Blog पृष्ठ 88




                                               

फ्रेड्रिक रेटजेल

फ्रेड्रिक रेटजेल एक प्रमुख भूगोलवेत्ता थे। उनका जन्म कार्ल शू नगर में प्रशिया में हुवा। उन्होंने १८६९ में सर्वप्रथम डार्विन के विकासवादी ग्रन्थ की समालोचना प्रस्तुत की। तब से जीवन-प्रयन्त उन्होंने जीव-विज्ञान, भू-विज्ञान, भौतिक, मानव एवं राजनीतिक ...

                                               

विलियम मॉरिस डेविस

विलियम मॉरिस डेविस अमरीकी भूगोलवेत्ता तथा भूवैज्ञानिक थे। डेविस ने भू-आकृतिविज्ञान के क्षेत्र में गवेषणाओं और सिद्धान्तों पर कई पुस्तकें तथा कई सौ शोधपत्र लिखे थे। वह अपरदनचक्र के सिद्धान्त का जन्मदाता था। विलियम मॉरिस डेविस का जन्म संयुक्त राज्य ...

                                               

होमर

होमर यूनान के ऐसे प्राचीनतम कवियों में से हैं जिनकी रचनाएँ आज भी उपलब्ध हैं और जो बहुमत से यूरोप के सबसे महान कवि स्वीकार किए जाते हैं। वे अपने समय की सभ्यता तथा संस्कृति की अभिव्यक्ति का प्रबल माध्यम माने जाते हैं। अन्धे होने के बावजूद उन्होंने ...

                                               

चौक

चौक पारम्परिक शहरों में ऐसे खुले क्षेत्र को कहते हैं जहाँ लोग सम्मिलित हो सकें। अक्सर चौक के किनारों पर खाने-पीने, वस्त्रों और अन्य चीज़ों की कई छोटी दुकानें होती हैं। कभी-कभी चौकों के बीच में फुव्वारे, कुएँ, मूर्तियाँ या अन्य निर्माण होते हैं। प ...

                                               

प्राकृतिक दृश्य

प्राकृतिक दृश्य भूमि के किसी एक हिस्से की सुस्पष्ट विशेषताएं हैं, जिनमें इसके प्राकृतिक स्वरूपों के भौतिक तत्त्व, जल निकाय जैसे कि नदियाँ, झीलें एवं समुद्र, प्राकृतिक रूप से उगनेवाली वनस्पतियों सहित धरती पर रहने वाले जीव-जंतु, मिट्टी से बनी उपयोग ...

                                               

भूदृश्य

भूदृश्य किसी स्थान की दिखने वाली विशेषताओं और लक्षणों को कहते हैं। इसमें ज़मीन के किसी टुकड़े के कई गुण सम्मिलित हैं, मसलन पेड़-पौधे, पहाड़-ढलाने, नदियाँ, झील-तालाब, मैदान, घर, ईमारतें व अन्य निर्माण, समुद्र, इत्यादि। कभी-कभी इसमें मौसम के अस्थाई ...

                                               

भौगोलिक सूचना तंत्र के सॉफ्टवेयरों की सूची

यहाँ पर भौगोलिक सूचना तंत्र से संबन्धित विविध साफ्टवेयरों की सूची है। ये सॉफ्टवेयर भांति-भांति के होते हैं किन्तु सबमें आंकिक मानचित्र एवं भौगोलिक निर्देशांक का मिश्रण होता है।

                                               

आर्द्रभूमि

आर्द्रभूमि ऐसा भूभाग होता है जहाँ के पारितंत्र का बड़ा हिस्सा स्थाई रूप से या प्रतिवर्ष किसी मौसम में जल से संतृप्त हो या उसमें डूबा रहे। ऐसे क्षेत्रों में जलीय पौधों का बाहुल्य रहता है और यही आर्द्रभूमियों को परिभाषित करता है। जैवविविधता की दृष् ...

