Blog पृष्ठ 43


                                               

सुदर्शन झील

सुदर्शन झील सौराष्ट्र में गिरिनगर से नीकलती नदी सुवर्नरेखा सुवर्णसुकता नदी पे सुदर्शन झील बना हुआ है रूद्रदामन के जूनागढ़ अभिलेख 150ईस्वी से सुदर्शन झील का निर्माण चन्र्दगुप्त मौर्य के प्रान्तीय शासक पुष्यगुप्त ने कराया था। अशोक के राज्यपाल तुशाष ...

                                               

उत्तरी अमेरिकी के दशों की सूची

उत्तर अमेरिका के चार प्रमुख देश है पहला Alaska, दूसरा कनाडा, तीसरा संयुक्त राष्ट्र अमेरिका, चौथा मैक्सिको इसके बाद अन्य 7 देश उत्तर अमेरिका के दक्षिण में है -- Belize, Guatemala, El Salvador, Honduras, Nicaragua, Costa Rica and Panama. पनामा देश ...

                                               

कपिलेश्वर महादेव

कपिलेश्वर महादेव भारत में उत्तर प्रदेश में हरदोई जिले के मल्लावाँ ब्लॉक के ग्राम गंज जलालाबाद के उत्तर में ग्राम कटिया भिखारीपुर में स्थित है,यह एक दर्शनीय शिव मंदिर है। यह शारदा नहर के किनारे पर स्थित है। यहाँ श्रावण मास में अच्छी-खासी भीड़ होती ...

                                               

जलपाश

जलपाश किसी नदी अथवा झील के जलमार्ग में, जल के विभिन्न स्तरों के बीच नौकाओं को ऊपर उठाने और नीचे उतारने की एक युक्ति है। जलपाश का खास गुण इसका स्थिर कक्ष है जिसमें जलस्तर घटाया या बढ़ाया जा सकता है। जलपाश की स्थापना उन नदियों या झीलों में की जाती ...

                                               

गोथनबर्ग

गोथनबर्ग स्वीडन के कैटेगैट जिले में स्थित एक है, जो यटा Gota नदी के तट पर मुहाने से आठ किमी भीतर स्थित है। सर्वप्रथम १६०३ ई. में चहारदीवारियों से घिरे हुए एक किले के रूप में, नगर का प्रादुर्भाव हुआ। किंतु डेनिस लोगों ने कालामार की लड़ाई में इसे न ...

                                               

सुकवाह

यह सिवनी जिले के धनोरा विकासखंड की पंचायत है। यह एक आदिवासी बाहुल्य ग्राम है। यहां के लोग कृषि पर निर्भर है। सरदार सरोवर बांध से निकली नहर इस ग्राम के कुछ भाग में सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराती है। कुछ किसान ही वर्ष में दो फसल ले पाते है। अधिकांश किस ...

                                               

जहाज महल की कहानी

इंदौर से 100 किलोमीटर दूर किनारे के पास नैतिकता नगरी के रूप में है. अधिकांश सबसे प्रसिद्ध जहाज निर्माण महल है, जिसका निर्माण खिलजी वंश के सुल्तान Giasuddin खिलजी द्वारा 1470 करवाया । यह नाम है, क्योंकि हासिल की है इस महल में अनगिनत रानियों को रखा ...

                                               

सागवान कि खेती

सागवान की खेती आज किसानों को वरदान साबित होती नजर आ रही है। आज दुनियाभर के कई किसान सागवान की खेती एक लंबे समय का फायदेमंद निवेश के रूप में अपना रहे है। मनुष्य ने अपने निजी स्वार्थ के लिए बेशुमार जंगल काट दिए। जंगलो की सफाई से हुए गंभीर परिणाम आज ...

                                               

जलावन

जलावन वह सामग्री होती है जिसका उपयोग उसे जलाकर उष्मा उत्पन्न करने के लिए किया जाता है। जलावन को दूसरे शब्दों में कार्बनिक ईंधन भी कह सकते हैं पर कोयला और तेल जैसे पदार्थ जलावन की श्रेणी में नहीं आते. जलावन मुख्यत: लकड़ी और जंगल से प्राप्त होने वा ...

