Blog पृष्ठ 63




                                               

भेदभाव

भेदभाव या विभेदन किसी व्यक्ति या अन्य चीज़ के पक्ष में या उस के विरुद्ध, उसके व्यक्तिगत गुणों-अवगुणों को न देखते हूए, उसके किसी वर्ग, श्रेणी या समूह का सदस्य होने के आधापर भेद करने की प्रक्रिया को कहते हैं। भेदभाव में अक्सर किसी व्यक्ति को केवल उ ...

                                               

महिला सशक्तीकरण

महिला सशक्तीकरण से जुड़े सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक और कानूनी मुद्दों पर संवेदनशीलता और सरोकार व्यक्त किया जाता है। सशक्तीकरण की प्रक्रिया में समाज को पारंपरिक पितृसत्तात्मक दृष्टिकोण के प्रति जागरूक किया जाता है, जिसने महिलाओं की स्थिति को सदैव क ...

                                               

गोरक्षकों द्वारा हिंसा

भारत में गोरक्षकों द्वारा गुंडागर्दी एक ज्वलंत सामजिक समस्या है | पिछले कुछ वर्षों में गोरक्षकों ने कई निर्दोष लोगों की हत्या कर दी है | २०१६ में गोरक्षकों द्वारा निर्दोष दलितों की पिटाई के बाद माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने गोराक्षस ...

                                               

भ्रष्टाचार (आचरण)

सार्वजनिक जीवन में स्वीकृत मूल्यों के विरुद्ध आचरण को भ्रष्ट आचरण समझा जाता है । आम जन जीवन में इसे आर्थिक अपराधों से जोड़ा जाता है।

                                               

क्लब

क्लब दो या उस से अधिक लोगों के ऐसे सामाजिक समुदाय को कहते हैं जिसके सदस्य आपस में कोई सांझी दिलचस्पी या ध्येय रखते हैं। उदाहरण के लिये किसी क्रिकेट क्लब के सदस्य सभी क्रिकेट के खेल में रुचि रखते हैं और उस से सम्बन्धित कार्यक्रम आयोजित करते हैं। य ...

                                               

चमार

चमार भारतीय उपमहाद्वीप में पाई जाने वाली जाति समूह है। वर्तमान समय में यह जाति अनुसूचित जातियों की श्रेणी में आती है। यह जाति अस्पृश्यता की कुप्रथा का शिकार भी रही है। इस जाति के लोग परंपरागत रूप से चमड़े के व्यवसाय से जुड़े रहे हैं। भारत में चमा ...

                                               

चांडाल

चांडाल भारत में व्यक्तियों का एक ऐसा वर्ग है, जिसे सामान्यत: जाति से बाहर तथा अछूत माना जाता है। यह एक प्राचीन अन्त्यज, नीच और बर्बर जाति है। इसे श्मशान पाल, डोम, अंतवासी, थाप, श्मशान कर्मी, अंत्यज, चांडालनी, पुक्कश, गवाशन, चूडा, दीवाकीर्ति, मातं ...

                                               

जाति

भारतीय समाज जातीय सामाजिक इकाइयोंआदिवासी समाज वास्तव में एक ऐसा समाज है, जिसने अपनी परम्पराएं, संस्काऔर रीति-रिवाज संरक्षित रखे है। हॉ यह बात सही है कि अपने जल, जंगल-जमीन में सिमटा यह समाज शैक्षिक आर्थिक रूप से पिछड़ा होने के कारण राष्ट्र की विका ...

                                               

भीड़

भीड़ ऐसे लोगों को कहा जाता है, जब लोग बिना किसी पंक्ति के जहाँ-तहाँ एकत्रित हो जाते हैं। जिससे अन्य लोगों के आने जाने का मार्ग अवरुद्ध हो जाता है। इस तरह के हालत कई जगह बनते हैं। जब कोई राजनीतिक रैली हो या कोई खेल प्रतियोगिता, या किसी प्रकार का म ...

                                               

अत्याधिक आत्मचेतना

अत्यधिक आत्मचेतना​ स्वयं के बारे में अत्यधिक चेतना को कहते हैं। यह साधारण आत्मबोध और आत्मचेतना से भिन्न दशा है। इसमें दूसरों द्वारा साधारण स्तर से अधिक परखे जाने या देखे जाने की अप्रिय भावना हो सकती है। मनोविज्ञान में अत्यधिक आत्मचेतना को कभी-कभी ...