                                               

उन्नतांश

उन्नतांश प्रयोग किये जाने वाले संदर्भ के आधापर परिभाषित किया जाता है। ये संदर्भ हैं उड्डयन, ज्यामिति, भौगोलिक सर्वेक्षण, खेल या अन्य कोई संदर्भ। प्रायः प्रयुक्त सामान्य परिभाषा अनुसार उन्नतांश या ऊंचाई उपरि दिशा में नापी गई दूरी होती है। यह दूरी ...

                                               

ऊँचाई (विमानन)

ऊँचाई किसी बिंदु या वस्तु का समुद्र तट से उत्थापन होता है। विमानन में यह फ़ीट में नापा जाता है। वातावरण दबाव ऊँचाई बढ़ने के साथ घटता है। यही सिद्धांत ऊँचाई नापने वाले उपकरण अल्टीमीटर में प्रयोग होता है। यह मूलतः एक बैरोमीटर होत है, यानी दबाव मापी ...

                                               

चतुर्थ कल्प

तृतीय कल्प के अंतिम चरण में पृथ्वी पर अनेक भौगोलिक एवं भौमिकीय परिवर्तन मिलते हैं, जिनसे एक नए युग का प्रादुर्भाव होना निश्चित हो जाता है। इन्हीं परिवर्तनों के आधापर डेसनोआर ने 1829 ई. में चतुर्थ कल्प की कल्पना की। यद्यपि अब भूशास्त्रवेत्ताओं का ...

                                               

जलसम्भर

जलसंभर या द्रोणी उस भौगोलिक क्षेत्र को कहते हैं जहाँ वर्षा अथवा पिघलती बर्फ़ का पानी नदियों, नहरों और नालों से बह कर एक ही स्थान पर एकत्रित हो जाता है। उस स्थान से या तो एक ही बड़ी नदी में पानी जलसंभर क्षेत्र से निकास कर के आगे बह जाता है, या फिर ...

                                               

टुण्ड्रा

भौतिक भूगोल में, टुण्ड्रा एक बायोम है जहां वृक्षों की वृद्धि कम तापमान और बढ़ने के अपेक्षाकृत छोटे मौसम के कारण प्रभावित होती है। टुंड्रा शब्द फिनिश भाषा से आया है जिसका अर्थ" ऊँची भूमि”," वृक्षविहीन पर्वतीय रास्ता” होता है। टुंड्रा प्रदेशों के त ...

                                               

पारिस्थितिकी

पारिस्थितिकी जीवविज्ञान की एक शाखा है जिसमें जीव समुदायों का उसके वातावरण के साथ पारस्परिक संबंधों का अध्ययन करतें हैं। प्रत्येक जन्तु या वनस्पति एक निशिचत वातावरण में रहता है। पारिस्थितिज्ञ इस तथ्य का पता लगाते हैं कि जीव आपस में और पर्यावरण के ...

                                               

बर्फ़ की टोपी

बर्फ़ की टोपी किसी स्थान पर बर्फ़ की ऐसी स्थाई ढकन को कहते हैं जिसका क्षेत्रफल 50.000 वर्ग किलोमीटर से कम हो। पूरी पृथ्वी पर बर्फ़ की टोपियों से ढाका हुआ इलाक़ा कुल 3 करोड़ वर्ग किमी है। बर्फ़ की टोपी अपने क्षेत्र के सब से ऊँचे भाग पर केन्द्रित ह ...

                                               

बायोम

Temperate grasslands biome climate varies depending on the season. जैवक्षेत्र biome या जैवक्षेत्र धरती या समुद्र के किसी ऐसे बड़े क्षेत्र को बोलते हैं जिसके सभी भागों में मौसम, भूगोल और निवासी जीवों विशेषकर पौधों और प्राणी की समानता हो। किसी बायो ...

