेत्र है, जिसके अन्तर्गत मध्य और दक्षिणी प्रशांत महासागर मे फैले लगभग 1000 द्वीपों का एक बड़ा समूह आता है।

                                               

फ्लोरियाना (गैलापागोस)

फ्लोरियाना द्वीप को इसका यह नाम ईक्वाडोर के पहले राष्ट्रपति जुआन जोस फ्लोरेस के नाम से मिला है जिनके शासनकाल के दौरान गैलापागोस द्वीपसमूह को ईक्वाडोर के अधिकार क्षेत्र में शामिल किया गया था। द्वीप को पहले इंग्लैंड के चार्ल्स द्वितीय के नाम पर चार ...

                                               

मॅलानिशिया

मॅलानिशिया ओशिआनिया का एक उपक्षेत्र है जो प्रशांत महासागर के पश्चिमी भाग से लेकर आराफ़ूरा सागर तक और फिर पूर्व में फ़िजी तक का इलाक़ा है। इसमें ऑस्ट्रेलिया के उत्तर और उत्तर-पूर्व के कई द्वीप शामिल हैं, जैसे के नया गिनी, फ़िजी, सोलोमन द्वीपसमूह, ...

                                               

क्रीत

क्रीत या क्रीट यूनान के द्वीपों में सब से बड़ा द्वीप है और भूमध्य सागर का पाँचवा सब से बड़ा द्वीप है। यह यूनान की आर्थिक व्यवस्था और यूनानी संस्कृति का बहुत महत्वपूर्ण अंग मन जाता है लेकिन इस द्वीप की अपनी एक अलग सांस्कृतिक पहचान भी है। आज से पाँ ...

                                               

साइप्रस

साइप्रस, आधिकारिक तौपर साइप्रस गणतंत्र पूर्वी भूमध्य सागर पर ग्रीस के पूर्व, लेबनान, सीरिया और इसराइल के पश्चिम, मिस्र के उत्तर और तुर्की के दक्षिण में स्थित एक यूरेशियन द्वीप देश है। इसकी राजधानी निकोसिया है। इसकी मुख्य- और राजभाषाएँ ग्रीक और तु ...

                                               

चागोस द्वीपसमूह

चागोस द्वीपसमूह हिंद महासागर के केन्द्रीय भाग में स्थित सात एटोलों का एक गुट है। इसके सात एटोलों में कुल मिलाकर 60 से अधिक द्वीप हैं। चागोस द्वीपसमूह मालदीव से लगभग 500 किलोमीटर दक्षिण में है। यह द्वीप चागोस-लक्षद्वीप शृंखला के सबसे दक्षिण हिस्से ...

                                               

ज़ुक़र द्वीप

ज़ुक़र द्वीप लाल सागर में स्थित एक द्वीप है जिसपर यमन का अधिकार है। यह लाल सागर को अदन की खाड़ी से जोड़ने वाली बाब अल-मन्देब जलसन्धि के पास यमन और इरित्रिया के तटों के बीच स्थित है। अफ़्रीका के पास होने के बावजूद यह एशिया के महाद्वीप का हिस्सा मा ...

                                               

रुकवान्ज़ी द्वीप

रुकवान्ज़ी द्वीप मध्य अफ़्रीका की ऐल्बर्ट झील में स्थित एक द्वीप है। इसपर युगांडा और कांगो लोकतान्त्रिक गणराज्य दोनो अपने सम्प्रभुत्व होने का दावा करते हैं। द्वीप पर लगभग १,००० मछुआरे बसे हुए हैं और इसपर वर्तमान में कांगो लोकतान्त्रिक गणराज्य का ...

                                               

हनीश द्वीपसमूह

हनीश द्वीपसमूह लाल सागर में स्थित एक द्वीपसमूह है। इसके द्वीप लाल सागर को अदन की खाड़ी से जोड़ने वाली बाब अल-मन्देब जलसन्धि के पास यमन और इरित्रिया के तटों के बीच स्थित है। अफ़्रीका के पास होने के बावजूद यह एशिया के महाद्वीप का हिस्सा माना जाता ह ...