                                               

नेपा लिमिटेड

नेपा लिमिटेड भारत में अखबारी कागज बनाने वाला भारत सरकार का सार्वजनिक क्षेत्र का अग्रणी उपक्रम है। यह मूलतः निजी उद्यमी द्वारा 1947 में चालू किया गया। वर्ष 1949 में मध्य प्रदेश सरकार ने प्रबंधन अपने हाथ में लिया और वर्ष 1959 में केन्द्र सरकार के अ ...

                                               

द्वि-विम समष्टि

द्वि-विम समष्टि भौतिक ब्रह्माण्ड के समतलीय प्रक्षेप का ज्यामीतिय प्रतिमान है जिसमें हम रहते हैं। दो विमाओं को सामान्यतः लम्बाई और चौड़ाई कहते हैं। दोनों दिशाएँ एक ही समतल में स्थित होती हैं। भौतिक विज्ञान और गणित में n -विमिय समष्टि में किसी बिन् ...

                                               

तरंग वक्रीय विधि

तरंग वक्रीय विधि का उपयोग आसमिका को हल करने में किय जाता है। wcm के प्रश्नो को हल करते समय एक पक्ष शून्य हो, पद गुना में हो। यदि एक पद परिमेय है तो ध्यान रहे कि हर में शून्य नहि आये । उदाहरण x-3 x-2 ≥ 0 ; x+5 x-6 ≤ 0 → x = 3, 2 ; → x= -5, 6 प्राप ...

                                               

संख्याओं की सूची

                                               

गुरुत्व विभव

गुरुत्व विभव या गुरुत्वीय विभव चिरसम्मत यांत्रिकी में उस कार्य को कहा जाता है जो किसी इकाई द्रव्यमान वाली वस्तु को प्रेक्षण बिन्दु तक लाने गुरुत्वीय बल के विरूध करना पडता है। यह विद्युत विभव के समान ही है, केवल आवेश के स्थान पर यहाँ द्रव्यमान का ...

                                               

निर्वात की प्रतिबाधा

निर्वात की प्रतिबाधा Ω {\displaystyle Z_{0}=\mu _{0}\,c=376{,}730\,313\,66757\,\Omega }. अन्य नियतांकों से सम्बन्ध Z 0 = E H = μ 0 c 0 = μ 0 ε 0 = 1 ε 0 c 0 {\displaystyle Z_{0}={\frac {E}{H}}=\mu _{0}c_{0}={\sqrt {\frac {\mu _{0}}{\varepsilon _{ ...

                                               

मूलभूत

                                               

भंजन वोल्टता

किसी अचालक की भंजन वोल्टता वह न्यूनतम वोल्टता है जिसके लगाने पर उस इन्सुलेटर का कुछ विद्युत का चालन करने लग जाता है। किसी डायोड की भंजन वोल्टता उसके कैथोड और एनोड के बीच आरोपित कथोड पर धनात्मक वह न्यूनतम वोल्टता है जिसके लगाने पर वह डायोड उल्टी द ...

                                               

आवर्ती फलन

गणित में उन फलनों को आवर्ती फलन कहते हैं जिनका मान एक नियत अन्तराल के बाद समान हो। इसके सबसे प्रमुख उदाहरण सभी त्रिकोणमितीय फलन हैं जिनका मान 2 π रेडियन के उपरान्त वही होता है जो पहले था। विज्ञान में जगह-जगह आवर्ती फलनों का उपयोग किया जता है, जैस ...

                                               

घात श्रेणी

गणित में घात श्रेणी एक अनन्त श्रेणी है जिसको निम्न रूप में लिखा जाता है: f x = ∑ n = 0 ∞ a n x − c n = a 0 + a 1 x − c 1 {\displaystyle fx=\sum _{n=0}^{\infty }a_{n}\leftx-c\right^{n}=a_{0}+a_{1}x-c^{1}} + a 2 x − c 2 + a 3 x − c 3 + ⋯ {\displays ...

                                               

द्विघात फलन

बीजगणित में, २ घात वाले बहुपद को द्विघात फलन या द्विघात बहुपद quadratic polynomial) कहते हैं। ये फलन एक, दो या बहुत से चरों के हो सकते हैं तथा इनमें सबसे अधिक घात वाला पद दो घात का होता है। उदाहरण के लिए, ३ चरों x, y, और z वाले द्विघात फलन में x ...