                                               

भू-आकृति विज्ञान

भू-आकृति विज्ञान भू-आकृतियों और उनको आकार देने वाली प्रक्रियाओं का वैज्ञानिक अध्ययन है; तथा अधिक व्यापक रूप में, उन प्रक्रियाओं का अध्ययन है जो किसी भी ग्रह के उच्चावच और स्थलरूपों को नियंत्रित करती हैं। भू-आकृति वैज्ञानिक यह समझने की कोशिश करते ...

                                               

मरूद्यान

भौगोलिक संदर्भों में मरूद्यान, शाद्वल, मरूद्वीप अथवा नख़लिस्तान, किसी मरूस्थल में किसी झरने, चश्मा या जल-स्रोत के आसपास स्थित एक ऐसा क्षेत्र होता है जहां किसी वनस्पति के उगने के लिए पर्याप्त अनुकूल परिस्थितियां उपलब्ध होती हैं। यदि यह क्षेत्र पर् ...

                                               

रिक्टर पैमाना

रिक्टर पैमाना भूकंप की तरंगों की तीव्रता मापने का एक गणितीय पैमाना है। किसी भूकम्प के समय भूमि के कम्पन के अधिकतम आयाम और किसी यादृच्छ छोटे आयाम के अनुपात के साधारण लघुगणक को रिक्टर पैमाना कहते हैं। रिक्टर पैमाने का विकास १९३० के दशक में किया गया ...

                                               

वैश्विक दीप्तिमंदकता

वैश्विक धुँधलापन जिसे ग्लोबल डिमिंग या सार्वत्रिक दीप्तिमंदकता भी कहते हैं, पृथ्वी की सतह पर वैश्विक प्रत्यक्ष ऊर्जा मान की मात्रा में क्रमिक रूप से आयी कमी से संबंधित है। यह पृथ्वी की सतह तक पहुँचने वाले सूर्य के प्रकाश की मात्रा में गिरावट को द ...

                                               

सरोविज्ञान

सरोविज्ञान नदियों, झीलों, तालाबों, जलप्रपातों, आर्द्रभूमिओं, पानी के चशमों और भूमिगत अन्य ऐसे जल-समूहों का अध्ययन है जो समुद्र से अलग हैं। यह शब्द सरोवर से लिया गया है लेकिन ध्यान दें कि यह केवल सरोवरों ही का अध्ययन नहीं है। विज्ञान की इस शाखा मे ...

                                               

स्थलाकृतिक उदग्रता

स्थलाकृति विज्ञान में उदग्रता पर्वतों के वर्गीकरण से संबंधित एक अवधारणा है। उदग्रता शब्द उदग्र से बना है जिसका अर्थ बाहर को निकला हुआ होता है। सामान्य रूप से इसे चोटी भी कहा जाता है। इसे अंग्रेजी मे प्रोमिनेंस, ऑटोनोमस हाइट, शोल्डर ड्रोप, प्राइम ...

                                               

उत्तर अमेरिका

उत्तर अमेरिका महाअमेरिका का उत्तरी महाद्वीप है, जो पृथ्वी के उत्तरी गोलार्ध में स्थित है और पूर्णतः पश्चिमी गोलार्ध में आता है। उत्तर में यह आर्कटिक महासागर, पूर्व में उत्तरी अन्ध महासागर, दक्षिणपूर्व में कैरिबियाई सागर और पश्चिम में उत्तरी प्रशा ...

                                               

दक्षिण अमेरिका

दक्षिण अमेरिका उत्तर अमेरिका के दक्षिण पूर्व में स्थित पश्चिमी गोलार्द्ध का एक महाद्वीप है। दक्षिणी अमेरिका उत्तर में १३ ० उत्तरी अक्षांश से दक्षिण में ५६ ० दक्षिणी अक्षांश तक एवं पूर्व में ३५ ० पश्चिमी देशान्तर से पश्चिम में ८१ ० पश्चिमी देशान्त ...

