पिछला

हिंडन का महायुध्द - बारूद. 1857 के स्वतन्त्रता संग्राम में मेरठ और दिल्ली की सीमा पर हिंडन नदी के किनारे 30, 31 मई 1857 को राष्ट्रवादी सेना और अंग्रेजों के ब ..


                                     

हिंडन का महायुध्द

1857 के स्वतन्त्रता संग्राम में मेरठ और दिल्ली की सीमा पर हिंडन नदी के किनारे 30, 31 मई 1857 को राष्ट्रवादी सेना और अंग्रेजों के बीच एक ऐतिहासिक युद्ध हुआ था जिसमें भारतीयों ने मुगल शहजादा मिर्जा अबू बक्र, दादरी के राजा राव उमराव सिंह गुर्जर और मालागढ़ के नबाब वलीदाद खाँन के नेतृत्व में अंग्रेजी सेना के दांत खट्टे कर दिये थे। जैसा कि विदित है कि 10 मई 1857 को मेरठ में देशी सिपाहियों ने विद्रोह कर दिया और रात में ही वो दिल्ली कूच कर गए थे। 11 मई को इन्होंने अन्तिम मुगल बादशाह बहादुर शाह जफर को हिन्दुस्तान का बादशाह घोषित कर दिया और अंग्रेजों को दिल्ली के बाहर खदेड़ दिया। अंग्रेजों ने दिल्ली के बाहर रिज क्षेत्र में शरण ले ली। तत्कालीन परिस्थितियों में दिल्ली की क्रान्तिकारी सरकार के लिए मेरठ क्षेत्र बहुत महत्वपूर्ण था। क्योकिं मेरठ से कोतवाल धनसिंह गुर्जर द्वारा विद्रोह की शुरूआत हुई थी जो पूरे मेरठ क्षेत्र में, सहारनपुर से लेकर बुलन्दशहर तक का हिन्दू-मुस्लिम, किसान-मजदूर सभी आमजन, इस अंग्रेज विरोधी संघर्ष में कूद पड़े थे। ब्रिटिश विरोधी संघर्ष ने यहाँ जन आन्दोलन और जनक्रान्ति का रूप धारण कर लिया था। मेरठ क्षेत्र दिल्ली के क्रान्तिकारियों को जन, धन एवं अनाज की भारी मदद पहुँच रहा था। स्थिति को देखते हुए मुगल बादशाह ने मालागढ़ के नवाब वलीदाद खान को इस क्षेत्र का नायब सूबेदार बना दिया, उसने इस क्षेत्र की क्रान्तिकारी गतिविधियों को गतिविधियों को गति प्रदान करने के लिये दादरी में क्रान्तिकारियों के नेता राजा उमराव सिंह गुर्जर से सम्पर्क साधा, जिसने दिल्ली की क्रान्तिकारी सरकार का पूरा साथ देने का वादा किया। मेरठ में अंग्रेजों के बीच अफवाह थी कि विद्रोही सैनिक, बड़ी भारी संख्या में, मेरठ पर हमला कर सकते हैं। अंग्रेज मेरठ को बचाने के लिए दृढ़ प्रतिज्ञ थे क्योंकि मेरठ पूरे डिवीजन का केन्द्र था। मेरठ को आधार बनाकर ही अंग्रेज इस क्षेत्र में क्रान्ति का दमन कर सकते थे। अंग्रेज इस सम्भावित हमले से रक्षा की तैयारी में जुए गए। मेरठ होकर वापिस गए दो व्यक्तियों ने बहादुर शाह जफर को बताया कि 1000 यूरोपिय सैनिकों ने सूरज कुण्ड पर एक किले का निर्माण कर लिया है। इस प्रकार दोनों और युद्ध की तैयारियां जोरो पर थी। तकरीबन 20 मई 1857 को भारतीयों ने हिंडन नदी का पुल तोड़ दिया जिससे दिल्ली के रिज क्षेत्र में शरण लिए अंग्रेजों का सम्पर्क मेरठ और उत्तरी जिलो से टूट गया। इस बीच युद्ध का अवसर आ गया जब दिल्ली को पुनः जीतने के लिए अंगे्रजों की एक विशाल सेना प्रधान सेनापति बर्नाड़ के नेतृत्व में अम्बाला छावनी से चल पड़ी। सेनापति बर्नाड ने दिल्ली पर धावा बोलने से पहले मेरठ की अंग्रेज सेना को साथ ले लेेने का निर्णय किया। अतः 30 मई 1857 को जनरल आर्कलेड विल्सन की अध्यक्षता में मेरठ की अंगे्रज सेना बर्नाड का साथ देने के लिए गाजियाबाद के निकट हिंडन नदी के तट पर पहुँच