                                               

सीमाओं की सूची

If lim x → c f x = L 1 and lim x → c g x = L 2 then: {\displaystyle {\text{If }}\lim _{x\to c}fx=L_{1}{\text{ and }}\lim _{x\to c}gx=L_{2}{\text{ then:}}} lim x → c =L_{1}\times L_{2}} lim x → c f x g x = L 1 L 2 if L 2 ≠ 0 {\displaystyle \lim _{ ...

                                               

मरोड़

ठोस यांत्रिकी के सन्दर्भ में, किसी वस्तु पर बलाघूर्ण लगाने से उसमें जो ऐंठन उत्पन्न होती है उसे मरोड़ या विमोटन कहते हैं। इसकी ईकाई न्यूटन मीटर है। मरोड़ के कारण बलाघूर्ण के अक्ष के लम्बवत अनुच्छेदों में शीयर स्ट्रेस पैदा होता है जो त्रिज्या के ल ...

                                               

इष्टतम नियंत्रण

इष्टतम नियंत्रण, नियंत्रण की नीति निर्धारित करने की एक गणितीय इष्टतमीकरण विधि है। यह विचरण-कलन का विस्तार है जिसका विकास १९५० के दशक में लेव पोंट्रयागिन तथा रिचर्ड बेलमान ने किया था। इष्टतम नियंत्रण के अनुप्रयोग विविध क्षेत्रों में हो रहे हैं, जै ...

                                               

शाकले डायोड समीकरण

शाकले डायोड समीकरण एक समीकरण है जो आदर्श डायोड की I–V वैशिष्ट्य को प्रकट करता है। यह नाम ट्रांजिस्टर के सह-आविष्कर्ता विलियम शाकले के नाम पर रखा गया है। इस समीकरण को डायोड नियम भी कहते हैं। I = I S e V D n V T − 1 {\displaystyle I=I_{\mathrm {S} ...

                                               

अबीजीय फलन

उस फलन को अबीजीय फलन कहते हैं जो किसी बहुपदीय समीकरण को संतुष्ट नहीं कर सकता। । अबीजीय फलनों के मान f को इसके चर x के योग, घटाना, गुणन, भाग, घात एवं मूल की सीमित बीजीय संक्रियाओं के द्वारा अभिव्यक्त नहीं किया जा सकता। इसके विपरीत बीजीय फलन वे होत ...

                                               

न्यूनतम वर्ग विधि

तकनीकी रूप से कहा जाय तो न्यूनतम वर्ग की विधि किसी अतिनिश्चित तंत्र का लगभग हल निकालने के लिये उपयोग में लायी जाती है। दूसरे शब्दों में, ऐसे समीकरणों का तंत्र जहाँ समीकरणों की संख्या अज्ञात राशियों की संख्या से भी अधिक हो वहाँ यह विधि एक लगभग हल ...

                                               

प्रसामान्य बंटन

प्रायिकता सिद्धान्त में प्रसामान्य बंटन या गाउसीय बंटन वह सतत प्रायिकता बंटन है जो प्रकृति में सामान्यतः पाया जाता है। प्रसामान्य बंतन सांख्यिकी में महत्वपूर्ण है। प्राकृतिक विज्ञानों और सामाजिक विज्ञानों में इनका उपयोग वास्तविक मान वाले यादृच्छि ...

                                               

विचरण विश्लेषण

विचरण विश्लेषण विचरणो के व्यवस्थित मुल्यांकन की एक ऐसी विधि है, जिससे कार्यकुशलता मापने और निष्पादन सुधारने के लिए प्रबंध को उपयोगी सूचनाएँ उपलब्ध कराई जा सके

                                               

प्रभावी कर्य शिक्षा

प्रभावी कर्य शिक्षा के लिए महत्वपूर्ण सवाल पोछना बहुत ही आवश्यक है। सही सवाल वह होता है जो सही समय पर सही वयक्ति को दिया जाए ताकि सही जानकरी प्राप्त होसके|कर्य शिक्षा प्राप्‍त के लिए लोगों को मुख्य रूप से पूछताछ की विधि उपयोग की जाती है ना की सला ...