                                               

न्यूजीलैंड का भूगोल

न्यूजीलैँड बहुत ही सुन्दर देश हैं। न्यूजीलैँड आस्ट्रेलिया का पड़ोसी देश है तथा यह रुचिकर तथ्य है आस्ट्रेलिया के अलावा न्यूजीलैँड ही आस्ट्रेलिया महाद्वीप का दूसरा तथा एकमात्र देश है।

                                               

लातिनी अमरीका

लातिनी अमरीका अथवा लातिन अमेरिका अथवा लैटिन अमेरिका एक क्षेत्र है महाअमेरिका में जहाँ मुख्य रूप से रोमांस भाषाएँ – ख़ास तौर से स्पेनिश और पुर्तगाली और थोडा फ़्रांसीसी – बोली जाती हैं। उसका क्षेत्रफल लगभग २१,०६९,५०० कि॰मी॰² है जो पृथ्वी का क़रीब ३ ...

                                               

महासागरीय धारायें

महासागर के जल के सतत एवं निर्देष्ट दिशा वाले प्रवाह को महासागरीय धारा कहते हैं। वस्तुतः महासागरीय धाराएं, महासागरों के अन्दर बहने वाली उष्ण या शीतल नदियाँ हैं। प्रायः ये भ्रांति होती है कि महासागरों में जल स्थिर रहता है, किन्तु वास्तव मे ऐसा नही ...

                                               

विलेयता पंप

महासागरीय जैवभूरसायन के सन्दर्भ में, विलेयता पम्प एक भौतिक-रासायनिक प्रक्रम है जो कार्बन को अपने सतह से हटाकर अन्दर पहुँचाने का कार्य करता है।

                                               

विश्व महासागर दिवस

महासागर के महत्व और उससे संबंधित विषयों खाद्य सुरक्षा, जैव विविधता, पारिस्थितिकि की संतुलन आदि, की ओर राजनीतिक और सामाजिक ध्यान आकर्षित करने के लिए संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा इस दिवस को मनाने की घोषणा 2009 में की गई।

                                               

सिन्धुपंक

महासागर के गहरे सागरीय मैदान की तली पर पाया जाने वाला निक्षेप सिंधुपंक या निपंक कहलाता है। यह मुख्यतः तरल पंक के रूप में होता है। इसमें अधिकांशतः उन जीवों के अवशेष पाये जाते हैं जो जल के उपरी भाग में रहते हैं। मरने के बाद उनके अवशेषों का निक्षेप ...

                                               

ज़ीनो मानचित्र

ज़ीनो मानचित्र, उत्तरी अंध महासागर के उस मानचित्र को कहते हैं जिसका प्रकाशन 1558 में पहली बार वेनिस में निकोलो ज़ीनो द्वारा किया गया था। निकोलो ज़ीनो विख्यात ज़ीनो बन्धुओं का वंशज था। युवा ज़ीनो ने यह मानचित्र, पत्रों की श्रृंखला के साथ प्रकाशित ...

                                               

मानचित्रण का इतिहास

मानचित्र निर्माण की विद्या अति प्राचीन है। मार्शल द्वीपवासी ताड़ के डंठलों एवं कौड़िओं की सहायता से समुद्र संतरण के मार्गों तथा द्वीपों को दिखाने के लिए चार्ट तैयार करते थे। एस्किमो, अमरीका के रेड इंडियन आदि भी नदियों, वनों, मंदिरों तथा बस्तियों, ...

                                               

मानचित्रावली

मानचित्रों के संग्रह को मानचित्रावली या एटलस कहते हैं। मानचित्रावली में विश्व की भौगोलिक और राजनैतिक सूचनाएँ होती हैं किन्तु विश्व के विभिन्न भागों की सामाजिक, धार्मिक और आर्थिक, भाषाई जानकारियों वाले एटलस भी बनाए जाते हैं। अब तो धरती के अलावा अन ...

