Blog पृष्ठ 58




                                               

कांगो बेसिन के पिग्मी

कांगो बेसिन के पिग्मी, एक मानव प्रजाति हैं। अपनी आनुवांशिक विशेषताओं के कारण पिग्मी भी एक विशेष प्रजाति हैं। इसका निवास क्षेत्र मध्य अफ्रीका की कांगो नदी घाटी हैं। इनका औसत कद पांच फीट होती हैं। इनकी त्वचा का रंग काला, बाल घने घुमावदार होते हैं। ...

                                               

काकेसाइड या श्वेत प्रजाति

काकेसाइड या श्वेत प्रजाति, एक मानव प्रजाति हैं।लोगो की त्वचा का रंग गुलाबीपन लिए भूरा,सिर के बाल मुलायम,होठ पतले आदि शारीरिक विशेषताये पाई जाती है। इनकी उत्पति यूरोप,दक्षिण एव दक्षिण-पश्चिम एशिया एव उतरी अफ्रीका के सम्मिलित क्षेत्र से माना गया है।

                                               

खोइसान

खोईसान या खोइसान दक्षिण अफ़्रीका में रहने वाली दो अलग जातियों का सामूहिक नाम है जो खोईसान भाषाएँ बोलती हैं और अपने इर्द-गिर्द रहने वाले बहुसंख्यक बांटू भाषा बोलने वाली जातियों से भिन्न हैं। यह दो जातियाँ हैं: शिकारी-फ़रमर जीवनी बसर करने वाली सान ...

                                               

ज़ुलु लोग

ज़ुलु दक्षिण अफ़्रीका में, विशेषकर उसके क्वाज़ुलु-नाताल क्षेत्र में, बसना वाला एक मानव समुदाय है। इसके कुछ समाज पड़ोस के ज़ाम्बिया, ज़िम्बाबवे और मोज़ाम्बीक देशों में भी मिलते हैं।

                                               

नीग्रोइड्स

नीग्रोइड्स प्रजाति, एक मानव प्रजाति हैं। अनेक विद्वान इस प्रजाति को विश्व की प्रथम प्रजाति का दर्जा देतें हैं। इसका निवास क्षेत्र दक्षिणी अफ्रीका से तथा सूडान,घाना,मेलेनेशिया, फिजी,पापुआ आदि क्षेत्रों में पाया जाता हैं। यह गहरे भूरे काले रंग वाली ...

                                               

पिग्मी

पिग्मी ऐसे मानव जातीय समूह को कहते हैं जिसके सदस्यों का औसत क़द असाधारण रूप से कम हो। यह नाम अक्सर मध्य अफ़्रीका में बसने वाली छोटे क़द की जातियों को दिया जाता है, जिनमें अका, एफ़े और म्बूटी शामिल हैं। इन जातियों में पुरुषों का औसत क़द १५० सेमी स ...

                                               

बर्बर

बर्बर, उत्तरी अफ्रीका में निवास में करने वाली एक प्रमुख जनजाति हैं। बर्बर भाषाएँ बर्बर लोगों की मूल भाषाएँ हैं। मुगल शासक बाबर के अत्याचारों को ही बर्बर कहा गया है।

                                               

बलोच लोग

बलोच, बलौच या बलूच दक्षिणपश्चिमी पाकिस्तान के बलोचिस्तान प्रान्त और ईरान के सिस्तान व बलूचेस्तान प्रान्त में बसने वाली एक जाति है। यह बलोच भाषा बोलते हैं, जो ईरानी भाषा परिवार की एक सदस्य है और जिसमें अति-प्राचीन अवस्ताई भाषा की झलक मिलती है (जो ...

                                               

बुशमैन

दक्षिणी अफ्रीका का भूभाग, जिसका क्षेत्र दक्षिण अफ्रीका, जिम्बाब्वे, लेसोथो, मोजाम्बिक, स्वाज़ीलैंड, बोत्सवाना, नामीबिया और अंगोला के अधिकांश क्षेत्रों तक फैला है, के स्वदेशी लोगों को विभिन्न नाम जैसे बुशमेन, सान, थानेदार, बार्वा, कुंग, या ख्वे के ...