                                               

व्यक्तिपरकता

व्यक्तिपरकता चेतना, वास्तविकता और सत्य के बोध से सम्बन्धित वह दार्शनिक अवधारणा है जिसमें किसी व्यक्ति या अन्य बोध करने वाले जीव को वास्तविकता वसी प्रतीत होती है जैसे उसके अपने स्वयं के गुणों द्वारा प्रभावित हो। यह वस्तुनिष्ठता के विपरीत होती है ज ...

                                               

शिथिलता

शिथिलता एक ऐसा व्यवहार है जिसे किन्हीं क्रियाओं या कार्यों को परवर्ती समय के लिए स्थगन द्वारा परिलक्ष्यित किया जाता है। मनोवैज्ञानिक प्रायः शिथिलता को किसी कार्य या फैसले के आरंभ या समाप्ति से जुड़ी चिंता के साथ मुकाबला करने की एक क्रियाविधि के र ...

                                               

ओड़िसी

ओड़िसी ओडिशाप्रांत भारत की एक शास्त्रीय नृत्य शैली है। अद्यतन काल में गुरु केलुचरण महापात्र ने इसका पुनर्विस्तार किया। ओडिसी नृत्य को पुरातात्विक साक्ष्यों के आधापर सबसे पुराने जीवित नृत्य रूपों में से एक माना जाता है। इसका जन्म मन्दिर में नृत्य ...

                                               

कोहबर

कोहबर भारत के झारखंड की लोककला है। कोहबर चित्रकला में नैसर्गिक रंगों का प्रयोग होता है, मसलन लाल, काला, पीला, सफेद रंग पेड़ की छाल व मिट्टी से बनाए जाते हैं। सफेद रंग के लिए दूधी मिट्टी का प्रयोग किया जाता है। काला रंग भेलवा पेड़ के बीज को पिस कर ...

                                               

मागे पर्ब

मागे पर्व अथवा मागे पोरोब झारखण्ड के आदिवासी "हो" नामक समुदाय के लोगों का पारंपरिक पर्व है। यह त्यौहार माघ महीने की पूर्णिमा को मनाया जाता है।जो आदि धर्म व संस्कृति एंव मानव उत्पत्ति यानी सृष्टि रचना पर्व है। "मागे"शब्द का अर्थ माता होता है। इस त ...

                                               

गीज़ा क़ब्रिस्तान

गीज़ा क़ब्रिस्तान काहिरा, मिस्र के बाहरी इलाके में, गीज़ा के पठापर एक पुरातात्विक स्थल है। प्राचीन स्मारकों के इस परिसर में महान पिरामिड के रूप में जाना जाता है तीन पिरामिड परिसरों में शामिल हैं, ग्रेट स्फिंक्स के रूप में जाना जाता विशाल मूर्ति, ...

                                               

पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र

;पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र, उदयपुर- West Zone Cultural Centre Udaipur भारत सरकार के मानव संसाधन मंत्रालय के संस्कृति विभाग के अन्तर्गत एक महत्वाकांक्षी परियोजना कें अंतर्गत 1985-86 में निम्नांकित सात क्षेत्रीय सांस्कृतिक केंद्र स्थापित किग ...

                                               

विश्व धरोहर

युनेस्को विश्व विरासत स्थल ऐसे खास स्थानों को कहा जाता है, जो विश्व विरासत स्थल समिति द्वारा चयनित होते हैं; और यही समिति इन स्थलों की देखरेख युनेस्को के तत्वाधान में करती है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य विश्व के ऐसे स्थलों को चयनित एवं संरक्षित करन ...

                                               

विश्व धरोहर समिति

विश्व धरोहर समिति, उन स्थलों का चयन करती है जिन्हें यूनेस्को के विश्व धरोहर स्थलों के रूप में सूचीबद्ध किया जा सकता है। यह विश्व धरोहर कन्वेंशन के कार्यान्वयन के लिए जिम्मेदार है, विश्व धरोहर कोष के इस्तेमाल को परिभाषित करता है और राष्ट्र दलों से ...

                                               

अंधविश्वास

आदिम मनुष्य अनेक क्रियाओं और घटनाओं के कारणों को नहीं जान पाता था। वह अज्ञानवश समझता था कि इनके पीछे कोई अदृश्य शक्ति है। वर्षा, बिजली, रोग, भूकंप, वृक्षपात, विपत्ति आदि अज्ञात तथा अज्ञेय देव, भूत, प्रेत और पिशाचों के प्रकोप के परिणाम माने जाते थ ...