                                               

दर्पण परीक्षण

दर्पण परीक्षण, निशान परीक्षण या दर्पण आत्म-पहचान परीक्षण 1970 में मनोवैज्ञानिक गॉर्डोन जी॰ गैल्लप जूनियर द्वारा विकसित किया गया मनोवैज्ञानिक परीक्षण है। इसका प्रयोग यह जानने के लिए किया जाता है कि क्या किसी गैर-मानव प्राणी में आत्म-पहचान की योगयत ...

                                               

पारुरीसिस

पारुरीसिस या मूत्र-त्याग संकोच विकार, एक प्रकार का भय या फोबिया है जिसमें पीड़ित व्यक्ति दूसरों की वास्तविक या काल्पनिक उपस्थिति में पेशाब करने में असमर्थ रहता है, जैसे कि किसी सार्वजनिक मूत्रालय में। मल त्याग को प्रभावित करने वाली अनुरूप स्थिति ...

                                               

स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना

स्‍वर्ण जयंती ग्राम स्‍वरोजगार योजना स्‍वर्ण जयंती ग्राम स्‍वरोजगार योजना एसजीएसवाई बाहरी विंडो में खुलने वाली वेबसाइट ग्रामीण गरीबों को स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए एक समन्वित कार्यक्रम के रूप में पहली अप्रैल, 1999 को शुरू की गई। योजना ...

                                               

किशनपुर राष्ट्रीय उद्यान

किशनपुर दुधवा राष्ट्रीय उद्यान की ही एक शाखा है, दुधवा आधारभूत रूप से टाइगर प्रोजेक्ट योजना के अंतर्गत है। जब्कि किशनपुर सेंचुरी वन्य जीव अनुसंधान के साथ साथ, वृक्षों की नयी प्रजाति संवर्धन और आयातित बीजों के परीक्षण हेतु प्रयोग की जाती है।

                                               

प्रगति ब्राउजर

प्रगति - हिंदी ब्राउजर सी-डैक बेंगलुरु ने भारतीय भाषाओं के लिए भारतीय ओपन ऑफिस जारी किया है। इस योजना के अंतर्गत इंटेलीबँश.टचफॉक्स, प्रगति, इंडिक फॉक्स, हिंदी थेसारस, पाथ फाईन्डर तथा WiRWiB का विकास किया जा रहा है। क्या आप ऐसे ब्राउजर के साथ काम ...

                                               

नैनोमीटर

                                               

एम्पियर

एम्पीयर, लघु रूप में amp, विद्युत धारा, या विद्युत आवेश की मात्रा प्रति सैकण्ड; की इकाई है। एम्पीयर SI मूल इकाई है और इसका नाम विद्युतचुम्बकत्व को खोजने वाले वैज्ञानिक आंद्रे-मैरी एम्पीयर के नाम पर्रखा गया है।

                                               

गामा फलन

गणित में गामा फलन वास्तव में फैक्टोरियल फलन का ही व्यापक या विस्तारित रूप है। इसे ग्रीक वर्ण कैपिटल गामा द्वारा निरूपित करते हैं। यदि n धनात्मक पूर्णांक हो तो: Γ n = n − 1! {\displaystyle \Gamma n=n-1!\,} गामा फलन शून्य तथा ऋणात्मक पूर्णांकों को ...

                                               

अपरूपण गुणांक

पदार्थ विज्ञान में, अपरूपण प्रतिबल और अपरूपण विकृति के अनुपात को अपरूपण गुणांक कहते हैं। इसे G से निरूपित किया जाता है।: G = d e f τ x y γ x y = F / A Δ x / l = F l A Δ x {\displaystyle G\ {\stackrel {\mathrm {def} }{=}}\ {\frac {\tau _{xy}}{\gam ...

                                               

रंजीत कपूर

रंजीत कपूर थियेटर की दुनिया के प्रसिद्ध लेखक एवम निर्देशक हैं। हिन्दी सिनेमा में भी एक लेखक के तौपर उनका योगदान रहा है और हाल ही में उन्होने ऋषि कपूर अभिनीत हिन्दी फिल्म "चिंटू जी" का भी निर्देशन किया है। रंजीत कपूर: थियेटर के एवरेस्ट पर झण्डारोह ...