                                               

बोअर

बूर या बोअर, "किसान" के लिए डच और अफ़्रीकांस शब्द है। दक्षिण अफ़्रीका में इस शब्द का प्रयोग 18 वीं शताब्दी के दौरान दक्षिणी अफ्रीका में पूर्वी केप सीमा में आकर बसे डच-भाषी लोगों के वंशज को दर्शाने के लिए किया जाता था। एक लंबे समय यह क्षेत्र डच ईस ...

                                               

बोरो

बोरो, अमेजन बेसिन में निवास में करने वाली एक प्रमुख जनजाति हैं। यह जनजाति ब्राजील, पेरू और कोलंबिया में पायी जाती हें। ये कृषक के रूप मे अपना जीवनयापन करते है। इनकी त्वचा का रंग भूरा, बाल सीधे, कद मध्य्म होते है। ये लड़ाकू और निर्दय व्यवहार के लो ...

                                               

मंगोलायड प्रजाति

मंगोलायड प्रजाति, एक मानव प्रजाति हैं। इस प्रजाति का निवास केवल एशिया महाद्वीप में पाया जाता हैं। इससे सम्बन्धित लोगो की त्वचा का रंग पीला, आंख छोटी,बाल काले भूरे, शरीपर बालों की एकदम कमी और माथा चौड़ा व इनकी लम्बाई 1.66 मीटर तक होता हैं। इस प्रज ...

                                               

मसाई

मसाई दक्षिणी केन्या और उत्तरी तंजानिया में निवास कर रहे अर्द्ध-खानाबदोश लोगों का एक नीलोटिक जातीय समूह हैं। वह महान अफ्रीकी झीलों के कई खेल पार्क के पास निवास करने और विशिष्ट रीति-रीवाज और पोशाक के कारण सबसे अच्छी ज्ञात स्थानीय आबादी हैं। वह नीलो ...

                                               

माओरी

ये बस्तिया किसी समय काफी खतरे में थी जब एक सनकी आर्टिस्ट होरियातो गॉर्डोन रोबेली ने इन आदिवासी जनजाति के लोगो को माकर इनका सर को धड़ से अलग कर अपने साथ ले जाता और उनपर नक्काशी आदि करता। == भोजन == Non vegitarian

                                               

मानव प्रजातियां

प्रजाति का तात्पर्य वर्तमान मेधावी मानव की जीव वैज्ञानिक विशेषताओं के आधापर उसके उस वर्गीकरण से हैं, जिसका प्रत्येक वर्ग वंशानुक्रम के द्वारा शारीरिक लक्षणों में पर्याप्त समानता रखता हैं। किसी प्रजातिय वर्ग जिनमें सभी लोगों के बीच नस्ल या जन्मजात ...

                                               

मॅलानिशियाई लोग

मॅलानिशियाई प्रशांत महासागर के मॅलानिशिया क्षेत्र के निवासी हैं। वे पॉलिनीशिया क्षेत्र के पड़ोसी हैं लेकिन जहाँ पॉलिनीशियाई लोगों का रंग ज़रा हल्का होता है वहाँ मॅलानिशियाई लोग अधिकतर कृष्णवर्णीय होते हैं। इतिहासकारों का मानना है के मॅलानिशिया के ...

                                               

सेमांग

सेमांग, मलेशिया में निवास में करने वाली एक प्रमुख जनजाति हैं। यह जनजाति मुख्य रूप से मलेशिया के भूमध्यवर्ती क्षेत्रों में पायी जाती है। औपनिवेशिक ब्रिटिश प्रशासन के दौरान, उत्तरी मलय प्रायद्वीप में रहने वाले ओरंग असली को साकाई के रूप में वर्गीकृत ...

                                               

हाटेन्टाट

हाटेन्टाट, कालाहारी/वोत्सवाना में निवास में करने वाली एक प्रमुख जनजाति हैं। यह जनजाति ऑरेंज नदी के उत्तरी भागों में निवास करती है इसका निवास बोत्सवाना और नामीबिया में हैं यह जनजाति कालाहारी मरुस्थल के आस पास के क्षेत्रों में निवास करती है और यह ज ...