गई। किन्तु इन दोनों सेनाओं को मिलने से रोकने के लिए क्रान्तिकारी सैनिकों और आम जनता ने भी हिन्डन नदी के दूसरी तरफ मोर्चा लगा रखा था। जनरल विल्सन की सेना में 60वीं शाही राइफल्स की 4 कम्पनियां, कार्बाइनरों की 2 स्क्वाड्रन, हल्की फील्ड बैट्री, ट्रुप हार्स आर्टिलरी, 1 कम्पनी हिन्दुस्तानी सैपर्स एवं माईनर्स, 100 तोपची एवं हथगोला विंग के सिपाही थे। अंग्रेजी सेना अपनी सैनिक व्यवस्था बनाने का प्रयास कर रही थी कि क्रान्तिकारी सेना ने उन पर तोपों से आक्रमण कर दिया। भारतीयों की राष्ट्रवादी सेना की कमान मुगल शहजादे मिर्जा अबू बक्र दादरी के राजा उमरावसिंह एवं नवाब वलीदाद खान के हाथ में थी। भारतीयों की सेना में बहुत से घुड़सवार, पैदल और घुड़सवार तोपची थे। भारतीयों ने तोपे पुल के सामने एक ऊँचे टीले पर लगा रखी थी। भारतीयों की गोलाबारी ने अंग्रेजी सेना के अगले भाग को क्षतिग्रस्त कर दिया। अंग्रेजों ने रणनीति बदलते हुए भारतीय सेना के बायें भाग पर जोरदार हमला बोल दिया। इस हमले के लिए अंग्रेजों ने 18 पौंड के तोपखाने, फील्ड बैट्री और घुड़सवार तोपखाने का प्रयोग किया। इससे क्रान्तिकारी सेना को पीछे हटना पड़ा और उसकी पाँच तोपे वही छूट गई। जैसे ही अंग्रेजी सेना इन तोपों को कब्जे में लेने के लिए वहाँ पहुँची, वही छुपे एक भारतीय सिपाही ने बारूद में आग लगा दी, जिससे एक भयंकर विस्फोट में अंग्रेज सेनापति कै. एण्ड्रूज और 10 अंग्रेज सैनिक मारे गए। इस प्रकार इस वीर भारतीय ने अपने प्राणों की आहुति देकर अंग्रेजों से भी अपने साहस और देशभक्ति का लोहा मनवा लिया। एक अंग्रेज अधिकारी ने लिखा था कि ”ऐसे लोगों से ही युद्ध का इतिहास चमत्कृत होता है। अगले दिन भारतीयों ने दोपहर में अंग्रेजी सेना पर हमला बोल दिया यह बेहद गर्म दिन था और अंग्रेज गर्मी से बेहाल हो रहे थे। भारतीयों ने हिंडन के निकट एक टीले से तोपों के गोलों की वर्षा कर दी। अंग्रेजों ने जवाबी गोलाबारी की। 2 घंटे चली इस गोलाबारी में लै0 नैपियर और 60वीं रायफल्स के 11 जवान मारे गए तथा बहुत से अंग्रेज घायल हो गए। अंग्रेज भारतीयों से लड़ते-लडते पस्त हो गए, हालांकि अंग्रेज सेनापति जनरल विल्सन ने इसके लिए भयंकर गर्मी को दोषी माना। भारतीय भी एक अंग्रेज परस्त गांव को आग लगाकर सुरक्षित लौट गए। 1 जून 1851 को अंग्रेजों की मदद को गोरखा पलटन हिंडन पहुँच गई तिस पर भी अंग्रेजी सेना आगे बढ़ने का साहस नहीं कर सकी और बागपत की तरफ मुड़ गई। इस प्रकार भारतीयों ने 30, 31 मई 1857 को लड़े गए हिंडन के युद्ध में साहस और देशभक्ति की एक ऐसी कहानी लिख दी, जिसमें दो अंग्रेजी सेनाओं के ना मिलने देने के लक्ष्य को पूरा करते हुए, उन्होंने अंग्रेजी बहादुरी के दर्प को चूर-चूकर दिया।

                                     
  • गय और अन क क व क ष पर फ स क फन द ड लकर लटक द य गय क प रथम भ रत य स वत त रत स ग र म ह डन क मह य ध द धन स ह ग र जर र व उमर व स ह भ ट
  • नह ह सक ह डन नद क तट पर 30 व 31 मई क क र न त क र स न और अ ग र ज स न क ब च एक ऐत ह स क भ षण य द ध ह आ ज स ह डन क मह य ध द कह ज त ह

यूजर्स ने सर्च भी किया:

महयधद, हडन, हडनकमहयधद, हिंडन का महायुध्द, बारूद. हिंडन का महायुध्द,

...

