पिछला

वीभत्स फ़िल्म - फ़िल्म. वीभत्स फ़िल्म एक फ़िल्मी विधा है जो दर्शकों की मौलिक आशंका के साथ खेलते हुए दर्शकों के लिए नकारात्मक भावनात्मक प्रतिक्रिया को प्रकाश ..




                                               

द एविल डेड

द एविल डेड 1981 यह 1981 की एक अमेरिकन कॉमेडी हॉरर फिल्म है जिसका लेखन और निर्देशन सेम रैमी के द्वारा किया गया है और इसमें ब्रूस काम्पबेल, एलेन संद्वीस एवं बेट्सी बेकर ने काम किया है। फिल्म पांच कॉलेज छात्रों की एक जंगली इलाके में एक विलग कमरे में छुट्टियाँ मनाने की कहानी है। उनकी छुट्टियाँ भयानक हो जाती हैं जब उन्हें एक श्रव्य टेप मिलता है जो कि बुरी आत्माओं को विमुक्त करता है। फिल्म अपने चित्रिक आतंक, हिंसा और खून के कारण बहुत ही विवादास्पद थी, शुरुआत में लगभग सभी अमेरिकन फिल्म वितरकों ने इस फिल्म को ठुकरा दिया था जब तक कि एक यूरोपीय कंपनी ने इसे केन्स फिल्म महोत्सव बाज़ार में नहीं खरीद ल ...

                                               

गूसबम्प्स (फ़िल्म)

गूसबम्प्स एक २०१५ आगामी ३डी रहते कार्रवाई/कंप्यूटर एनिमेटेड अलौकिक हॉरर फिल्म है। यह एक ही नाम के बच्चों की किताबों पर आधारित है आर.एल. स्टिने से और सितारों जैक ब्लैक स्टिने के रूप में। फिल्म उत्तरी अमेरिका में कोलंबिया पिक्चर्स द्वारा १६ अक्टूबर, २०१५ पर रिलीज होने वाली है। भारत को सिनेमाघरों में रिलीज फिल्म मिल जाएगा २३ अक्टूबर, २०१५। सात दिनों उत्तरी अमेरिका के रिलीज होने के बाद।

                                               

एलियन (फ़्रैंचाईज़ी)

एलियन फ़िल्म शृंखला एक काल्पनिक विज्ञान पर आधारित भुतहा फ़िल्म फ़्रैंचाईज़ी है जो एलेन रिप्ली और उसकी परग्रही प्रजाति के साथ जंग पर केंद्रित है जिन्हें "द एलियन" कहा जाता है। 20एथ सेंचुरी फॉक्स द्वारा निर्मित यह शृंखला १९७१ में फ़िल्म एलियन से शुरू हुई जिसके आगे चलकर तिन भाग, कई पुस्तकें, कॉमिक्स और वीडयो गेम बनाए जा चुके है।

                                               

एलियन (फ़िल्म)

एलियन की साइंस फिक्शन हॉरर फिल्म है, जिसका निर्देशन रिडले स्कॉट ने किया और डैन ओबैनन ने लिखी है। ओबैनन और रोनाल्ड शुसेट की एक कहानी के आधार पर, यह फिल्म बनाई गयी है।

वीभत्स फ़िल्म
                                     

वीभत्स फ़िल्म

वीभत्स फ़िल्म एक फ़िल्मी विधा है जो दर्शकों की मौलिक आशंका के साथ खेलते हुए दर्शकों के लिए नकारात्मक भावनात्मक प्रतिक्रिया को प्रकाश में लाकर डर का महौल तैयार किया जाता है। वीभत्स फ़िल्मों में सामान्यतः वो दृश्य प्रदर्शित किए जाते जाते हैं जिससे फ़िल्म शुरूआत से ही डरावनी दीखने लगे, जिसमें भयानक और पराप्राकृतिक दृश्य लगातार दीखये जाते हैं। अतः यह स्वैरकल्पना, पराप्राकृतिक, रहस्यमय विधाओं का अतिछादन होता है।