                                               

मानव जाति विज्ञान

मानव जाति विज्ञान मानव शास्त्र की एक शाखा है जो मानवों के सजातीय, नस्ली और/या राष्ट्रीय वर्गों के उद्गमों, वितरण, तकनीकी, धर्मं, भाषा तथा सामाजिक संरचना की तुलना तथा विश्लेषण करती है।

                                               

सामाजिक वर्ग

सामाजिक वर्ग समाज में आर्थिक और सांस्कृतिक व्यवस्थाओं का समूह है। समाजशास्त्रियों के लिये विश्लेषण, राजनीतिक वैज्ञानिकों, अर्थशास्त्रियों, मानवविज्ञानियों और सामाजिक इतिहासकारों आदि के लिये वर्ग एक आवश्यक वस्तु है। सामाजिक विज्ञान में, सामाजिक वर ...

                                               

आदिवासी (भारतीय)

आदिवासी शब्द दो शब्दों आदि और वासी से मिल कर बना है और इसका अर्थ मूल निवासी होता है। भारत की जनसंख्या का 8.6% जितना एक बड़ा हिस्सा आदिवासियों का है। पुरातन लेखों में आदिवासियों को अत्विका और वनवासी भी कहा गया है । महात्मा गांधी ने आदिवासियों को ग ...

                                               

आपसी सहायता

आपसी सहायता के अन्तर्गत वह व्यवहार आते हैं जो एक दूसरे के जीने में योगदान देते हैं। परन्तु ऐसे व्यवहार जो दूसरों के जीने में सहायक हैं, और प्राणी के अपने जीने की क्षमता कम करते हैं, डार्विन के उद्विकास के सिद्धांत को चुनौती देने वाले माने गए। विल ...

                                               

जनजाति

जनजाति वह सामाजिक समुदाय है जो राज्य के विकास के पूर्व अस्तित्व में था या जो अब भी राज्य के बाहर हैं। जनजाति वास्‍तव में भारत के आदिवासियों के लिए इस्‍तेमाल होने वाला एक वैधानिक पद है। भारत के संविधान में अनुसूचित जनजाति पद का प्रयोग हुआ है और इन ...

                                               

जैविक नृविज्ञान

जैविक नृविज्ञान नृविज्ञान की प्रथम एवं सर्वप्रमुख शाखा है। यह मानव का एक जैविक प्राणी के रूप में अध्ययन करता है। यह मानव की उत्पत्ति, उदविकास एवं विविध मानव समूहों के बीच मौजूद प्रजातीय विविधता का अध्ययन करता है। मानव की उत्पत्ति एवं उसके उदविकास ...

                                               

नृजातीय भाषाविज्ञान

जब से मानव वैज्ञानिक अध्ययन में भाषाविज्ञान और भाषा वैज्ञानिक विश्लेषण में मानवविज्ञान की सहायता ली जाने लगी है, मानवविज्ञानश्रित भाषाविज्ञान को एक विशिष्ट कोटि का अध्ययन माना जाने लगा है। इसमें ऐसी भाषाओं का अध्ययन किया जाता है जिनका अपना कोई लि ...

                                               

नृतत्वशास्त्र के सिद्धांत

होमोसैपियंस की उत्पत्ति, भूत से वर्तमान काल तक उनके परिवर्तन, परिवर्तन की प्रक्रिया, संरचना, मनुष्यों और उनकी निकटवर्ती जातियों के सामाजिक संगठनों के कार्य और इतिहास, मनुष्य के भौतिक और सामाजिक रूपों के प्रागैतिहासिक और मूल ऐतिहासिक पूर्ववृत्त और ...

                                               

न्यायालयिक नृविज्ञान

फॉरेंसिक नृविज्ञान एक विज्ञान का विषय है जिस में मनुष्य जाती के बारे में अध्ययन किया जाता है। न्यायालयिक नृविज्ञान के साथ ही न्यायालयिक पुरातत्व और न्यायालयिक ताफोनोमी भी आते हैं। नृविज्ञान का अर्थ है मनुष्य जाति का विज्ञान। न्यायालयिक मानवविज्ञा ...

                                               

पराप्राकृतिक संवाद

पराप्राकृतिक संवाद व्यक्ति का स्वयं, या किसी माध्यम द्वारा, चेतना की विशेष अवस्था में पराप्राकृतिक तत्वों, जैसे देवी-देवता, से मानसिक संपर्क में होने वाला अनुभव है, और इसका परिणाम ज्ञान प्राप्ति, समस्या समाधान या कोई विशेष अनुभूति देखा गया है। यह ...