08 apprel page 01.qxd Page 1 बिजनौर टाइम्स.

रोजा के घायल सहचालक ने कहा रेल फ्रैक्चर हो सकता है दुर्घटना की वजहकहा, तीन घंटे बाद तक नहीं पहुंची थी एआरटी, रेलवे अफसर भी देर से पहुंचे राजेश वाजपेयीरोजा। शुक्रवार तड़के रोजा ​गोंडा ब्रांच. हवाई पट्टी के हवा सिंह दयानंद पाण्डेय Gadya Kosh. बागपत जिले में हिंडन और कृष्णा नदी के किनारे बसी बस्तियों में हैंडपंप और भूजल के अस्सी नमूने लिये गए जिनमें से सतहत्तर नमूनों में प्रदूषण की मात्रा खतरनाक पागई है। मध्यप्रदेश के छतरपुर में लोग शाम होते ही घर छोड़ देते हैं. आलेख 21 Pragamiark प्रगामी अर्क. 19 हॉँ, 19 हैंडसम 19 हैरिसन 19 हैण्ड 19 है,क्योंकि 19 हेमलता 19 हीराबाई 19 हिंडाल्को 19 हिंडन 19 हिब्रू 19 हिन्दीभाषी 19 हितग्राहियों 19 हिचकोले 19 हाँ! 19 हारती 19 हाय हाय 19 हाजत 19 हल्का सा 19 हरियाणा 19 हरियाणा 19 हरजीत 19 हदों 19 हथौड़ा.


126570 नहीं 52823 करने 50232 किया 44969 अपने 43512 हैं.

इसके अलावा हिंडन. उन्होने बताया की पकडे गये इस दौरान छठ पर विदेश राज्य मंत्री दिया गया है। इससे मंगलवार शाम लगागई है​। ओर से सुरक्षा बल भी तैनात किये गये हैं। पूर्वांचल व बिहार के लोगों के सिंह ने बताया कि मेरठ तिराहे से नदी. वीर शिरोमणि महाराजा सूरजमल के आज 25 युवा. ट्रांस हिंडन नगर निगम की लापरवाही से साहिबाबाद के दो लाख लोगों को परेशानी हुई है. Lockheed C 130J Super Hercules Archives Rakshak News. All posts tagged Lockheed C 130J Super Hercules. हिंडन एयरबेस. 6.0K. Air Force. हिंडन से विमान सेवा अक्टूबर से, जानिए 9 खास बातें. खबरों की मानें तो हिंडन एयरबेस से नागरिक विमानन सेवा अक्टूबर से शुरू हो जाएगी। लखनऊ में सोमवार को यूपी सरकार के More Posts. लोन 384 लेने 2226 के 2143862 लिए 324537 कागजात 98 की. देश की राजधानी दिल्ली से सटे गाजियाबाद स्थित हिंडन एयरफोर्स स्टेशन पर आयोजित एयर शो में पहली बार लड़ाकू हेलीकॉप्टर अपाचे और हैवी लिफ्ट हेलीकॉप्टर चिनूक अपनी ताकत दिखा रहे हैं. इससे पहले सेना प्रमुख बिपिन रावत, भारतीय​.


अनटाइटल्ड Examisthan Your Digital Library.