                                               

परामनोविज्ञान

परामनोविज्ञान एक विवादास्पद विधा है जो वैज्ञानिक विधि का उपयोग करते हुए इस बात की जाँच-परख करने का प्रयत्न करती है कि मृत्यु के बाद भी मनोवैज्ञानिक क्षमताओं का अस्तित्व रहता है या नहीं। परामनोविज्ञान का संबंध मनुष्य की उन अधिसामान्य शक्तियों से ह ...

                                               

फलित ज्योतिष

फलित ज्योतिष उस विद्या को कहते हैं जिसमें मनुष्य तथा पृथ्वी पर, ग्रहों और तारों के शुभ तथा अशुभ प्रभावों का अध्ययन किया जाता है। ज्योतिष शब्द का यौगिक अर्थ ग्रह तथा नक्षत्रों से संबंध रखनेवाली विद्या है। इस शब्द से यद्यपि गणित ज्योतिष का भी बोध ह ...

                                               

अर्थ अवर

अर्थ अवर एक वैश्विक आन्दोलन है। इस आन्दोलन के अंतर्गत विश्वभर के ऊर्जा मामलों पर चिंतित व्यक्ति हर वर्ष 28/ मार्च को स्थानीय समय के अनुसार शाम साढ़े आठ से साढ़े नौ बजे तक घर, मोहल्ले, दफ़तरों और अन्य स्थानों पर विद्युत का प्रयोग बन्द करके केवल मो ...

                                               

ग्रीनपीस

ग्रीनपीस पर्यावरण चेतना का विश्वव्यापी आन्दोलन है। इसकी स्थापना सन १९७१ में कनाडा के वैनकूवर में हुई थी। तात्कालिक रूप से यह अमेरिका द्वारा अलास्का में नाभीकीय हथियारों के परीक्षण का विरोध करने के लिये बनी थी किन्तु बाद में इसका उद्देश्य व्यापक र ...

                                               

बचपन बचाओ आन्दोलन

बचपन बचाओ आंदोलन भारत में एक आन्दोलन हैं जो बच्चो के हित और अधिकारों के लिए कार्य करता हैं। वर्ष 1980 में "बचपन बचाओ आंदोलन" की शुरुआत कैलाश सत्यार्थी ने की थी जो अब तक 80 हजार से अधिक मासूमों के जीवन को तबाह होने से बचा चुके हैं। बाल मजदूरी कुप् ...

                                               

भारत के सामाजिक आन्दोलन

भारत में स्वतंत्रता के बाद १९७० के दशक से सामाजिक आन्दोलनों की शुरुवात देखने को मिली। नर्मदा बचाओ आन्दोलन चिपको आन्दोलन सम्पूर्ण क्रान्ति स्वाध्याय आन्दोलन अन्ना आन्दोलन छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा

                                               

राजनैतिक आन्दोलन

उस सामाजिक आन्दोलन को राजनैतिक आन्दोलन कहते हैं जिसका क्षेत्और स्वरूप राजनीति हो। राजनैतिक आंदोलन किसी एक मुद्दे को लेकर चलाये जा सकते हैं या बहुत से मुद्दों को लेकर। राजनैतिक दल और राजनैतिक आन्दोलन में अन्तर यह है कि राजनैतिक आन्दोलन अपने सदस्यो ...

                                               

हरिजन आन्दोलन

हिंदू समाज में जिन जातियों या वर्गों के साथ अस्पृश्यता का व्यवहार किया जाता था और आज भी कुछ हद तक वैसा ही विषम व्यवहार कहीं कहीं पर सुनने और देखने में आता है, उनको अस्पृश्य, अंत्यज या दलित नाम से पुकारते थे। यह देखकर कि ये सारे ही नाम अपमानजनक है ...

                                               

चूड़ामणि

चूड़ामणि स्त्रियों के पहनने का एक आभूषण होता है मंथन से चौदह रत्न निकले, उसी समय सागर से दो देवियों का जन्म हुआ – १– रत्नाकर नन्दिनी २– महालक्ष्मी रत्नाकर नन्दिनी ने अपना तन मन श्री हरि को देखते ही समर्पित कर दिया! जब उनसे मिलने के लिए आगे बढीं त ...

                                               

आग़ा ख़ान सांस्कृतिक ट्रस्ट

आगा खान सांस्कृतिक ट्रस्ट आगा खां डवलपमेंट नेटवर्क के अधीन एक संस्था है। ये संस्था मुस्लिम समाज की इमारतों व समुदायों के भौतिक, सामाजिक, सांस्कृतिक एवं आर्थिक सुधार हेतु कार्यरत है। इस संस्था की स्थापना १९८८ में हुई व पंजीकरण जेनेवा में हुआ था। य ...

