पिछला

सूसावत - मछली. नहाण का गोमलाडू राजवंश मांच का सीहरा राजवंश बूंदी का ऊसारा राजवंश नाढ़ला का राजवंश झान्कड़ी अंगारी थानागाजी का सौगन मीना राजवंश नायला का राव ब ..




                                     

सूसावत

  • नहाण का गोमलाडू राजवंश
  • मांच का सीहरा राजवंश
  • बूंदी का ऊसारा राजवंश
  • नाढ़ला का राजवंश
  • झान्कड़ी अंगारी थानागाजी का सौगन मीना राजवंश
  • नायला का राव बखो राजवंश
  • आमेर का सूसावत राजवंश
  • रणथम्भौर का टाटू राजवंश
  • माथासुला ओर नरेठका ब्याड्वाल
  • मेवाड़ का मीणा राजवंश
  • गैटोर तथा झोटवाड़ा के नाढला राजवंश
  • खोहगंग का चांदा राजवंश

प्रचीनकाल में मीणा जाति का राज्य राजस्थान में चारों ओर फ़ैला हुआ था|

                                     

1. मीणा राजाओं द्वारा निर्मित प्रमुख किले

  • हथरोई का किला
  • आमागढ़ का किला
  • जमवारामगढ़ का किला
  • खोह का किला

Meena मुख्यतया भारत के राजस्थान राज्य में निवास करने वाली एक जाति" है। मीणा जाति भारतवर्ष की प्राचीनतम जातियों में से मानी जाती है । वेद पुराणों के अनुसार मीणा जाति मत्स्यमीन भगवान की वंशज है। पुराणों के अनुसार चैत्र शुक्ला तृतीया को कृतमाला नदी के जल से मत्स्य भगवान प्रकट हुए थे। इस दिन को मीणा समाज जहां एक ओर मत्स्य जयन्ती के रूप में मनाया जाता है वहीं दूसरी ओर इसी दिन संम्पूर्ण राजस्थान में गणगौर कात्योहार बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है। मीणा जाति का गणचिह्न मीन मछली था। मछली को संस्कृत में मत्स्य कहा जाता है। प्राचीनकाल में मीणा जाति के राजाओं के हाथ में वज्र तथा ध्वजाओं में मत्स्य का चिह्न अंकित होता था, इसी कारण से प्राचीनकाल में मीणा जाति को मत्स्य माना गया। प्राचीन ग्रंथों में मत्स्य जनपद का स्पष्ट उल्लेख है जिसकी राजधानी विराट नगर थी,जो अब जयपुर वैराठ है। इस मस्त्य जनपद में अलवर,भरतपुर एवं जयपुर के आस-पास का क्षेत्र शामिल था। आज भी मीणा लोग इसी क्षेत्र में अधिक संख्या में रहते हैं। मीणा जाति के भाटोंजागा के अनुसार मीणा जाति में 12 पाल,32 तड़ एवं 5248 गौत्र हैं।मध्य प्रदेश के भी लगभग २३ जिलो मे मीणा समाज निबास करता है । मूलतः मीना एक सत्तारूढ़ राजवंश नहाण का गोमलाडू राजवंश रणथम्भौर का टाटू राजवंश नाढ़ला का राजवंश बूंदी का ऊसारा राजवंश मेवाड़ का मीणा राजवंश माथासुला ओर नरेठका ब्याड्वाल झान्कड़ी अंगारी थानागाजी का सौगन मीना राजवंश प्रचीनकाल में मीणा जाति का राज्य राजस्थान में चारों ओर फ़ैला हुआ था| मीणा राजाओं द्वारा निर्मित प्रमुख किले

आमागढ़ का किला हथरोई का किला खोह का किला जमवारामगढ़ का किला.