                                               

प्राणवाद

एक सामान्य अवैयक्तिक शक्ति पर विश्वास प्राणवाद कहलाता है। इसे सप्राणवाद, सचेतनवाद, जीवात्मावाद आदि भी कहते हैं। उपरोक्त विश्वास के लिए एनिमेटिज्म नामक शब्द ब्रितानी नृविज्ञानशास्त्री रॉबर्ट मैरेट द्वारा प्रयुक्त हुआ था। दार्शनिक भाषा में प्राणवाद ...

                                               

भारतीय मानवविज्ञान सर्वेक्षण

भारतीय मानवविज्ञान सर्वेक्षण भारत के संस्‍कृति मंत्रालय के अंतर्गत कार्य करने वाला एक अग्रणी अनुसंधान संगठन है जो भौतिक मानवशास्त्र तथा सांस्कृतिक मानवशास्त्र के क्षेत्र में कार्यरत है।

                                               

मंगोल

मंगोल मध्य एशिया और पूर्वी एशिया में रहने वाली एक जाति है, जिसका विश्व इतिहास पर गहरा प्रभाव रहा है। भारतीय उपमहाद्वीप में इस जाति को मुग़ल के नाम से जाना जाता था, जिस से मुग़ल राजवंश का नाम भी पड़ा। आधुनिक युग में मंगोल लोग मंगोलिया, चीन और रूस ...

                                               

मनु-पशु विज्ञान

मनु-पशु विज्ञान लोक जीवविज्ञान की एक शाखा है जिसमें मानवों और पशुओं के बीच के सम्बन्ध का अध्ययन करा जाता है। यह एक अंतर्विषयक विद्या है जिसमें मानवशास्त्र, प्राणी व्यवहार, आयुर्विज्ञान, मनोविज्ञान, पशु चिकित्सा विज्ञान और प्राणी विज्ञान के मिश्रि ...

                                               

मानवमिति

मानवमिति शारीरिक नृविज्ञान का एक उपकरण है जो मानव के शारीरिक अन्तरों की पहचान करने तथा इसका उसके जातीय एवं मानोवैज्ञानिक गुणों से सम्बन्ध निकालने के लिए किया जाता है। खेल मानवमिति का उपयोग निम्नलिखित कार्यों के लिए किया जा सकता है- विविध मानवमिति ...

                                               

राष्ट्रवाद

राष्ट्रवाद लोगों के किसी समूह की उस आस्था का नाम है जिसके तहत वे ख़ुद को साझा इतिहास, परम्परा, भाषा, जातीयता या जातिवाद और संस्कृति के आधापर एकजुट मानते हैं। इन्हीं बन्धनों के कारण वे इस निष्कर्ष पर पहुँचते हैं कि उन्हें आत्म-निर्णय के आधापर अपने ...

                                               

विवाह उत्सव

विवाह उत्सव या शादी वह समारोह है जहाँ दो लोग या एक युगल वैवाहिक सम्बन्ध में जुड़ते हैं। विवाह की परंपराएँ और प्रथाएँ संस्कृतियों, संजातीय समूहों, धर्मों, देशों और सामाजिक वर्गों के बीच बहुत भिन्न होती हैं।

                                               

सिदी

सिदी या शीदि भारत और पाकिस्तान का एक मानव समुदाय है जिसका मूल अफ्रीका है। भारत में ये मुख्यतः गुजरात में रहते हैं। कर्नाटक तथा आंध्र प्रदेश में भी इनका अस्तित्व है।

                                               

सोहिनी रेए

सोहिनी रेए एक शास्त्रीय मणिपुरी नर्तका, नृत्य-शोधकर्ता और मानवविज्ञानी है और वर्तमान में लॉस एंजिल्स, संयुक्त राज्य में स्थित है।

                                               

भूटान

भूटान का राजतंत्र हिमालय पर बसा दक्षिण एशिया का एक छोटा और महत्वपूर्ण देश है। यह चीन और भारत के बीच स्थित भूमि आबद्धदेश है। इस देश का स्थानीय नाम ड्रुग युल है, जिसका अर्थ होता है अझ़दहा का देश। यह देश मुख्यतः पहाड़ी है और केवल दक्षिणी भाग में थोड ...

                                               

राजमुकुट

राजमुकुट अथवा द क्राउन, एक विशेष राजनीतिक संकल्पना है, जिसकी ब्रिटेन तथा अन्य राष्ट्रमण्डल प्रदेशों के विधीशास्त्र तथा राजतांत्रिक व्यवस्था में अतिमहत्वपूर्ण भूमिका है। इस सोच का विकास इंग्लैण्ड राज्य में सामंतवादी काल के दौरान शाब्दिक मुकुट तथा ...