                                               

ग़रारा

ग़रारा उत्तरी भारत के हिन्दी बोलने वाले क्षेत्रों की मुसलमान औरतों द्वारा पहना जाने वाला एक रिवायती लखनवी लिबास है। यह लिबास कुर्ती, दुपट्टा और चौड़े पैंटों से बना हुआ है। घुटने के क्षेत्र, जिसे गोटा कहा जाता है, अक्सर ज़री और ज़रदोज़ी की कढ़ाई स ...

                                               

चेहलोम

चेहलोम या अरबीन, चेहोलम किंवा क्यूरीसी, इमामीनिन किरीर्सी एक शिया मुस्लिम धार्मिक अनुष्ठान है जो आशुरा के दिन के 40 दिनों बाद होता है। यह इस्लामिक पैगंबर हज़रत मुहम्मद सहाब के नबासे हज़रत हुसैन इब्न अली की शहीद की याद दिलाता है, जो मुहर्रम के मही ...

                                               

निकाह

निकाह इस्लाम में निकाह एक शादी का क़ानूनी अनुबंध है। वधू और वधुवर के बीच शरिया के अनुसार अनुबंध। या दूल्हे और दुल्हन के बीच एक क़रार नामा है। इस निकाह के लिये दोनों की अनुमती होना ज़रूरी है। दुल्हे को चाहिये कि निकाह का शुल्क जिसे "महर" कहा जाता ...

                                               

निकाह हलाला

इस्लाम में औरत को तीन तलाक़ देने के बाद दोबारा उसी औरत से विवाह करने की प्रक्रिया को निकाह हलाला 23कहते हैं। यह विवाह मुख्य रूप से सुन्नी मुसलमानों के कुछ संप्रदायों द्वारा किया जाता है क्योंकि शरिया के मुताबिक अगर किसी पुरुष ने औरत को तीन तलाक द ...

                                               

मिसवाक

पीलू या मिसवाएक वृक्ष है। इसकी टहनियों की दातून मुस्लिम संस्कृति में बहुत प्रचलित है। मिस्वाक की लकड़ी में नमक और खास क़िस्म का रेजिन पाया है जो दातों में चमक पैदा करता है। मिसवाक करने से जब इस की एक तह दातों पर जम जाती है तो कीड़े आदि से दन्त सु ...

                                               

हम्द

हम्द, अंग्रेजी में "स्तुति", एक शब्द है जो विशेष रूप से भगवान की प्रशंसा करता है - चाहे लिखा हो या बोला गया हो। इस प्रकार, "हम्द" शब्द का पालन हमेशा भगवान के नाम से किया जाता है - एक मुहावरा जिसे तहमीद के रूप में जाना जाता है - "अलमदुलिल्लह" । शब ...

                                               

जयपुर साहित्य उत्सव

जयपुर साहित्य उत्सव वार्षिक उत्सव है। यह उत्सव जयपुर में प्रत्येक वर्ष आयोजित होता है। अगले उत्सव का आयोजन 21 से 25जनवरी 2015 को डिग्गी पैलेस होटल में होगा।

                                               

परेड

परेड या मार्च एक प्रकार का जुलूस होता है जिसमें चलने वाले अक्सर किसी विशेष वेशभूषा में संगठित ढंग से चलते हैं। भारतीय उपमहाद्वीप व ब्रिटेन में परेड आमतौपर सैनिक दस्तों के जुलूस को ही कहते हैं, हलांकि यह ग़ैर-सैनिक लोगों की चाल को भी कहा जा सकता ह ...

                                               

पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन

पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन दक्षिणी एशिया और पूर्वी एशिया के कुछ देशों का मंच है। प्रारम्भ में इसमें १६ देश सम्मिलित हुए। वर्ष २०११ के छठे सम्मेलन में संयुक्त राज्य अमेरिका और रूस भी सम्मिलित हो गए। इस प्रकार इस मंच में १८ देश सम्मिलित है। इस मंच क ...

                                               

भारत-अफ्रीका मंच शिखर सम्मेलन

भारत-अफ्रीका मंच शिखर सम्मेलन अफ्रीकी-भारतीय संबंधों के लिए आधिकारिक मंच है। यह मंच तीन वर्ष के अंतराल पर अपना अम्मेलन करता है। यह मंच सभी महत्वपूर्ण समस्याओं पर विचार करता है। २५ मार्च २०१५ को भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने २६ अक्टूबर २०१ ...