                                               

फ़्रांज़ योसेफ़ द्वीपसमूह

फ़्रांज़ योसेफ़ भूमि या फ़्रांज़ योसेफ़ द्वीपसमूह, रूस के सुदूर उत्तर में स्थित एक द्वीपसमूह है। यह आर्कटिक महासागर में नोवाया ज़ेमल्या के उत्तर और स्वालबार्ड के पूर्व में स्थित है और अर्खांगेल्स्क ओब्लास्ट के प्रशासन के अधीन आता है। फ़्रांज़ योस ...

                                               

कोको द्वीपसमूह

अगर आप ऑस्ट्रेलिया के इस से मिलते-जुलते नाम के द्वीपों के बारे में जानकारी ढूंढ रहे हैं तो कोकोस कीलिंग द्वीपसमूह का लेख देखें कोको द्वीप बंगाल की खाड़ी में स्थित कुछ छोटे द्वीपों का समूह है जिनपर बर्मा का अधिकार है। यह बंगाल की खाड़ी और अंडमान स ...

                                               

रेयूनियों

रेयूनियों अफ्रीका में स्थित एक द्वीप है। यह हिन्द महासागर में मैडागास्कर के पूर्व में २०० किमी और मॉरीशस के दक्षिण में स्थित है। इसकी राजधानी सेण्ट डैनिस है। यह द्वीप फ्रांस का एक ओवरसीज़ विभाग है।

                                               

रॉटनेस्ट द्वीप

रॉटनेस्ट द्वीप, जिसे स्थानीय नूंगार लोग वादजेमप कहते हैं, पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया के तट से आगे हिन्द महासागर में स्थित एक द्वीप है। यह संक्षिप्त और अनौपचारिक रूप से रोट्टो भी कहलाता है। रॉटनेस्ट द्वीप फ़्रीमैन्टल से पश्चिम में १८ किमी की समुद्री दूरी ...

                                               

सुक़ुत्रा

सुक़ुत्रा या सोक़ोत्रा एक छोटा सा द्वीपसमूह है, जिसके सबसे बड़े द्वीप सुक़तरा, जिसका भू-क्षेत्र पूरे द्वीपसमूह का लगभग ९५% है, के नाम पर इस द्वीपसमूह को भी सुक़ुत्रा कहा जाता है। यह अफ़्रीका के सींग से २४० किमी पूर्व में और अरबी प्रायद्वीप से ३८० ...

                                               

सुमात्रा

सुमात्रा इंडोनिशया देश का एक द्वीप है। मलय द्वीप समूहों में यह सबसे बड़ा है और मलाया जलसंधि के ठीक पश्चिम में स्थित है। यह उन द्वीपों में सबसे बड़ा है जिस पर इंडोनेशिया का संपूर्ण राजनैतिक शासन है। इसके अतिरिक्त यह दुनिया का ६ठा सबसे बड़ा द्वीप ह ...

                                               

सुलावेसी

सुलावेसी इंडोनेशिया के बड़े सुन्दा द्वीप समूह के चार द्वीपों में से एक है और, बोर्नियो और मालूकू द्वीप के बीच स्थित है। इंडोनेशिया में केवल सुमात्रा, बोर्नियो और पापुआ ही क्षेत्र में इससे बड़े हैं और केवल जावा और सुमात्रा की आबादी ही इससे अधिक है ...

                                               

हिन्द महासागर में बिखरे द्वीप

हिन्द महासागर में बिखरे द्वीप हिन्द महासागर में स्थित चार छोटे कोरल द्वीपों, एक एटोल और एक रीफ़ का सामूहिक नाम है जिनपर फ़्रांस का नियंत्रण है और जो फ़्रांसिसी दक्षिणी व अंटार्कटिकी भूमि नामक प्रशासनिक क्षेत्र के ५वें ज़िले में आते हैं। इन द्वीपो ...

                                               

अभिकेन्द्री प्रतिरूप

अभिकेन्द्री प्रतिरुप अपवाह तन्त्र का वह रूप है जिसमें नदियां चारों तरफ से प्रवाहित होकर केन्द्र की ओर जाती हैं। यह अपकेन्द्रिय अपवाह प्रतिरुप का ठीक विपरीत रूप है।

                                               

कंटकीय प्रतिरूप

कंटकीय या हुकनुमा प्रतिरुप अपवाह तन्त्र का वह रूप है जिसमें मुख्य नदी के ऊपरी भाग में ऐसी सहायक जलधाराएं मिलती हैं जिनके प्रवाह की दिशा मुख्य नदी के विपरीत होती है। इस प्रकार के प्रतिरूप का निर्माण प्रायः सरिता अपहरण वाले क्षेत्रो मे होता है। नेप ...