हिस्ट्रीशीट 8 हिस्ट्रीशीटर 5 हिस्पेनिया 7 हिस्पैनिक 2715 हिस्सा 1022 हिस्से 35 हिस्सेदार 495 हिस्सेदारी 8 हिस्सो 446 हिस्सों 14 हिं 4 हिंग 4 हिंगना 6 हिंगलाज 9 हिंगलिश 6 हिंगोरानी 19 हिंग्लिश 4 हिंट 19 हिंडन 6 हिंडालको 28 हिंडाल्को. Blogs 285203 Lookchup. हिंडन सेवा अभियान संयुक्त प्रयासों से जीवंत होती हिंडन नदी निर्मल हिंडन सम्मेलन का आयोजन हिंडन एवं उसकी सहायक नदियों को निर्मल एवं अविरल बनाने के उद्देश्य से आयोजित किया जाने वाला कार्यक्रम. Kanpur Dehat TV. Ram AvtarKatiyar. AshokSingh. Archives Duta. Возможно, вы имели в виду:. Kavinagar will be burnt in Ramlila, the largest Ravana in the city. ट्रांस हिंडन एक साल की बीमार बच्ची के लिए दी लूट की फर्जी सूचना कर्मचारी को मारी गोली लीड का वर्जन सभी केंद्रों के ध्यानार्थ - इंस्पेक्टर लक्ष्मी चौहान से नौ लाख 85 हजार रुपये बरामद 3031098. कविनगर रामलीला में जलेगा.


ज़ांज़ीबार ज़ांज़ीबार फ़ारसी زنگبار प्रत्यय बार.

यह उत्तरप्रदेश में मेरठ के पाद हिंडन प्राचीन हर नदी के किनारे है । यहॉं पॉंच नदियों का संगम है । इसलिये इसे ​पंचतीर्थी कहते है । यहॉं परशुरामेश्वर नामक शिवमंदिर है । मातृतीर्थ महाराष्ट्र में स्थित आधुनिक माहुर ग्राम - ​रेणुका दहनस्थन ।. पुलिसकर्मी ने की चुनाव ड्यूटी के दौरान की. अब हिंडन एयर बेस पर वापस आए तो हेलीकाप्टर के पायलट ने हाथ जोड़ लिया कि, अंधेरा होने वाला है। ऐसे में लखनऊ के लिए उड़ना रिस्क है। सुबह ही चल पाऊंगा। मुख्यमंत्री के डे अफसर जो उन के सचिव भी थे, उन तक बात पहुंचाई गई। उन्हों ने डी.एम. हिंडन नदी के घाटों को सजाया गया. पारा. हनुमानगढ़. बड़ागुढा. सरदूलगद्ध. रतिया. केलरम. प्रा रा. कलायत. D. हिंडन. D दयोबन. करनाल. चोसाना व. दुल हंसपुर. कुल्ला. बालून. अधिरान. कुणालन. काठा. प्रारा 11. फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला. धुंदियावाली. खरियां. न मटोर. समान. जलालाबाद. परशुराम जामदग्न्य Hindi Dictionary Definition. प्रथम विश्वयुद्ध के समय के कुछ प्रमुख घटना. अनटाइटल्ड Survey of India. 9 सर्वगुणसम्पन्न 2 गायिका 37 भदभदा 1 प्लाट 31 गैंग 74 नोंक 7 कम्यूनिकेशन 54 वीरबाबा 1 खडात 1 बाबूसिंह 3 हिंडन 51 तहव्वुर हीनभावना 10 फेंकेगी 1 अपनाता 10 चौपडा 5 पडे 25 ऑडिर्नेंस 1 महायुध्द 8 असंतोषों 2 नाकामियों 13 काही 3 उपजाही 1 जांगर. History UTTRAKHAND JAAT MAHA SHABHA. उत्तराखंड पंचायत चुनाव का दूसरा चरण शुरू, 23052 प्रत्याशी मैदान में आज से हिंडन और पिथौरागढ़ के बीच हवाई यात्रा हुई शुरू,सी ऍम के हाथों से होगा शुभारम्भ. राफेल पर शरद पवार ने कसा तंज, पूछा यह कोई नया ट्रक है क्या इमरान खान के.


मोदी इतिहास में केवल दो योजनाओं के लिए जाने.

New aircraft will show amazing feats at hindon air base on air force day. वायुसेना दिवस पर हिंडन एयर बेस पर पुराने और maharashtra election congress releases first list of 51 candidates. महाराष्ट्र चुनावः कांग्रेस ने जारी की 51 aishwarya accuses rabri devi and misa bharti. ट्रांस हिंडन की सात कॉलोनियों को आज से मिलेगा. 8 अक्टूबर, 1932 को भारतीय वायु सेना अधिनियम के तहत गठित, IAF ​भारतीय वायु सेना आज अपनी 87 वीं वर्षगांठ मना रहा है। IAF को 1945 से 1950 तक रॉयल इंडियन एयर फोर्स.

राजनीतिः पानी का यक्ष प्रश्न Jansatta.