                                               

विश्व हिंदी सम्मेलनों की सूची

प्रतिनिधियों की संख्या:2000 प्रतिभागी देश:27 स्थान:भोपाल,भारत उद्घाटन द्वारा:नरेंद्र मोदी,प्रधान मंत्री, भारत अवधि:10-12 सितम्बर 2015

                                               

अभिस्वीकृति

रचनात्मक कला और वैज्ञानिक साहित्य में, एक अभिस्वीकृति, मूल काम में सहायता करने के लिए एक आभार की अभिव्यक्ति है। प्राधिकरण के बजाय अभिस्वीकृति के माध्यम से क्रेडिट प्राप्त करना इंगित करता है कि व्यक्ति या संगठन का काम में सवाल पैदा करने में सीधा ह ...

                                               

आनन्‍द केंटिश कुमारस्‍वामी

इनका जन्म कोलुपित्या, कोलंबो श्रीलंका में 22 अगस्त 1877 को हुआ था। उनके पिता सर मुतु कुमारस्वामी प्रथन हिंदू थे जिन्होंने 1863 ई. में इंग्लैंड से बैरिस्टरी पास की थी। वे पालि के विद्वान थे। उन्होने मिस एलिजाबेथ क्ले नामक अंग्रेज महिला से विवाह कि ...

                                               

उत्कीर्णन

लकड़ी, हाथीदाँत, पत्थर आदि को गढ़ छीलकर अलंकृत करने या मूर्ति बनाने को उत्कीर्णन या नक्काशी करना कहते हैं। यहाँ काष्ठ उत्कीर्णन पर प्राविधिक दृष्टिकोण से विचार किया गया है। उत्कीर्णन के लिए लकड़ी को सावधानी से सूखने देना चाहिए। एक रीति यह है कि न ...

                                               

उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार

उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी यह उत्तर प्रदेश राज्य सरकार के अंतर्गत संस्कृति विभाग की प्रमुख शाखा है। उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादेमी प्रत्येक वर्ष कला व साहित्य में उत्कृष्ट कार्य करने वाले को अकादेमी पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है।

                                               

एलोरा गुफाएं

एलोरा या एल्लोरा एक पुरातात्विक स्थल है, जो भारत में औरंगाबाद, महाराष्ट्र से 30 कि॰मि॰ की दूरी पर स्थित है। इन्हें राष्ट्रकूट वंश के शासकों द्वारा बनवाया गया था। अपनी स्मारक गुफाओं के लिए प्रसिद्ध, एलोरा युनेस्को द्वारा घोषित एक विश्व धरोहर स्थल ...

                                               

कला

कला शब्द इतना व्यापक है कि विभिन्न विद्वानों की परिभाषाएँ केवल एक विशेष पक्ष को छूकर रह जाती हैं। कला का अर्थ अभी तक निश्चित नहीं हो पाया है, यद्यपि इसकी हजारों परिभाषाएँ की गयी हैं। भारतीय परम्परा के अनुसार कला उन सारी क्रियाओं को कहते हैं जिनमे ...

                                               

कांस्य कला

काँसा बनाना मनुष्य ने कैसे सीखा, यह कहना कठिन है। कदाचित्‌ ताँबा गलाने के समय उसके साथ मिली हुई खोट के गल जाने के कारण यह अकस्मात्‌ बन गया होगा क्योंकि काँसे की वस्तुएँ तो सुमेर, मिस्र, ईरान, भारत, चीन के प्रागैतिहासिक युग के सभी स्थानों से प्राप ...

                                               

कलाकृति

कलाकृति ऐसी भौतिक वस्तु को कहते हैं जिनका कला या सौन्दर्य की दृष्टि से मूल्य हो। यह आमतौपर मानव-कृत होती हैं। चित्रकला, शिल्पकला, आभूषण, आंतरिक डिज़ाइन की वस्तुएँ, इत्यादि सभी कलाकृति के उदाहरण हैं।

                                               

कलावाद

कलावाद कला कला के लिए मान्यता पर आधारित कला के प्रति एक दृष्टिकोणविशेष जिसे लेकर 19वीं शताब्दी के दौरान यूरोप में व्यापक वादविवाद छिड़ गया था। कलावाद को साहित्य एवं कला के क्षेत्र में उपयोगितावाद के विलोम के रूप में जाना जाता है। इस सिद्धांत का प ...