                                               

जालीदार प्रतिरूप

जालीदार प्रतिरूप अपवाह तन्त्र का वह रूप है जिसका विकास संरचना में ढाल के अनुरूप विकसित प्रधान अनुवर्ति नदी तथा उसकी सहायक नदियों के प्रवाह काल द्वारा होता है। इस तरह के प्रतिरूप का विकास सामान्यतः अपनतीय कटको तथा अभिनतीय घाटियों वाली सरल वलित संर ...

                                               

कर्मनाशा

कर्मनाशा नदी झारखण्ड और बिहाऔर उत्तर प्रदेश में बहने वाली एक नदी है। इस पर राज दरी देव दरी जलप्रपात हैजिसकी उचाई ५८मी है। इसका मिथकीय इतिहास भी है। कहते हैं त्रिशंकु के स्शरीर स्वर्गारोहण की कथा से संबंधित है।इस नदी के किनारे उत्तर प्रदेश के चन्द ...

                                               

द्वारका नदी

द्वारका नदी, जो बाबला नदी भी कहलाती है, भारत के पश्चिम बंगाल और झारखण्ड राज्यों में बहने वाली एक नदी है। देऊचा, रामपुरहाट और मयूरेश्वर इसके किनारे बसे हुए हैं। यह हुगली नदी की उपनदी है।

                                               

पुनपुन नदी

पुनपुन भारत के बिहार राज्य में बहने वाली गंगा की एक सहायक नदी है। मध्य बिहार की पहाड़ियों से निकलने वाली यह नदी पटना की पूर्वी सीमा बनाती है। पुनपुन नदी झारखंड के छोटानागपुर के पठार से निकलती है। यह पलामू जिले से निकलती है।यह पटना के नजदीक फतुहा ...

                                               

फल्गू नदी

फल्गु नदी झारखण्ड के पलामू जिले से निकली हैं फल्गु नदी जहानाबाद जिले में जाकर अपना प्रवाह पूरा करती है। यह नदी बिहार में गंगा नदी में मिल जाती है फल्गु नदी पे बहुत सारे बांध है जैसे कि घोड़ा बांध, उदेरास्थान बांध। यह नदी बिहार में दरियापुर,सुकिया ...

                                               

मयूराक्षी नदी

मयूराक्षी नदी, जो मोर नदी भी कहलाती है, भारत के पश्चिम बंगाल और झारखण्ड राज्यों में बहने वाली एक नदी है। यह हुगली नदी की उपनदी है।

                                               

पम्पा नदी

पम्पा नदी भारत के केरल राज्य की तीसरी सबसे बड़ी नदी है। पेरियार भारतपुझा के बाद राज्य में तृतीय स्थान पर आती है। त्रावणकौर रजवाड़े की सबसे लम्बी नदी है। केरल का प्रसिद्ध सबरिमलय मन्दिर तीर्थ इसी नदी के तट पर स्थित है। यह पेरियार की सहायक नदी भी है।

                                               

पलार नदी

पलार नदी दक्षिण भारतीय नदी है। यह कर्नाटक में चिंतामणि के दक्षिण-पश्चिम में पोन्नैयार नदी के पास से निकलती है। दक्षिण-पूर्व दिशा में बहकर तमिलनाडु में चेन्नई के दक्षिण में बंगाल की खाड़ी में मिल जाती है। यह 295 किमी लंबी नदी है। पोन्नै और चेय्यार ...

                                               

अरब का पठार

यह एक प्रमुख पठार हैं। koe history nhi hai. "श्रेणी:चित्र जोड़ें यमन,ओमान, जॉर्डन, सऊदी अरब, सीरिया,इराक़, कुवैत देशों में विस्तृत है । यह मरुस्थलीय पठार का उदाहरण है । यह नत भ्रंश सरांचनाओ के लिए प्रसिद्ध है यह सहारा मरुस्थल का भाग माना जाता है ...

                                               

आर्मीनिया का पठार

आर्मीनिया का पठार या आर्मीनियाई ऊँचाईयाँ मध्य पूर्व का एक ऊँचा पठारी इलाक़ा है। यह मध्य पूर्व के बाक़ी दो पठारों - आनातोलिया का पठाऔर ईरान का पठार - से अधिक ऊँचा है और समुद्रतल से ३,००० फ़ुट की औसत ऊँचाई रखता है। आर्मीनियाई पठार आधुनिक आर्मीनिया, ...