                                               

समुद्रीय मानचित्र

समुद्रीय मानचित्र वह मानचित्र है, जो विशेषतया नाविकों के उपयोग के लिए तैयार किया जाता है। यह समुद्रतल के स्वरूप एवं उसकी विषमताओं को अभिव्यक्त करता है और नाविकों के लिए अधिकतम उपयोगी सूचना देता है। यह नाविकों को सागर और महासागर में नौचालन एवं एक ...

                                               

विकासशील देश

विकासशील देश शब्द का प्रयोग किसी ऐसे देश के लिए किया जाता है जिसके भौतिक सुखों का स्तर निम्न होता है. चूंकि विकसित देश नामक शब्द की कोई भी एक परिभाषा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त नहीं है, अतः विकास के स्तर इन तथाकथित विकासशील देशों में व ...

                                               

जनसांख्यिकी

जनसांख्यिकी, मानव जनसंख्या का सांख्यिकीय अध्ययन है। यह एक बहुत सामान्य विज्ञान हो सकता है जिसे किसी भी तरह की गतिशील मानव आबादी पर लागू किया जा सकता है, अर्थात् ऐसी आबादी जो समय और स्थान के साथ-साथ परिवर्तित होती है. इसमें जनसंख्या के आकार, संरचन ...

                                               

जनांकिकीय संक्रमण

जनांकिकीय संक्रमण अथवा जनसांख्यिकीय संक्रमण एक जनसंख्या सिद्धांत है जो जनसांख्यिक इतिहास के आंकड़ों और सांख्यिकी पर आधारित है। इस सिद्धांत के प्रतिपादक डब्ल्यू. एम. थोम्पसन और फ्रेंक. डब्ल्यू. नोएस्टीन हैं। इन्होंने यूरोप, आस्ट्रेलिया और अमेरिका ...

                                               

नवजगत

नवजगत पृथ्वी के पश्चिमी गोलार्ध का क्षेत्र है, जिसमें उत्तर व दक्षिणी अमेरिका और उनके पास स्थित कैरिबियाई सागर के द्वीप आते हैं। १५वीं शताब्दी ईसवी में यूरोप के कुछ खोजयात्रियों द्वारा इनकी खोज होने से पहले नये विश्व से बाहर रहने वाले लोग यह समझत ...

                                               

पर्यटन भूगोल

पर्यटन भूगोल या भू-पर्यटन, मानव भूगोल की एक प्रमुख शाखा हैं। इस शाखा में पर्यटन एवं यात्राओं से सम्बन्धित तत्वों का अध्ययन, भौगोलिक पहलुओं को ध्यान में रखकर किया जाता है। नेशनल जियोग्रेफ़िक की एक परिभाषा के अनुसार किसी स्थान और उसके निवासियों की ...

                                               

पूर्वजगत

पूर्वजगत अफ़्रीका, यूरोप और एशिया का भूभाग था। यह इन क्षेत्रों द्वारा उत्तर व दक्षिण अमेरिका के खोजे जाने से पहले इन क्षेत्रों के निवासियों के लिये पूरा ज्ञात विश्व था। पूर्वजगत की अवधारणा का प्रयोग नवजगत से भौगोलिक, जीववैज्ञानिक, राजनैतिक, सांस् ...

                                               

मानव बस्ती

भूगोल, सांख्यिकी और पुरातत्वशास्त्र में, बस्ती, इलाका या आबादी वाला स्थान एक समुदाय है जिसमें लोग रहते हैं। बस्ती की जटिलता के द्वारा श्रेणीकरण के अनुसार सबसे बड़े शहारों के आसपास नगरीय क्षेत्र से लेकर छोटी संख्या के आवासों के समूह शामिल है। बस्त ...

                                               

सामाजिक भूगोल

सामाजिक भूगोल मानव भूगोल की एक शाखा है। यह शाखा सामाजिक सिद्धांत और समाजशास्त्रीय संकल्पना से संबंधित है तथा समाज के विविध तत्वों एवं प्रक्रियाओं का स्थानिक अध्ययन करती है। ब्रिटैनिका एन्साइक्लोपीडिया के विवरण अनुसार, "सामाजिक भूगोल अपना ध्यान सम ...