                                               

पं.राम दुलारे शर्मा

                                               

आधुनिक वास्तु

                                               

मुइज़-उद-दीन बहराम

बहराम शाह इल्तुमिश का पुत्र था । इसने अल्तूनिया व रजिया को भटिंडा दिल्ली आते वक़्त हराकर उनकी हत्या कर दी तथा सत्ता अपने हाथो ले ली । बहरामशाह ने तुर्क सरदारों के एक नए पद नायब का सृजन किया । बहरमशाह के समय में मंगोल आक्रमणकारी तायार का आक्रमण हुआ।

                                               

बेल्थरा रोड

बिल्थरारोड- बलिया जनपद मुख्यालय से करीब 65 किलोमीटर की दूरी पर स्थित एवं घाघरा नदी किनारे बसा बिल्थरारोड तहसील अत्यंत ही पिछड़ा इलाका है। बलिया जनपद का अंतिम छोर होने के साथ ही देवरिया व मऊ जनपद के सीमावर्ती इलाकों से सटा है। बलिया जनपद के रसड़ा ...

                                               

भूसुदर्शनीकरण

उन सभी कार्यों को भूसुदर्शनीकरण कहते हैं जो किसी भू-क्षेत्र के दर्शनीयता को परिवर्तित करने में सहायक होते हैं। दर्शनीयता से सम्बन्धित अवयवों में शामिल हैं- जलवायु एवं प्रकाश की स्थिति जीवित अवयव, जैसे जन्तु और वनस्पतियाँ उद्यानिकी घर, भवन, चारदीव ...

                                               

कंसट्रक्टर

रचनाकार का उपयोग वस्तु के सदस्यों को अपने सृजन के समय मूल्यों के साथ करने के लिए किया जाता है। वे स्मृति आवंटन के लिए भी उपयोग कर सकते हैं यह भी अतिभारित किया जा सकता है ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग OOP में कंस्ट्रक्टर किसी क्लास Class, अपने प् ...

                                               

समूह गतिकी

किसी एक ही समूह या विभिन्न समूहों के व्यवहार एवं उनसे सम्बन्धित मनोवैज्ञानिक प्रक्रियाओं को समूह गतिकी कहते हैं। समूह गतिकी का अध्ययन कई मामलों में बहुत लाभकारी हो सकता है, जैसे- निर्णय लेने की प्रक्रिया को समझना, किसी समाज में रोगों के फैलने को ...

                                               

बहुयंत्र

बहुयंत्र या मल्टीमशीन एक मुक्त स्रोत मशीनी औजार है जो लगभग सारे कार्य कर सकती है। इसे आमतौपर उपलब्ध हाथ औजारों का उपयोग करके कोई अर्ध-कुशल मेकैनिक भी बना सकता है और इसकी लागत बहुत कम आती है। इसके निर्माण में हाथ औजार, काऔर ट्रक के बेकार कल-पुर्जे ...

                                               

डायजो यौगिक

डायज़ो यौगिएक प्रकार के कार्बनिक यौगिक हैं जिनमें दो लिंकित नाइट्रोजन परमाणु फंक्शन समूह के रूप में होते हैं। इसका सामान्य सूत्र R 2 C=N 2 है। डायजोमीथेन एक सरलतम् डायजो-यौगिक है।

                                               

शुद्ध गतिविज्ञान

शुद्ध गतिविज्ञान शास्त्रीय यांत्रिकी की एक शाखा है जो बलों पर विचार किए बिना बिन्दुओं, पिण्डों, पिण्डों के निकायों की गति का वर्णन करती है। अध्ययन के एक क्षेत्र के रूप में शुद्ध गतिविज्ञान को प्रायः "गति की ज्यामिति" कहा जाता है और कभी-कभी इसे गण ...

                                               

वैज्ञानिक उपकरण

वैज्ञानिक उपकरण से हमारे काम आसानी से हो जाते हैं। वैज्ञानिक उपकरण किसी विज्ञान के कार्य को करने में सुविधा या सरलता या आसानी प्रदान करते हैं। यह उन वैज्ञानिक कार्यों को भी सहज से कर सकते हैं जो उनके बिना सम्भव ही नहीं होता।