                                               

तिब्बत का पठार

तिब्बत का पठार मध्य एशिया में स्थित एक ऊँचाई वाला विशाल पठार है। यह दक्षिण में हिमालय पर्वत शृंखला से लेकर उत्तर में टकलामकान रेगिस्तान तक विस्तृत है। इसमें चीन द्वारा नियंत्रित बोड स्वायत्त क्षेत्र, चिंग हई, पश्चिमी सीश्वान, दक्षिण-पश्चिमी गांसू ...

                                               

नज्द

अरबी भाषा में नज्द का मतलब ऊँचा क्षेत्र होता है और यह नाम अरबी प्रायद्वीप के बहुत से ऊँचे क्षेत्रों के लिए प्रयोग किया जाता था। लेकिन इनमें सबसे जाना-माना इस प्रायद्वीप के बीच का भूभाग है जिसके पश्चिम में हिजाज़ और येमेन के पहाड़, पूर्व में बहरीन ...

                                               

अबीसीनिया का पठार

अबीसीनिया का पठार पूर्वी अफ्रीका महाद्वीप के इथोपिया एवं सोमालिया में विस्तृत है। जुरासिक से टर्शियरी युग तक यह अनेक भूगर्भीय हलचलों से प्रभावित हुआ है । इसी के परिणामस्वरूप यहाँ पर दरार घाटी का निर्माण हुआ है। यह दरार घाटी दक्षिण में रूडोल्फ झील ...

                                               

ब्राज़ील का पठार

द०अमेरिका के मध्य पूर्वी भाग में यह पठार त्रिभजाकार रूप में स्थित है। ब्राजील के पठार पुर्तगाली: Planalto Brasileiro ब्राजील की विशाल पूर्वी हाइलैंड्स में, दक्षिण अमेरिका में स्थित है. 500 से अधिक वर्ग किलोमीटर का क्षेत्र, पठार दुनिया का सबसे बड़ ...

                                               

मंगोलिया का पठार

मंगोलिया का पठार मध्य एशिया में स्थित एक विशाल पठार इलाक़ा है जिसका कुल क्षेत्रफल लगभग २६ लाख वर्ग किलोमीटर है। आधुनिक युग में यह उत्तर में मंगोलिया और दक्षिण में चीन के भीतरी मंगोलिया राज्य के दरमियान बंटा हुआ है। इसमें गोबी रेगिस्तान और स्तेपी ...

                                               

मध्य साइबेरियाई पठार

मध्य साइबेरियाई पठार उत्तर एशिया के साइबेरिया इलाक़े में येनिसेय नदी और लेना नदी के बीच में स्थित एक पठार है। इसके अलग-अलग ऊँचाइयों वाले भिन्न हिस्से हैं। इसका कुल क्षेत्रफल ३५ लाख वर्ग किमी है। इसके उत्तर में पूतोराना पहाड़ हैं और इसके दक्षिण मे ...

                                               

लोएस पठार

लोएस पठार या हुआंगतु पठार चीन की पीली नदी के ऊपरी और मध्य भागों में ६,४०,००० किमी २ पर विस्तृत एक पठार है। लोएस एक प्रकार की बारीक़ रेतीली मिटटी को कहते हैं जिसे आँधियों ने युगों के काल में इस पठापर बिछा दिया है और इसी मिटटी से पठार का नाम आया है ...

                                               

ईमी कूसी ज्वालामुखी

ईमी कूसी ज्वालामुखी सहारा मरुस्थल का सबसे ऊँचा स्थान है जिसकी ऊँचाई ३,४१५ मीटर है। हवा के साथ बनते विशाल बालू के टीले एवं खड्ड इसकी सामान्य भू-प्रकृति बनाते हैं। यह टिबेस्टी पर्वत पर स्थित है।

                                               

के२

के२ विश्व का दूसरा सबसे ऊँचा पर्वत है। यह पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बल्तिस्तान क्षेत्र चीन द्वारा नियंत्रित शिनजिआंग प्रदेश की सीमा पर काराकोरम पर्वतमाला की बाल्तोरो मुज़ताग़ उपश्रृंखला में स्थित है। 8.611 मीटर की ऊँचाई वाली यह चोटी माउंट एवरेस ...