                                               

संधारणीय विकास

संधारणीय विकास अथवा टिकाऊ विकास, पर्यावरण एवं विकास पर विश्व आयोग की रिपोर्ट के अनुसार धारणी अथवा स्थाई विकास वह विकास है जिसके अंतर्गत भावी पीढ़ियों के लिए आवश्यकताओं की पूर्ति करने की क्षमताओं से समझौता किए बिना वर्तमान पीढ़ी की आवश्यकताओं की प ...

                                               

अनवीकरणीय संसाधन

अनवीकरणीय संसाधन वे संसाधन होते हैं जिनके भण्डार में प्राकृतिक प्रक्रियाओ द्वारा पुनर्स्थापन नहीं होता रहता है। यह संसाधन मानवीय क्रियाओ द्वारा समाप्त हो जाते है तथा पुनः निर्माण होने में करोडो वर्ष की अवधि लेते हैं। इसका उदहारण है कोयला,पेट्रोलि ...

                                               

जल संसाधन

जल संसाधन पानी के वह स्रोत हैं जो मानव के लिए उपयोगी हों या जिनके उपयोग की संभावना हो। पानी के उपयोगों में शामिल हैं कृषि, औद्योगिक, घरेलू, मनोरंजन हेतु और पर्यावरणीय गतिविधियों में। वस्तुतः इन सभी मानवीय उपयोगों में से ज्यादातर में ताजे जल की आव ...

                                               

पर्यावरण प्रबन्धन

जैसा कि इस नाम से लग सकता है, पर्यावरण प्रबंधन का तात्पर्य पर्यावरण के प्रबंधन से नहीं है, बल्कि आधुनिक मानव समाज के पर्यावरण के साथ संपर्क तथा उसपर पड़ने वाले प्रभाव के प्रबंधन से है। प्रबंधकों को प्रभावित करने वाले तीन प्रमुख मुद्दे हैं राजनीति ...

                                               

प्राकृतिक संसाधन

प्राकृतिक संसाधन वो प्राकृतिक पदार्थ हैं जो अपने अपक्षक्रित मूल प्राकृतिक रूप में मूल्यवान माने जाते हैं। एक प्राकृतिक संसाधन का मूल्य इस बात पर निर्भर करता है कि कितना पदार्थ उपलब्ध है और उसकी माँग कितनी है। प्राकृतिक संसाधन दो तरह के होते हैं- ...

                                               

प्रोमेशन

प्रोमेशन, मानव अवशेष कों निपटाने का एक वातावरण सहायक तरीका है, जिसमे अवशेष को फ्रीज करके सुखाया जाता है। यह संकल्पना स्वीडेनी वैज्ञानिक सुज़ैन विइग मेसक ने डी थी। उन्होंने यह शब्द एक इतालवी शब्द प्रोमेसा से लिया था। उन्होंने १९९७ में प्रोमेसा ऑरग ...

                                               

लवासा

साँचा:Puffery लवासा मराठी: लवासा एक योजनाबद्ध शहर है जिसे स्वतंत्रता के बाद से भारत के प्रथम पहाड़ी शहर के रूप में विज्ञापित किया जाता है, जिसे वर्ष 2000 में महाराष्ट्र सरकार द्वारा पारित विवादास्पद हिल स्टेशन नीति के अनुसार विकसित किया जा रहा है ...

                                               

अक्षांश पर शहर

72° 35 E अहमदाबाद, भारत 74° 20 E लाहौर, पाकिस्तान 71° 26 E अस्ताना, कज़ाख़िस्तान 79° 02 E नागपुर, भारत 77° 14 E दिल्ली, भारत 76° 54 E अल्माटी, कज़ाख़िस्तान 73° 00 E फैसलाबाद, पाकिस्तान 78° 28 E हैदराबाद, भारत 72° 50 E सूरत, भारत 73° 22 E ओम्स्क, ...