हड़प्पाकालीन स्थल आलमगीरपुर कहाँ स्थित है - मेरठ उत्तर प्रदेश में हिंडन नदी के किनारे 8. अष्टांग मार्ग की संकल्पना किसका अंग है - धम्मचक्र प्रवर्तन सुत्त की विषयवस्तु का 9. प्राचीन भारत की किस पुस्तक में शुंग राजवंश के संस्थापक के पुत्र. गाज़ियाबाद न्यूज़: Ghaziabad News in Hindi, Ghaziabad. अपाचे हेलीकॉप्टरों की पहली खेप इसी साल 27 जुलाई को गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस पर पहुुंची थी, जिन्हें अब पठानकोट एयरबेस पर तैनात कर दिया गया है। पठानकोट एयरबेस पर इन हेलिकॉप्टरों को पानी की बौछार करके सैल्यूट किया गया। इस एयरबेस पर अपाचे.


Indian Airforce Day Twitter Reaction Why Airforce Day Is.

मंगलवार को वायुसेना दिवस मना रहा है। 8 अक्‍टूबर 2019 को 87वां वायुसेना दिवस है। राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली से सटे हिंडन एयरबेस से युद्धक हेलिकॉप्टर अपाचे, चिनूक हेलिकॉप्टर, स्वदेशी युद्धक विमान तेजस आसमान का सीना चीर रहे हैं।. भारतीय इतिहास gk update. 08 October 2019 हिंडन व कृष्णा नदी में पानी छोड़े जाने की मांग की. 08 October 2019 महाकाल के शहर में दशहरे पर क्यों होती है रावण की महाआरती? 08 October 2019 अजब गजब: एक रोटी भरती है पूरे परिवार का पेट, मांडा बनी बुरहानपुर की शान.


जरवल रोड हादसे में भी लापरवाही! Amar Ujala Hindi.

Democratic Reforms in India A debate Kanpur Chapter 30 July 2017 हिंडन सेवा अभियान संयुक्त प्रयासों से जीवंत होती हिंडन नदी निर्मल हिंडन सम्मेलन का आयोजन हिंडन एवं उसकी सहायक नदियों को निर्मल एवं अविरल बनाने के उद्देश्य से आयोजित किया जाने. किम दोबारा विश्वबैंक के अध्यक्ष पद के लिए अकेले. मुंबई स्थित चार संपत्तियां कर्क करने का ट्रांस हिंडन प्रमुख संवाददाता. खाना बनाने का काम करते हैं। संजूनाथ. जाएगी। राहुल गांधी ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा मा गगा के सच्चे पुत्र प्रफेसर । आदेश दिया है। नाइक पर आतंकवाद. असम के. पेज 1 दैनिक भास्कर. आईएएफ के श्रीनगर, अवंतिपोरा, जम्‍मू, पठानकोट और हिंडन एयरबेस हाई अलर्ट पर कोलकाता में छा गया बरेली का छोकरा – विनोद यादव मुज़फ़्फ़रपुर में सीएम का विरोध, काफिले को दिखाया गया काला झंडा RBI ने छह महीने के लिये पंजाब एंड. 341 अ 6 अइय्या 14 अइसन 6 अइसा 13 अइसे 6 अईसन 6 अईसा 35. छठ पर्व का पहला दिन कार्तिक शुक्ल चतुर्थी नहाय खाय के रूप में मंगलवार से शुरू हो जाएगा.


कानपुर देहात न्यूज़: Kanpur Dehat News in Hindi, Kanpur.

25 दिसम्बर, 1763 को नवाब नजीबुद्दौला के साथ हुए युद्ध में गाजियाबाद और दिल्ली के मध्य हिंडन नदी के तट पर महाराजा सूरजमल ने वीरगति पायी…!! बागरु मोती डूंगरी की लड़ाई में मुग़ल मराठा राजपूत होल्कर की 7 सेनाओं को इकट्ठा हरा प्रिंस सूरज. 8 अक्टूबर: सैल्यूट कीजिये भारतीय वायुसेना के. अगर इस अवधि में मांगे पूरी नहीं की जाती तो 9 अपैल से प्रदेश में रोडवेज जन्मोत्सव पर होने वाली गांधी पार्क के कार्यक्रम को हर सम्भव तरीके से हिंडन अभियान के अन्तर्गत रविवार 8 अप्रैल को पूर्वान्ह 10 बजे. बसों का चक्का जाम कर.

...