पिछला

ऐंट-मैन, फ़िल्म - सुपरहीरो फ़िल्म. वर्ष 1989 में एक वैज्ञानिक हांक प्यम अपने पद से इस्तीफा दे देता है। जिसके बाद वह चींटी की तरह बनने वाली अपनी तकनीक को खोजन ..




ऐंट-मैन (फ़िल्म)
                                     

ऐंट-मैन (फ़िल्म)

वर्ष 1989 में एक वैज्ञानिक हांक प्यम अपने पद से इस्तीफा दे देता है। जिसके बाद वह चींटी की तरह बनने वाली अपनी तकनीक को खोजने में लग जाता है। वह इस बात को जानता था, कि यह तकनीक बहुत ही खतरनाक है। इस कारण वह जब तक जीवित था। तब तक उसे छुपा कर रखता था। प्यम कि बेटी को डैरेन क्रॉस अपनी कंपनी से जबर्दस्ती निकाल देता है। क्रॉस अपना जेकेट बनाने के करीब आ जाता है।

स्कॉट लाँग जेल से रिहा हो जाता है। उसके पास नौकरी नहीं होने के कारण उसकी बेटी कि देख रेख की ज़िम्मेदारी उसे नहीं मिल पाती है। उसके आपराधिक इतिहास के कारण उसे कोई नौकरी नहीं देता है। वह चौरों के समूह के साथ मिल कर एक घर में जाकर उसके तिजोरी को खोलता है। उसमें उसे केवल एक पुराना जेकेट मिलता है। वह उसे पहन लेता है। उसी दौरान वह बहुत छोटा हो जाता है। वह घबरा कर उस जेकेट को वापस रख देता है लेकिन पुलिस उसे पकड़ लेती है। प्यम उस घर का मालिक उसे उस जेकेट को जेल में देकर उसे वहाँ से बाहर निकालता है।

प्यम के घर में वह उससे बात करता है। प्यम चाहता है कि लाँग नया एंट-मेन बने। जिससे वह पीला जेकेट को चुरा सके। वेन डाइन प्यम कि लाँग को लड़ने और चींटी को नियंत्रण करने में सहायता करता है। वह दोनों क्रॉस के एक समारोह में जाते हैं। लाँग और उसके साथी उड़ते चींटी के साथ वहाँ आते हैं। लेकिन जब वह पीला जेकेट कि चोरी करने कि कोशिश करते हैं तो वह क्रॉस के द्वारा पकड़े जाते हैं। अब क्रॉस अपनी पीली जेकेट के साथ ही उसकी चींटी वाले जेकेट को भी बेचने पर विचार करता है।

क्रॉस लाँग पर हमला करता है। लाँग छोटा होकर उसके जेकेट के अन्दर चले जाता है। लाँग उसको छोटा कर देता है। क्रॉस अनियंत्रित छोटा हो जाता है। जिससे उसकी मौत हो जाती है। लाँग अदृश्य हो जाता है। लाँग वापस सूक्ष्म दुनिया में आ जाता है और ठीक हो जाता है। बाद में प्यम अपनी पत्नी को जीवित देख उसे आश्चर्य होता है।

                                     

1. पात्र हिंदी डबिंग

हिन्दी डबिंग कर्मचारी

  • डब संस्करण जारी करने का वर्ष: 24 जुलाई, 2015 सिनेमा
  • उत्पादन: आराधना साउंड सर्विस
  • अनुवाद: निरुपमा कार्तिक
  • निर्देशक: मोना घोष शेट्टी / कल्पेश पारेख
  • समायोजन
  • अन्य भाषाओं में डबिंग: तमिल/तेलुगू
  • मीडिया/माध्यम: सिनेमा