                                               

राजसिंहासन

राजसिंहासन या राजगद्दी वह अधिकारिक आसन है जिस पर राजा या रानी राज्य सम्बन्धी कार्यकलापों के निष्पादन के लिये बैठते हैं। राजसिंहासन मिलने का भावार्थ यह भी है कि कोई किसी राज्य/क्षेत्र का राजा/रानी या सर्वेसर्वा बन गय।

                                               

आभ्यंतर सम्बंध

आभ्यंतर सम्बंध एक अंतर्वैयक्तिक सम्बंध है जिसमें शारिरिक या भावनात्मक अंतरंगता शामिल होती है। शारिरिक अंतरंगता की विशेषताओं में मित्रता, अफ़लातूनी स्नेह, रूमानी स्नेह या मानव संभोग हो सकते हैं। हालाँकि "आभ्यंतर सम्बंध" के प्रयोग में आम तौर से "यौ ...

                                               

जीजा

स्वयं से बड़ी बहन के पति को जीजा कहा जाता है। अक्सर जीजा जे साथ आदर सूचक शब्द जी जोडकर इसे जीजाजी कहा जाता है। भारतीय समाज में जीजा एक बहुत सम्मानजनक स्थिति रखता है।

                                               

पत्नी

पत्नी विवाहिता महिला होती है। पत्नी का विरुद्धार्थी शब्द पति होता है। पति और पत्नी मिलकर वैवाहिक जीवन को जीते हैं। गृहस्वामिनी होने से ग्रामीण भाषा में ये गृहवाली या घरवाली भी कही जाती है।

                                               

पूर्तिकर साथी

पूर्तिकर साथी को अंग्रेज़ी में बैकअप पार्टनर, स्टैंडबाई लवर और स्पेर-टायर लवर कहा जाता है। यह वह व्यक्ति होता है जिसके बारे में यह अपेक्षा होती है कि वह भविष्य का संभावित रूमानी साथी बन सकता / सकती है यदि कोई वर्तमान सम्बंध नाकाम हो जाए या अप्रत् ...

                                               

बहन

बहन एक महिला या स्त्रीलिंग सहोदर है। अगर कोई व्यक्ति किसी स्त्री को अपनी बहन कह कर संबोधित करता है तो उस महिला के एवं उस व्यक्ति के माता या पिता या दोनों एक ही हैं।

                                               

भतीजी

भतीजी एक पारिवारिक रिश्ते के लिये इस्तेमाल होने वाला शब्द है। भाई/बहन की बेटी या पुत्री को भतीजी कहते हैं। पड़-भतीजी भतीजी/भतीजा के पुत्री को कहते हैं।

                                               

भांजा

भांजा बहन के पुत्र को कहते हैं एक भतीजा एक व्यक्ति के भाई का बेटा। ऐतिहासिक रूप से, एक भतीझे अपने चाचा के विरासत के तार्किक प्राप्तकर्ता थे, अगर कोई बेटा या बेटी नही था, हालाकि कुछ उत्तरी बांग्लादेशी समाजों मे, एक भतीजे एक बेटी पर अधिकता लेता है, ...

                                               

ममेरा भाई / ममेरी बहन

किसी व्यक्ति के मामा का पुत्र अथवा पुत्री उस वयक्ति के क्रमश: ममेरा भाई और ममेरी बहन होते हैं। ममेरा शब्द की उत्पत्ति मामा से हुई है जो कि माता के भाई को कहा जाता है।

                                               

माता

माता वह है जिसके द्वारा कोई प्राणी जन्म लेता है। माता का संस्कृत मूल मातृ है। हिन्दी में इस शब्द का प्रयोग प्रायः इष्टदेवी को संबोधित करने के लिये किये जाता है, पर सामान्यरूप से माँ शब्द का प्रयोग ज्यादा होता है।

                                               

मौसेरा भाई / मौसेरी बहन

किसी व्यक्ति की मौसी का पुत्र अथवा पुत्री उस वयक्ति के क्रमश: मौसेरा भाई और मौसेरी बहन होते हैं। मौसेरा शब्द की उत्पत्ति मौसी से हुई है जो कि माता की बहन को कहा जाता है।